खबरें आपकी

भूख हड़ताल पर बैठे छात्रों के समर्थन में वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय के कुलपति का पुतला दहन

Scroll down to content

छात्र राजद तथा छात्र आइसा के छात्र 4 दिन से भूख हड़ताल पर बैठे हैं

कभी ऐसा नहीं सुना था कि कोर्स के बीच शुल्क वृद्धि हो जाए:—अभिषेख द्विवेदी

आरा:-वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय में महीनों से चली आ रही कर्मचारियों के हड़ताल तथा 4 दिन से भूख हड़ताल पर छात्र राजद तथा आइसा के छात्रों के समर्थन में आज छात्र संगठन एनएसयूआई के भोजपुर जिला महासचिव सुमित कुमार तथा जिला सचिव नितेश सिंह के नेतृत्व में आरा शहर के स्थानीय जज कोठी मोड़ पर वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय के कुलपति का पुतला दहन कर आक्रोशित छात्रों ने नारेबाजी की।

पुतला दहन के पूर्व छात्र नेताओं ने एक सभा का भी आयोजन किया। सभा को संबोधित करते हुए भोजपुर जिला आईटी सेल के अध्यक्ष संजीव कुमार ने कहा कि कर्मचारियों का हड़ताल को एक महीना से ज्यादा हो गया लेकिन विश्वविद्यालय प्रशाशन ने कर्मचारियों की हड़ताल तुड़वाने के लिए अब तक ज्यादा सार्थक प्रयास नही किया जिससे महाविद्यालयों में महीनों से पठन-पाठन का कार्य ठप है।

  विद्युत करंट से राजमिस्त्री झुलसा

सभा को संबोधित करते हुए जिला सचिव नितेश सिंह ने कहा कि B.Ed में एक लाख से बढ़ाकर डेढ़ लाख शुल्क की बढ़ोतरी हो गई जिसे कम करने के लिए छात्र राजद तथा छात्र आइसा के छात्र 4 दिन से भूख हड़ताल पर बैठे हैं लेकिन विश्वविद्यालय प्रशासन अब तक उनकी सुध नहीं ले रहा। अगर किसी छात्र के साथ कोई अनहोनी घट गई तो पूरी तरह से इसके लिए जिम्मेदार विश्वविद्यालय के प्रभारी कुलपति होंगे।

सभा को संबोधित करते हुए युवा कांग्रेस के प्रदेश महासचिव अभिषेक द्विवेदी ने कहा कि छात्र राजद तथा आइसा के छात्रों की माँग पूरी तरीके से जायज तथा छात्र हित में है। कोर्ट के निर्णय का NSUI स्वागत करती है लेकिन कभी ऐसा नहीं सुना था कि कोर्स के बीच शुल्क वृद्धि हो जाए। बिहार सरकार को इस फैसले के खिलाफ माननीय सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाना चाहिए था लेकिन नीतीश जी की सरकार ने ऐसा नहीं किया। इससे साफ पता चलता है कि नीतीश सरकार छात्र विरोधी सरकार है। उन्हें छात्रों से कोई मतलब नहीं है जिससे छात्र धरना, प्रदर्शन और भूख हड़ताल पर बैठने को मजबूर हैं।

  भोजपुर पुलिस से मुठभेड़ में 17 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी, दो को जेल

विश्वविद्यालय के प्रभारी कुलपति कोई बीच का रास्ता निकालकर छात्रों की सभी मांगों को पूरा कर भूख-हड़ताल नहीं तोड़वाते तो आने वाले समय में NSUI विश्वविद्यालय को अस्त-व्यस्त कर देगी, जिसकी जवाबदेही कुलपति की होगी।

पुतला दहन तथा प्रदर्शन में महाराजा कॉलेज छात्र संघ के प्रतिनिधि अश्विन कुमार, कृष्णा हरि, मुमताज अली, आर्यन कुमार, जावेद कुमार, सरोज कुमार, कुबेर कश्यप, मुकुल सिंह, कामेश्वर कुमार, विकाश मिश्रा, मो० यासीन, सुमित कुमार, उज्ज्वल कुमार,संदीप कुमार के साथ दर्जन भर छात्र तथा युवा उपस्थित थे।






खबरें आपकी Copy protect दिलीप ओझा,डॉ कृष्ण, रवि
LATEST NEWS
सावधान! चुनाव के दौरान सोशल मीडिया की निगेहबानी करेगा आयोग बस के धक्के से ससुराल जा रही बाइक सवार महिला की मौत ट्रक ने स्कूटी सवार दो युवको को रौंदा, एक की मौत सोने की चेन के लिए विवाहिता की गला घोंट हत्या, देवर गिरफ्तार हथकड़ी के साथ फरार शराब तस्कर ने किया सरेंडर मतदान करने हेतु मतदाताओं के लिए फोटोयुक्त मतदाता पहचान-पत्र के अतिरिक्त 11 अन्य वैकल्पिक दस्तावेज भी मतदाता पहचान-पत्र के रूप में होगें मान्य स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप अपराधियों पर कसेगी नकेल सड़क हादसे में जख्मी चाय दुकानदार की मौत मोस्ट वांटेड नइम मियां की गिरफ्तारी पुलिस के लिए बनी चुनौती आरा रेलवे स्टेशन दोहरे हत्याकांड का वांटेड दो साथियों संग दबोचा गया
Copied!