खबरें आपकी

महिला को निर्वस्त्र घुमाने के मामले में पांच आरोपितों को सात साल की कारावास

Scroll down to content

बहुचर्चित बिहिया निर्वस्त्र कांड में कोर्ट ने सुनाया फैसला

पंद्रह आरोपितों को दो साल की सजा व दो-दो हजार फाइन

पांचों मुख्य आरोपितों पर भी 12-12 हजार का आर्थिक दंड भी लगा

सजा सुनाये जाने को लेकर कोर्ट में रही गहमागहमी

आरा। बहूचर्चित बिहिया निर्वस्त्र कांड में शुक्रवार को सिविल कोर्ट का फैसला आ गया। कोर्ट ने कांड के मुख्य पांच आरोपितों को सात साल की कठोर कारावास की सजा सुनाई है।

  बच्चो को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने की ओर सक्रिय है सरकार-विनोद

किशोरी यादव सहित पांचों आरोपितों को बारह-बारह हजार रुपये का फाइन भी देना होगा। वहीं अन्य पंद्रह आरोपितों को दो साल की सजा दी गयी है। इनके खिलाफ भी दो-दो हजार रुपये का आर्थिक दंड भी लगाया गया है।

फैसला प्रथम अपर जिला व सत्र न्यायाधीश आरसी द्विवेदी ने सुनाया। इसके बाद सभी बीस आरोपितों को जेल भेज दिया गया। सजा सुनाये जाने को लेकर कोर्ट कैंपस में काफी गहमागहमी बनी रही।

  फर्जी आईटीआई संस्थान खोल छात्रों से धोखाधड़ी करने के मामले में एक गिरफ्तार

कोर्ट ने बुधवार को इस मामले में बीस आरोपितों को दोषी पाया था। शुक्रवार को इस मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से बहस की। उन्होंने बताया कि दोनों पक्ष की बहस सुनने के बाद कोर्ट ने अपना फैसला दिया है। इसमें किशोरी यादव, विष्णु कुमार, मुमताज अंसारी उर्फ ताज, सिकंदर व विनोद कुमार केशरी उर्फ मड़ई को सात-सार की कठोर कारावास व बारह-बारह हजार का फाइन किया गया।


खबरें आपकी Copy protect दिलीप ओझा,डॉ कृष्ण, रवि
LATEST NEWS
Copied!