खबरें आपकी

हत्याकांड में फिर एक गवाह को मिली धमकी, विशेश्वर ओझा हत्याकांड

Scroll down to content

करनामेपुर ओपी में आवेदन दे गवाह ने लगायी सुरक्षा की गुहार

फोन कर हत्याकांड के चश्मदीद गवाह को दी गयी धमकी

फोन करने वाला बोला-कहा-गवाही दी, तो मारे जाओगे

आरा। बहुचर्चित भाजपा नेता विशेश्वर ओझा हत्याकांड मामले में फिर एक गवाह को धमकी दी गयी। इस बार धमकी ओझवलिया गांव निवासी जगनारायण ओझा को दी गयी है। वे इस हत्याकांड के चश्मदीद गवाह बताये जाते हैं। उन्हें सोमवार को फोन कर गवाही देने से मना किया गया। गवाही देने पर हत्या करने की धमकी दी गयी। इससे गवाह डर गये और कोर्ट नहीं गये। इस मामले में उनके द्वारा करनामेपुर ओपी में आवेदन देकर सुरक्षा की गुहार लगायी गयी है। इस हत्याकांड में पहले ही एक प्रमुख गवाह कमल किशोर मिश्र की हत्या कर दी गयी है। पुलिस को दिये आवेदन में जगनारायण ओझा द्वारा कहा गया है कि सोमवार को उनकी गवाही थी। इसके लिए आरा कोर्ट जाने की तैयारी में थे। तभी सुबह करीब दस बजे उनके मोबाइल पर कॉल आया। कॉल करने वाले ने पूछा कि गवाही देने जा रहो हो। हां में जवाब देने पर फोन करने वाले ने गवाही देने से करने से मना किया। कहा गया कि जेल से गवाही नहीं देने का आदेश आया है। गवाही देने पर हत्या कर दी जायेगी। ओपी इंचार्ज जेके भारती ने बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है। धमकी देने में इस्तेमाल मोबाइल की जांच की जा रही है। गवाह की सुरक्षा की जायेगी।

  कुख्यात दानी यादव को जेल से छोड़ने की होगी जांच

सितंबर में सरेराह भून दिये गये थे हत्याकांड के एक गवाह

आरा। भाजपा नेता ओझा हत्याकांड में गवाहों को भी टारगेट किया जा रहा है। इस हत्याकांड में एक गवाह की पहले ही हत्या कर दी गयी थी। तब सोनवर्षा गांव निवासी कमल किशोर मिश्रा को सरेराह गोलियों से भून दिया गया था। जब वे खेत से पशु चारा लेकर घर लौट रहे थे। बताया जाता है कि विशेश्वर ओझा हत्याकांड के आरोपितों द्वारा उनको भी गवाही देने से मना किया गया था। धमकी भी दी गयी थी, जिसके बाद उन्हें सुरक्षा गार्ड दिये गये थे। धमकी के बावजूद उन्होंने गवाही दी थी। इसके 28 सितंबर की अहले सुबह उनको गोलियों से भून दिया गया था। इस घटना को पुलिस मुख्यालय ने काफी गंभीरता से लिया था। हाईकोर्ट ने भी पुलिस को फटकार लगायी थी। उसके बाद भोजपुर के एसपी अवकाश कुमार को बदल दिया गया था। ऐसे में फिर गवाह को धमकी देने को पुलिस गंभीरता से ले रही है। वहीं गवाह के परिजनों में दहशत कायम है।

  साक्षरता कर्मियों ने अपनी मांगों को ले किया बैठक






खबरें आपकी Copy protect दिलीप ओझा,डॉ कृष्ण, रवि
LATEST NEWS
गांव में हिंसक झड़प व रोडेबाजी के बाद अस्पताल में भी भिड़े दो पक्ष थाना परिसर से पुलिस को चकमा देकर भाग निकला आरोपित बैंक से पैसे निकाल घर लौट रहे मैकेनिक की सड़क दुर्घटना में मौत आर के सिंह ने किया बिहियां के गांवों में जनसंपर्क अभियान, लोगो दिया आशीर्वाद फिर एकबार मोदी सरकार संविधान की आत्‍मा और सेक्‍यूलर ताकतों पर हमला करने वाली भाजपा की फॉसीवादी सरकार को उखाड़ फेकें:-राजू यादव क्या प्रज्ञा ठाकुर के लिए भी वोट मांगेंगे नीतीश-शिवानंद विषाक्त चाय पीने से एक की मौत, 4 की तबीयत बिगड़ी वाराणसी में सम्मानित हुए आरा के गुरु बक्सी विकास पीड़ित मानवता की सेवा के लिए तत्पर रहते हैं डॉ. केएन सिन्हा जेल से सिम बरामदगी में कुख्यात बूटन चौधरी के खिलाफ प्राथमिकी
Copied!