खबरें आपकी

आज देशभर में मकर संक्रांति की धूम शुभ कार्यो का सिलसिला शुरू

Scroll down to content

खरमास समाप्ती के साथ शुभ कार्य शुरुआत करने की दी जाती है तरजीह

प्रयागराज में पवित्र कुंभ मेले की शुरुआत के साथ शुभ कार्यो एवं त्योहारों का सिलसिला भी शुरु

एक दूसरे को बधाई संदेश और शुभकामनाएं देने के साथ ही आध्यात्मिक रूप से अहम इस पर्व में दान पुण्य का काफी महत्व

आरा:-देश भर में मनाये जाने वाले त्योहार मकर संक्रांति की ज्योतिष के अनुसार 14-15 जनवरी के बीच सूर्य देव के मकर राशि में आने के साथ ही देश भर में आज मकर संक्रांति त्योहार की धूम है। प्रयागराज में पवित्र कुंभ मेले की शुरुआत के साथ शुभ कार्यो एवं त्योहारों का सिलसिला भी शुरु हो चुका है। एक दूसरे को बधाई संदेश और शुभकामनाएं देने के साथ ही आध्यात्मिक रूप से अहम इस पर्व में दान पुण्य का काफी महत्व है।इसी दिन से खरमास समाप्ती के साथ शुभ कार्य शुरुआत करने की तरजीह दी जाती है।मकर संक्रांति पर खिचड़ी खाई जाती है मकर संक्रांति के दिन खिचड़ी बनाने, खाने और दान करना खास होता है।यही वजह है कि कई जगहों पर इसे खिचड़ी पर्व भी कहा जाता है।

  दशहरा एवं मुहर्रम के पर्व पर विधि एवं शांति व्यवस्था को लेकर डीएम व एसपी ने अधिकारियों के साथ कि बैठक
  बाबू वीर कुंवर सिंह के किले एवं संग्रहालय का जायजा एसडीएम ने लिया@ कुँअर संजीत सिंह

खिचड़ी खाने का महत्व

मान्यता है कि चावल को चंद्रमा का प्रतीक माना जाता है, काली उड़द की दाल को शनि का और हरी सब्जियां बुध का प्रतीक होती है। चली आ रही मान्यताओं के अनुसार कुंडली में ग्रहों की स्थिती मजबूत करने के लिए मकर संक्रांति पर खिचड़ी खानी चाहिए।इसलिए इस मौके पर चावल, काली दाल, नमक, हल्दी, मटर और सब्जियां डालकर खिचड़ी बनाई जाती है।


खबरें आपकी Copy protect दिलीप ओझा,डॉ कृष्ण, रवि
LATEST NEWS
Copied!