खबरें आपकी

बक्शी कुलदीप नारायण सिन्हा की स्मृति में संगीत संध्या का आयोजन

Scroll down to content

बक्शी कुलदीप नारायण सिन्हा के स्मृति में संगीत संध्या का आयोजन किया गया

आरा(डॉ. के कुमार)। शास्त्रीय संगीत जगत के चर्चित एवं लोकप्रिय आयोजक सह चिंतक दिवंगत लीजेंड बक्शी कुलदीप नारायण सिन्हा के स्मृति में संगीत संध्या का आयोजन किया गया। लीजेंड बक्शी कुलदीप नारायण सिन्हा मेमोरियल कल्चरल सोसाईटी के तत्वाधान में स्थानीय आश्रम परिसर में आयोजित इस संगीत संध्या में सर्वप्रथम आगत अतिथियों ने स्व. कुलदीप के चित्र पर माल्यार्पण किया।

  दूसरी शादी रचा रहे दूल्हे को पहली पत्नी ने हवालात भेजवाया

इसके पश्चात वरिष्ठ संगीत प्रेमी रंजीत बहादुर माथुर ने कहा कि स्व. कुलदीप जी शास्त्रीय संगीत के महान चिंतक व कद्रदान थे। स्व. कुलदीप के आमंत्रण पर शास्त्रीय संगीत के महान विभूतियों ने आरा में अपने फन का प्रदर्शन किया है। आरा के सांस्कृतिक आयोजनों में स्व. कुलदीप का महत्वपूर्ण योगदान है। तबला वादक राणा प्रताप सिन्हा उर्फ राणा ने स्वतंत्र तबला वादन में कायदा, पेशकार, रेला, गत फरद, इत्यादि सुनाकर श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया

  मिठाई कारोबारी के मुंशी से बाइक सवार अपराधियों ने छीने 3 लाख 28 हजार

वही विदुषी बिमला देवी ने राग-शुद्ध कल्याण में छोटा खयाल, पिलू की ठुमरी “बहुत दिन बीते राम सैयां को देखे प्रस्तुत कर समा बांधा। वही गौरव विशाल सिंह ने राग भीमपलासी में छोटा खयाल, खमाज की ठुमरी “आन मिलों सजाना, कोयलिया मत कर पुकार करेजवा में लागे कटार सुनाकर वाहवाही लूटी।

  दहेजलोभी ससुरालवालो ने विवाहिता को मार डाला, सनसनी

वही अमित कुमार व सुश्री सोनम कुमारी ने धमार ताल और तीन ताल में उठान, आमद, परन, चक्करदार परन, प्रिमलू, लरी इत्यादि प्रस्तुत कर तालियां बटोरी। संचालन गुरु बक्शी विकास एवं धन्यवाद ज्ञापन अरुण सहाय ने किया। इस अवसर पर कई गणमान्य संगीत प्रेमी उपस्थित थे।






error: Content is protected !! खबरें आपकी,डॉ कृष्णा जी,दिलीप ओझा,रवि।
LATEST NEWS
Copied!