खबरें आपकी

हरहाल में कदाचारमुक्त व शांतिपूर्ण होगी इंटरमीडिएट की परीक्षा-डीएम

Scroll down to content

कदाचार मुक्त परीक्षा के लिए डीएम व एसपी ने अधिकारियों के साथ की बैठक

जिला के 39 परीक्षा केंद्रों पर संचालित होगी जिसमें कुल 41367 विद्यार्थी शामिल होंगे

परीक्षा केंद्र पर मोबाइल, ब्लूटूथ ,व्हाट्सएप आदि टेक्नोलॉजी के उपकरण का प्रवेश पूर्णत: वर्जित है

आरा। इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा हर हाल में कदाचार मुक्त एवं शांतिपूर्ण होगी।परीक्षा के स्वच्छ, शांतिपूर्ण एवं कदाचार मुक्त संचालन हेतु जिलाधिकारी संजीव कुमार एवं पुलिस अधीक्षक आदित्य कुमार ने कृषि भवन सभागार में केंद्र अधीक्षक तथा प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी के साथ बैठक कर आवश्यक निर्देश दिया।

बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि सभी दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी अपने निर्धारित स्थलों पर अपने अपने दायित्वों का पूरी जवाबदेही से स समय निष्पादन करेंगे ।उन्होंने परीक्षा केंद्रों पर कड़ाई से फ्रिस्किंग करने तथा केंद्रों पर सीसीटीवी एवं वीडियोग्राफी से सतत एवं प्रभावी निगरानी रखने का निर्देश दिया है। परीक्षा केंद्र पर मोबाइल, ब्लूटूथ ,व्हाट्सएप आदि टेक्नोलॉजी के उपकरण का प्रवेश पूर्णत: वर्जित है। साथ ही परीक्षा अवधि में मीडिया कर्मियों का प्रवेश पूर्णता वर्जित रहेगा जिलाधिकारी ने कहां है की कदाचार में संलिप्त अधिकारी हो या कर्मी अथवा अभिभावक अथवा छात्र छात्रा किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। बल्कि परीक्षा संचालन नियमावली की सुसंगत धाराओं के तहत कठोर कार्रवाई की जाएगी ।

  अगलगी की घटना में तीन घर सहित हजारों की संपत्ति जलकर राख हुई

उन्होंने सभी केंद्र अधीक्षक को अपने अपने केंद्र पर सभी आवश्यक व्यवस्था पूर्व में ही सुनिश्चित कर लेंगे ।कर्तव्य पर प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी वीक्षक एवं शिक्षक एवं अन्य कर्मचारी अपने साथ परीक्षा कार्य से संबंधित वेद कागजात के अतिरिक्त अन्य कागजात परीक्षा केंद्र पर नहीं ले जाएंगे और मोबाइल का उपयोग नहीं करेंगे। केवल केंद्र अधीक्षक को ही मोबाइल रखने की अनुमति है ।

  देश को एक रंग में रंगने की कोशिश हो रही है, जिससे समाज का टूटने का खतरा उत्पन्न हो गया है-शिवानंद

विदित हो की इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा 6 फरवरी से 16 फरवरी तक दो पालियों में जिला के 39 परीक्षा केंद्रों पर संचालित होगी जिसमें कुल 41367 विद्यार्थी शामिल होंगे। जिलाधिकारी ने परीक्षा के सफल एवं सुचारु संचालन हेतु सभी अधिकारियों एवं कर्मियों को पूरी जवाबदेही एवं निष्ठा से अपने अपने दायित्वों का स समय पूरा करने का निर्देश दिया है इस कार्य में कोताही एवं लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।


खबरें आपकी Copy protect दिलीप ओझा,डॉ कृष्ण, रवि
LATEST NEWS
Copied!