खबरें आपकी

13 प्वाइंट रोस्टर पर जिला समाहरणालय के समक्ष  राजद का महाधरना आज

Scroll down to content

13 प्वाइंट रोस्टर के तहत विश्वविद्यालय को यूनिट मानने के बजाय विभाग को यूनिट माना गया।

विभाग को यूनिट मानने पर कभी भी एक साथ 14 पद आएंगे यह मुमकिन नहीं लगता है और ST/SC/OBC की नियुक्ति कभी नहीं हो पाएगी:-हीरा ओझा

खबरें आपकी 8 मार्च/आरा :- देश के विश्वविद्यालयों में शिक्षकों की नियुक्ति पर अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और ओबीसी वर्ग को आरक्षण देने के लिए नए नियम 13 प्वाइंट रोस्टर लागू करने के विरोध में आज शुक्रवार को राजद जिला समाहरणालय पर विशाल महाधरना देगा।राष्ट्रीय जनता दल के नेता सरकार से इस फैसले को पलटने के लिए संविधान में संशोधन की मांग कर रहे हैं। विगत 05 मार्च को विपक्षी पार्टियों के भारत बंद में राजद कार्यकर्ताओं ने सड़क पर उतर बिहार में बंद को मजबूती दिया था।राजद के जिला अध्यक्ष हरिनारायण सिंह की अध्यक्षता में 7 मार्च को हुई जिला राजद कार्यकारणी की बैठक में प्रदेश द्वारा निर्धारित कार्यक्रम के आलोक में जिला राजद के प्रधान महासचिव बीरबल यादव ने बैठक में उपस्थित सभी कार्यकर्ताओं को महाधरना को ले अवगत कराया गया एवं भारी संख्या में धरना स्थल पर पहुँचने का बल दिया गया।

राजद के वरिये नेता हीरा ओझा ने कहा कि देश के विश्वविद्यालयो में शिक्षकों की नियुक्ति हेतु 200 प्वाइंट रोस्टर अंतर्गत आरक्षण की व्यवस्था थी। इसके अंतर्गत विश्वविद्यालय को एक यूनिट माना जाता था। जिसके तहत 1 से 200 पद के लिए 49.5 फीसदी आरक्षित वर्ग और 50.5 फीसदी अनारक्षित वर्ग के हिसाब से भर्ती की व्यवस्था की गई थी।यूनिवर्सिटी को एक यूनिट मानने से सभी वर्ग के उम्मीदवारों की भागिदारी सुनिश्चित हो पाती थी।
इसकी प्रक्रिया इस प्रकार थी की लगातार 1 से लेकर 200 सौ तक जैसे पहला, दूसरा और तीसरा पद सामान्य वर्ग के लिए रखा गया था।जबकि चौथा पद ओबीसी कैटेगरी के लिए, पांचवां और छठां पद सामान्य वर्ग. इसके बाद 7वां पद अनुसूचित जाति के लिए, 8वां पद ओबीसी, फिर 9वां, 10वां, 11वां पद फिर सामान्य वर्ग के लिए. 12वां पद ओबीसी के लिए, 13वां फिर सामान्य के लिए और 14वां पद अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित होगा

  प्रेमी संग भागी युवती दुधमुंहे बच्चे के साथ लौटी -एएसपी से कहा सर मै नाबालिग नही हूँ@ जितेंद्र कुमार

श्री ओझा ने कहा कि 13 प्वाइंट रोस्टर के तहत विश्वविद्यालय को यूनिट मानने के बजाय विभाग को यूनिट माना गया। 13 प्वाइंट रोस्टर के लागू होने की स्थिति में देश के विश्वविद्यालयों में कितने ऐसे विभाग हैं जिनमें मात्र एक या दो या अंतिम 3 प्रोफेसर ही विभाग को संचालित करते हैं. वहां पर कभी भी ST/SC/OBC की नियुक्ति नहीं हो पाएगी।

विभाग को यूनिट मानने पर कभी भी एक साथ 14 पद आएंगे यह मुमकिन नहीं लगता है।इस प्रकार अनुसूचित जाति, जनजाति के लिए एक पद भी नहीं मिल पायेगा।
साधारणतः किसी भी विभाग में 1 या 2 या 3 पद निकलते हैं. इस स्थिति में सबसे पहले अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवार की उम्मीद खत्म हो जाती है। उसके बाद अनुसूचि जाति और फिर उसके बाद अन्य पिछड़ा वर्ग की।

  आरा में जिला स्तरीय मिट्टी जांच प्रशिक्षण आयोजित

राजद नेता ने आगे कहा कि 200 प्वाइंट रोस्टर और 13 प्वाइंट रोस्टर में ध्यान देने वाली बात यह है कि 13 प्वाइंट रोस्टर में 14 नंबर के बाद फिर 1,2,3,4 शुरू हो जाता है. जो 14 नंबर पर जाकर पुनः समाप्त हो जाता है. जबकि 200 प्वाइंट रोस्टर में 1 नंबर से पद शुरू होकर 200 नंबर तक जाता है. इस 200 नंबर के बाद फिर 1,2,3,4,5,6,7 से क्रम शुरू होता है और 200 नंबर तक जाता है. इस स्थिति में अनिवार्य रूप से ST, SC, OBC का पद क्रम आता है।श्री ओझा ने कहा, ‘इस 200 प्वाइंट रोस्टर में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग और किसी भी विश्वविद्यालय को अनिवार्य रूप से यूनिवर्सिटी को यूनिट मानना पड़ता है. इस स्थिति में ST, SC, OBC के साथ लोकतांत्रिक, सामाजिक और संवैधानिक न्याय होता है.उन्होंने ने कहा कि हम सभी को मिलकर इसी 200 प्वाइंट रोस्टर के लिए तब तक लड़ना है जब तक इसे देश के सभी विश्वविद्यालयों में लागू न कर दिया जाए।






खबरें आपकी Copy protect दिलीप ओझा,डॉ कृष्ण, रवि
LATEST NEWS
सावधान! चुनाव के दौरान सोशल मीडिया की निगेहबानी करेगा आयोग बस के धक्के से ससुराल जा रही बाइक सवार महिला की मौत ट्रक ने स्कूटी सवार दो युवको को रौंदा, एक की मौत सोने की चेन के लिए विवाहिता की गला घोंट हत्या, देवर गिरफ्तार हथकड़ी के साथ फरार शराब तस्कर ने किया सरेंडर मतदान करने हेतु मतदाताओं के लिए फोटोयुक्त मतदाता पहचान-पत्र के अतिरिक्त 11 अन्य वैकल्पिक दस्तावेज भी मतदाता पहचान-पत्र के रूप में होगें मान्य स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप अपराधियों पर कसेगी नकेल सड़क हादसे में जख्मी चाय दुकानदार की मौत मोस्ट वांटेड नइम मियां की गिरफ्तारी पुलिस के लिए बनी चुनौती आरा रेलवे स्टेशन दोहरे हत्याकांड का वांटेड दो साथियों संग दबोचा गया
Copied!