खबरें आपकी

अंगद यादव ने कुश्ती में गोल्ड मेडल हासिल कर पीरो का मान बढ़ाया

Scroll down to content

महाराष्ट्र में होनेवाली कुश्ती की राष्ट्रीय प्रतियोगिता में बिहार का प्रतिनिधित्व करेगा

आरा/पीरो(भीम राय)।”खुदी को कर बुलंद इतना, कि हर तक़दीर से पहले।
खुदा बन्दे से ये पूछे,
बता तेरी रज़ा क्या है।।”
कवि अल्लामा इकबाल के इस शेर को अक्षरशः चरितार्थ कर दिखलाते हुए पीरो ईलाके के किशोर अंगद यादव ने न सिर्फ जितौरा और पीरो का मान बढ़ाया है बल्कि भोजपुरवासियों का सिर गर्व से ऊंचा करने में कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ा है। पीरो प्रखण्ड क्षेत्र के जितौरा के हंकार टोला निवासी पहलवान हरिमोहन यादव के पुत्र अंगद यादव ने राज्यस्तरीय कुश्ती प्रतियोगिता में गोल्ड मेडल हासिल करने में सफलता हासिल किया है।

कला संस्कृति एवं युवा विभाग द्वारा अंडर 14 वर्ष की 35 किलो वजन वाले कुश्ती प्रतियोगिता में भभुआ में अंगद यादव को एडीएम सुमन कुमार के हाथों यह सम्मान मिला। राज्यस्तरीय कुश्ती प्रतियोगिता में गोल्ड मेडल हासिल करने के बाद अंगद यादव महाराष्ट्र में होनेवाली राष्ट्रीय स्तर की कुश्ती प्रतियोगिता में सूबे बिहार का प्रतिनिधित्व करेगा।

  भोजपुर समाहरणालय के समक्ष 11 सूत्री मांगों को ले जाप ने दिया धरना।

बता दें कि पीरो प्रखंड क्षेत्र के जितौरा बाजार के हंकार टोला निवासी पहलवान हरिमोहन सिंह के पुत्र अंगद यादव को बचपन से ही कुश्ती में रुचि थी। वो गांव के अखाड़े में ही अपने पहलवान पिता की देखरेख में कुश्ती के दाव-पेंच सीखने लगा। अंगद की कुश्ती में रुचि से प्रभावित होकर आईजी पुलिस टीम पटना के कोच अरुण सिंह ने उसका नामांकन राष्ट्रीय व्यायामशाला सह व्यायाम प्रशिक्षण केंद्र एकलव्य भभुआ में करा दिया। एकलव्य में मात्र दो माह के प्रशिक्षण के बाद ही अंगद को जिला की सफलता हासिल करने के बाद राज्यस्तरीय कुश्ती प्रतियोगिता में शामिल होने का सौभाग्य प्राप्त हुआ।

इस प्रतियोगिता में उसने कटिहार के पहलवान को पछाड़कर गोल्ड मेडल हासिल किया। अंगद यादव ने अपने पिता को अपना असली कोच बताते हुए अपनी इस सफलता का सारा श्रेय अपने पिता को दिया है। अंगद यादव की सफलता पर युवा जदयू के राष्ट्रीय सचिव मनोज उपाध्याय ने उसे 11 हजार रुपये नगद के अलावा टीशर्ट, ब्लोअर और जूता हौसला अफजाई के रुप में दिया है। अंगद की सफलता पर योगेन्द्र प्रसाद, काशीनाथ पहलवान, भीम यादव, प्रखण्ड प्रमुख प्रतिनिधि अक्षयलाल, मुखिया प्रतिनिधि सुशील कुमार, अरुण प्रताप सिंह और शिक्षक अनिल कुमार गुड्डू ने अंगद यादव के उज्ज्वल भविष्य की कामना किया है।

  यूपी के बलिया से नाव द्वारा शिवपुर घाट पहुंची झांकी

बता दें कि हरिमोहन यादव के अखाड़ा के कई पहलवान लगातार कई वर्षों से भारत के अलग अलग राज्यों में कुश्ती प्रतियोगिता में सम्मानजनक उपलब्धि हासिल कर चुके हैं। हरिमोहन यादव अपनी भतीजियों को भी कुश्ती की प्रैक्टिस कराते हैं। इनकी भतीजियां भोजपुर जिला के स्थापना दिवस पर अपना जौहर दिखाने के साथ साथ कई दंगलों में भी अपना जौहर दिखा चुकी हैं।



https://youtu.be/3fNDAiYnoT0


error: Content is protected !! खबरें आपकी,डॉ कृष्णा जी,दिलीप ओझा,रवि।
LATEST NEWS
Copied!