खबरें आपकी

गिरफ्तारी नहीं होने पर की जायेगी कुर्की जब्ती की कार्रवाई

Scroll down to content

मामला किसान की गोली मारकर हत्या का

शनिवार की शाम क्रिकेट खेलने के विवाद में हुए फायरिंगं के दौरान जख्मी किसान की मौत इलाज के दौरान हो गयी

आरा। मामूली विवाद में फायरिंग व किसान को गोली मारने की घटना को पुलिस ने काफी गंभीरता से लिया है। गिरफ्तारी नहीं होने पर पुलिस आरोपितों के खिलाफ कुर्की की कार्रवाई भी शुरू करेगी। ओपी इंचार्ज की मानें तो तीन दिनों के अंदर गिरफ्तारी नहीं हो सकी, तो कुर्की की प्रक्रिया शुरु कर दी जायेगी। फिलहाल गिरफ्तारी की वारंट के लिए कोर्ट से प्रे किया जा रहा है। उसके बाद इश्तेहार के लिए अर्जी दी जायेगी। वहीं घटना के बाद तनाव को देखते हुये गांव में पुलिस बल को तैनात किया गया है।

  विटामिन 'ए' एवं एनीमिया उन्मूलन अभियान का डीएम ने किया शुभारंभ

बता दे कि शनिवार की शाम क्रिकेट खेलने के विवाद में हुए फायरिंगं के दौरान जख्मी किसान की मौत हो गयी थी। पीएमसीएच में इलाज के दौरान किसान ने दम तोड़ दिया था। रविवार की दोपहर आरा सदर अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम कराया गया था। मृत किसान सिन्हा ओपी क्षेत्र के मरहा (कवलछपरा) गांव निवासी रंगलाल यादव हैं। फायरिंग के दौरान किसान के पैर में चार गोली मारी गयी थी। इस मामले में गजियापुर गांव के चार लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है। इनमें मुखिया पति सुशील सिंह, सोनू सिंह, सत्येंद्र सिंह व ज्वाला सिंह को आरोपित किया गया है।

  सड़क पर उतरे लचर विद्युत आपूर्ति से आक्रोशित लोग

वहीं मामले को गंभीरता से लेते हुये एसपी आदित्य कुमार ने आरोपितों की धरपकड़ के लिए एक टीम गठित की है। इसमें कोईलवर इंस्पेक्टर चंद्रशेखर गुप्ता, कृष्णागढ़ थानेदार बीके ब्रजेश व सिन्हा ओपी इंचार्ज अरविंद सिंह शामिल हैं। एसपी के निर्देश पर टीम छापेमारी में जुट गयी है।

  विधानसभा का घेराव करने 18 जुलाई को पटना कूच करेंगे हजारों शिक्षक






Don`t copy text! सम्पर्क करें डॉ कृष्ण कुमार,दिलीप ओझा,रवि
LATEST NEWS