खबरें आपकी

सावधान! चुनाव के दौरान सोशल मीडिया की निगेहबानी करेगा आयोग

Scroll down to content

सोशल साइट्स पर आपत्ति जनक पोस्ट की जिम्मेदारी सीधे एडमिन की

वीडियो सर्विलांस टीम द्वारा प्रभावी मॉनिटरिंग कर सोशल मीडिया की गतिविधि पर पैनी नजर रखी जा रही है

किसी तरह के राजनीतिक विज्ञापन के लिए लेनी होगी अनुमति

खबरें आपकी 26 मार्च आरा। सोशल मीडिया के तहत व्हाट्सएप ,फेसबुक, ट्विटर , इंस्टाग्राम आदि पर वैसे तथ्यों एवं फोटो को पोस्ट अथवा शेयर नहीं करें जो आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करता हो। अगर सोशल मीडिया के माध्यम से ग्रुप पर आपत्तिजनक फोटो अथवा तथ्य का शेयर अथवा पोस्ट किया जाता है तो ग्रुप एडमिन जवाबदेह माने जाएंगे तथा उन पर विधिसम्मत कठोर कार्रवाई की जाएगी। जिला में भी आईटी सेल, मीडिया सर्टिफिकेशन एंड मॉनिटरिंग कमिटी ,आदर्श आचार संहिता कोषांग, अभ्यर्थी व्यय कोषांग सहित 205 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 21 फ्लाइंग स्क्वायड टीम एवं वीडियो सर्विलांस टीम द्वारा प्रभावी मॉनिटरिंग कर सोशल मीडिया की गतिविधि पर पैनी नजर रखी जा रही है। सोशल मीडिया पर राजनीतिक प्रकृति के विज्ञापन के प्रचार-प्रसार हेतु किसी भी उम्मीदवार अथवा राजनीतिक दल को विज्ञापन के प्रसारण के पूर्व ही मीडिया सर्टिफिकेशन एंड मॉनिटरिंग कमिटी से अनुमति प्राप्त करना है। इसके लिए कमेटी के समक्ष विहित प्रपत्र में विज्ञापन की हार्ड एवं सॉफ्ट कॉपी प्रस्तुत करना है तथा तदनुसार कमेटी द्वारा विचारोंपरांत नियमानुकूल आवश्यक निर्णय लिया जाएगा। किंतु अगर वह विज्ञापन सामाजिक सद्भाव को भंग करने अथवा व्यक्तिगत आक्षेप से जुड़ा हो तो उस विज्ञापन की अनुमति नहीं दी जा सकती है। सोशल मीडिया पर राजनीतिक प्रकृति के विज्ञापन के प्रचार प्रसार पर होने वाले खर्च को संबंधित उम्मीदवार अथवा राजनीतिक दल के खर्च में जोड़ा जाएगा। ऑडियो वीडियो सेट से सुसज्जित वाहनों के माध्यम से राजनीतिक दल अथवा उम्मीदवार द्वारा होने वाले प्रचार प्रसार के लिए भी एमसीएमसी कोषांग से अनुमति लेना आवश्यक है तथा उसके प्रचार प्रसार पर होने वाले खर्च को उम्मीदवार के खर्च में जोड़ा जाएगा।

  बाप की अर्थी लेकर जा रहे बेटे की सड़क हादसे में मौत





Don`t copy text! सम्पर्क करें डॉ कृष्ण कुमार,दिलीप ओझा,रवि
LATEST NEWS