खबरें आपकी

छठ के दिन बीच बाजार फायरिंग से थम गयी लोगों की सांसे, और समाप्त हो गया ऑपरेशन”हीरो”

Scroll down to content

पांच घंटे तक चला ऑपरेशन और खत्म हो गया दो माह का आतंक

फायरिंग को देख पुलिस ने घंटे भर रोक दिया था वाहनो का आवागमन

जितौरा बाजार में गुटखा खा रहा था हीरो, तभी पहुंच गयी पुलिस

आरा। मंगलवार को दिन के करीब डेढ़ बज रहे थे। जितौरा बाजार में छठ को ले काफी चहल-पहल थी। फल की दुकानों पर खरीदारों की भीड़ थी। व्रतियों का घाट की ओर जाने का सिलसिला भी शुरू हो गया था। तभी अचानक गोलियां चलने लगी। इससे लोग सहम गये और सभी की सांसे थम गयी। ताबड़तोड़ फायरिंग से जितौरा बाजार थर्रा उठा था। खरीदारी में जुटे लोग व घाट की ओर जा रहे व्रती भागने लगे। किसी के समझ में कुछ नहीं आ रहा था कि आखिर माजरा क्या है? तब तक सादे लिबास में पुलिस के अधिकारी व जवान दौड़ते दिखाई पड़ने लगे। इससे लोगों को कुछ राहत मिली। बाद में पता चला कि कुख्यात हीरो व पुलिस के बीच मुठभेड़ हो गयी है। इसे लेकर जितौरा बाजार में घंटों अफरातफरी रही। हालांकि इस दौरान पुलिस ने काफी सूझबुझ से काम लिया। फायरिंग को देखते हुए आवागमन को पूरी तरह रोक दिया गया। इससे पब्लिक को किसी तरह की क्षति नहीं हुई। हुआ यह कि कुख्यात हीरो मंगलवार को करीब एक से डेढ़ बजे के बीच जितौरा बाजार पहुंचा था। पुलिस को इसकी भनक लग चुकी थी। दोपहर करीब दो बजे हीरो जितौरा हाई स्कूल के समीप अपने एक साथी के साथ गुटखा खा रहा था। उसके दो अन्य साथी बोलेरो गाड़ी में बैठे थे। तभी एसपी के नेतृत्व में पुलिस पहुंच गयी। पुलिस को देखते ही हीरो ने फायरिंग शुरू कर दी। उसके द्वारा करीब पंद्रह से बीस राउंड फायरिंग की गयी। जवाब में पुलिस द्वारा भी दो से तीन राउंड गोली चलायी गयी। इसके बावजूद हीरो अपने एक साथी के साथ भाग निकला था।

  अंग्रेजी व देसी शराब के साथ दो गिरफतार, तीन फरार

पांच घंटे तक चला ऑपरेशन और खत्म हो गया दो माह का आतंक

आरा। कुख्यात हीरो शहर व जिले के लिए आतंक बन गया था। खासकर व्यवसाइयों व कोचिंग संचालकों में उसका काफी खौफ था। करीब दो माह से उसने सभी की नींद उड़ा दी थी। हालांकि मंगलवार को उसका आतंक खत्म हो गया। करीब पांच घंटे तक चले ऑपरेशन में दो माह का उसके आतंक का महल ढह गया। जानकारी के मुताबिक मंगलवार की दोपहर करीब 12 बजे पुलिस को उसके जितौरा बाजार की ओर जाने की सूचना मिली थी। करीब एक बजे पुलिस का ऑपरेशन शुरू हुआ। शुरू में तो हीरो पुलिस पर भारी पड़ा और फायरिंग करते भाग निकला। लेकिन पुलिस उसके पीछे लगी रही। रात करीब साढ़े नौ बजे उसकी पुलिस से दुबारा भिड़ंत हो गयी। इस दौरान दोनों ओर जमकर फायरिंग गोलियं चली। इस दौरान हीरो पुलिस की गोली से मारा गया। बता दें कि हीरो द्वारा शहर के अधिकतर व्यवसाइयों व कोचिंग संचालकों से रंगदारी की मांग की गयी थी। कुछ से रंगदारी वसूल भी कर ली गयी थी।

  प्रेम प्रसंग में गमछा से गला घोंट की गयी थी कृष्णा की हत्या

मुठभेड़ से पहले हीरो ने पीरो व जितौरा बाजार में की थी खरीदारी

आरा। मोस्ट वांटेड हीरो ने मुठभेड़ से पहले जमकर खरीदारी की थी। उसने कपड़े से लेकर चप्पल तक खरीदी थी। बताया जाता है कि वह दोपहर में बोलेरो गाड़ी से अपने दोस्तों संग पीरो पहुंचा। इस दौरान उसने पीरो के प्रियांशु व बाबा मॉल में कपड़ों की खरीदारी की। इसके बाद जितौरा वह बाजार पहुंचा। वहां भी उसने चप्पल खरीदी। खरीदारी करने के बाद वह गुटखा खा रहा था।

  कॉलेज से नामांकन के करीब डेढ़ लाख रुपये की चोरी






error: Content is protected !! खबरें आपकी,डॉ कृष्णा जी,दिलीप ओझा,रवि।
LATEST NEWS
सैकड़ों बच्चों की हुई मौत पर सरकार की नाकामी के विरुद्ध राजद ने दिया धरना अंग्रेजी व देसी शराब के साथ दो गिरफतार, तीन फरार कॉलेज से नामांकन के करीब डेढ़ लाख रुपये की चोरी प्रेम प्रसंग में गमछा से गला घोंट की गयी थी कृष्णा की हत्या भाजपा नेता सनोज यादव के बीमार पुत्र को देखने पहुंचे संसद रामकृपाल यादव अपराध मुक्त बिहार बनाने डीजीपी बिहार गुप्तेश्वर पांडेय को लाइव सुने चिमनी भट्ठा पर ठनका गिरने से महिला की मौत, तीन घायल नवजात के शव पड़े रहने से मची सनसनी तृतीय एशियन लीडर्स सम्मेलन भूटान में भोजपुर के प्रो. अशोक राम सम्मानित आर्सेनिकयुक्त पेयजल से मुक्ति को लेकर प्रस्तावित बहुग्रामीण पाइप जलापूर्ति योजना रद्द
Copied!