खबरें आपकी

भोजपुर के पीरो की सलोनी प्रिया बनी पटना विश्वविद्यालय में गोल्ड मेडलिस्ट

Scroll down to content

जज्बा मन में हो तो सफलता मिलनी तय है-सलोनी प्रिया

पटना विश्वविद्यालय की स्नातक (हिंदी आनर्स) परीक्षा में सर्वोच्च स्थान प्राप्त कर गोल्ड मेडलिस्ट बनने का गौरव हासिल किया

सलोनी को राज्यपाल से मिला प्रसस्ति

आरा/पीरो(बिनोद सुमन)। पीरो नगर के वार्ड नंबर 10 निवासी दवा व्यवसायी नंद गोपाल प्रसाद की बेटी सलोनी प्रिया ने पटना विश्वविद्यालय की स्नातक (हिंदी आनर्स) परीक्षा में सर्वोच्च स्थान प्राप्त कर गोल्ड मेडलिस्ट बनने का गौरव हासिल किया है । सलोनी प्रिया की इस उपलब्धि पर उसके परिवार के साथ साथ पूरे अनुमंडल के लोग गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं ।

पीरो जैसे छोटे से कस्बे में पली बढी सलोनी शुरू से ही मेधावी रही है । सलोनी की प्रारंभिक शिक्षा पीरो में रहकर ही पूरी हुई है । 2013 में मैट्रिक की परीक्षा व 2015 में इंटरमीडिएट परीक्षा अच्छे अंकों से उतीर्ण होने के बाद सलोनी ने 2015 में पटना विश्वविद्यालय अंतर्गत पटना वीमेंस कालेज में स्नातक( हिन्दी आनर्स ) में दाखिल लिया । जहां सीमित संसाधनों के बीच सलोनी ने अपनी मेहनत और प्रतिभा के बलबूते पूरे विश्व विद्यालय सर्वोच्च अंक प्राप्त कर यह गौरव हासिल किया है ।

  विशेश्वर ओझा हत्याकांड में सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला, अंतरिम आदेश पर लगाया मुहर

सलोनी प्रिया बताती हैं कि साधारण सी दवा दुकान से सात-आठ सदस्यों वाले परिवार का भरण पोषण करते हुए पिता जी ने कभी पढाई के लिए पैसों की कमी नहीं महसूस होने दी । इस सफलता में मां लक्ष्मी देवी और बडे भाई विवेक कृष्णन व कुणाल कृष्णन के सहयोग व मार्गदर्शन का भी काफी बडा योगदान रहा है ।

  आरा में सरेराह फायरिंग, बाल-बाल बचे लोग

सलोनी की गौरवपूर्ण उपलब्धि से समाज में बेटी बचाओ – बेटी पढाओ अभियान को बल मिला है । सलोनी प्रिया कहती हैं कि यदि कुछ करने का जज्बा मन में हो तो सफलता मिलनी तय है । दृढ ईच्छाशक्ति व मेहनत से आदमी कठिन से भी कठिन लक्ष्य हासिल कर सकता है । सलोनी ने अपनी मेहनत से इस बात को हकीकत में बदल कर दिखा दिया है।


खबरें आपकी Copy protect दिलीप ओझा,डॉ कृष्ण, रवि
LATEST NEWS
Copied!