खबरें आपकी

लोक आस्था का चार दिवसीय छठ महापर्व आज से शुरु

Scroll down to content

पुरे जिले में भक्तिमय हुआ माहौल

सोमवार को खरना करेगें व्रतधारी

मंगलवार को अस्ताचल गामी व बुधवार को उदीयमान सूर्य को अर्ध्य देगें व्रर्ती

आरा(डॉ. के कुमार/दिलीप ओझा)। लोक आस्था का चार दिवसीय छठ महापर्व का अनुष्ठान आज से शुरु हो गया। इसके साथ ही पुरे जिले का माहौल भक्तिमय हो गया। आज (रविवार) को छठ व्रती नहाए-खाए के साथ व्रत का शुभारंभ करेंगे। नहाए-खाए के दौरान व्रतधारी सुबह बाल में मिट्टी लगाकर भगवान भास्कर को जल अर्पित कर पूजा-अर्चना करेंगे। तत्पश्चात चावल, चने के दाल, लौकी की सब्जी, सेंधा नमक व शुद्ध घी में बना कर प्रसाद ग्रहण करेंगे। 12 नवम्बर (सोमवार) को व्रतधारी खरना करेंगे। खरना में व्रतधारी पूरे दिन उपवास रहते हैं तथा शाम में शुद्ध गेहूं के आटे से बनी रोटी तथा चावल दूध व गुड़ से निर्मित खीर बनाकर खरना करते हैं। प्रसाद ग्रहण करने के पश्चात चंद्रमा को नमन करने की परंपरा है। छठ के इस पर्व में शरीर व मन शुद्धि का पूरा ख्याल रखा जाता है। 13 नवम्बर (मंगलवार) को छठ व्रत धारी अस्ताचलगामी भगवान सूर्य को अर्घ्य अर्पित करेंगे तथा 14 नवम्बर (बुधवार) को उदीयमान सूर्य को अर्ध्य देने के साथ ही चार दिवसीय छठ महापर्व संपन्न हो जाएगा।

  गुरु-शिष्य परंपरा आज भी कायम- वेद प्रकाश 'सागर'

नहाए-खाए को लेकर दोगुने भाव में बिका लौकी

आरा। छठ पर्व के नहाए-खाए को लेकर लौकी का बाजार गर्म रहा। आमतौर पर 20 से 30 रुपये में बिकने वाला लौकी 40 से 50 रुपये में बिका। छोटे आकार का लौकी 20 से 30 रुपये प्रति पीस की दर से बिका। वहीं बड़े आकार की लौकी 40से 50 रुपये प्रति पीस के हिसाब से लोगों ने खरीदारी की।

  शिक्षक पति की अनुपस्थिति में महिला को घर आकर छेड़ रहा था युवक






Don`t copy text! सम्पर्क करें डॉ कृष्ण कुमार,दिलीप ओझा,रवि
LATEST NEWS
Copied!