खबरें आपकी

महिला को निर्वस्त्र घुमाने के मामले में पांच आरोपितों को सात साल की कारावास

Scroll down to content

बहुचर्चित बिहिया निर्वस्त्र कांड में कोर्ट ने सुनाया फैसला

पंद्रह आरोपितों को दो साल की सजा व दो-दो हजार फाइन

पांचों मुख्य आरोपितों पर भी 12-12 हजार का आर्थिक दंड भी लगा

सजा सुनाये जाने को लेकर कोर्ट में रही गहमागहमी

आरा। बहूचर्चित बिहिया निर्वस्त्र कांड में शुक्रवार को सिविल कोर्ट का फैसला आ गया। कोर्ट ने कांड के मुख्य पांच आरोपितों को सात साल की कठोर कारावास की सजा सुनाई है।

  गोली से जख्मी अधेड़ की मौत, इलाज के दौरान पटना में तोड़ा दम

किशोरी यादव सहित पांचों आरोपितों को बारह-बारह हजार रुपये का फाइन भी देना होगा। वहीं अन्य पंद्रह आरोपितों को दो साल की सजा दी गयी है। इनके खिलाफ भी दो-दो हजार रुपये का आर्थिक दंड भी लगाया गया है।

फैसला प्रथम अपर जिला व सत्र न्यायाधीश आरसी द्विवेदी ने सुनाया। इसके बाद सभी बीस आरोपितों को जेल भेज दिया गया। सजा सुनाये जाने को लेकर कोर्ट कैंपस में काफी गहमागहमी बनी रही।

  व्यवसायियों की सुरक्षा व मान-सम्मान सर्वोपरि-नित्यानंद राय

कोर्ट ने बुधवार को इस मामले में बीस आरोपितों को दोषी पाया था। शुक्रवार को इस मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से बहस की। उन्होंने बताया कि दोनों पक्ष की बहस सुनने के बाद कोर्ट ने अपना फैसला दिया है। इसमें किशोरी यादव, विष्णु कुमार, मुमताज अंसारी उर्फ ताज, सिकंदर व विनोद कुमार केशरी उर्फ मड़ई को सात-सार की कठोर कारावास व बारह-बारह हजार का फाइन किया गया।






खबरें आपकी Copy protect दिलीप ओझा,डॉ कृष्ण, रवि
LATEST NEWS
गांव में हिंसक झड़प व रोडेबाजी के बाद अस्पताल में भी भिड़े दो पक्ष थाना परिसर से पुलिस को चकमा देकर भाग निकला आरोपित बैंक से पैसे निकाल घर लौट रहे मैकेनिक की सड़क दुर्घटना में मौत आर के सिंह ने किया बिहियां के गांवों में जनसंपर्क अभियान, लोगो दिया आशीर्वाद फिर एकबार मोदी सरकार संविधान की आत्‍मा और सेक्‍यूलर ताकतों पर हमला करने वाली भाजपा की फॉसीवादी सरकार को उखाड़ फेकें:-राजू यादव क्या प्रज्ञा ठाकुर के लिए भी वोट मांगेंगे नीतीश-शिवानंद विषाक्त चाय पीने से एक की मौत, 4 की तबीयत बिगड़ी वाराणसी में सम्मानित हुए आरा के गुरु बक्सी विकास पीड़ित मानवता की सेवा के लिए तत्पर रहते हैं डॉ. केएन सिन्हा जेल से सिम बरामदगी में कुख्यात बूटन चौधरी के खिलाफ प्राथमिकी
Copied!