खबरें आपकी

आरा की शास्त्रीय प्रतिभाओं का बनारस में सम्मान

Scroll down to content

हर्षिता विक्रम ने बनारस के भैसासुर, राजघाट स्थित सुर गंगा संगीत महोत्सव में कथक प्रस्तुत कर समा बांधा

खबरें आपकी आरा। शहर के गुरु बक्शी विकास के शिष्य अमित कुमार व शिष्या सुश्री हर्षिता विक्रम ने बनारस के भैसासुर, राजघाट स्थित सुर गंगा संगीत महोत्सव में कथक प्रस्तुत कर समा बांधा। अमित कुमार के सुंदर हस्तक, पद संचालन, चक्कर की तैयारी व गुरु परम्परा की खास बंदिशों की प्रस्तुतिकरण ने श्रोताओं को बांधे रखा तो दूसरी ओर नवोदित कलाकारा हर्षिता की भाव भंगिमाओं ने दर्शकों को खूब आकर्षित किया। दोनो ने कथक की शुरुआत शिव वंदना से की तत्पश्चात तीनताल में शुद्ध कथक, राधा कृष्ण गत निकास व गुरु बक्शी विकास रचित चैती “सावरो से रास रचाईब हो रामा ओही मधुवन में” पर राधा कृष्ण के रास और प्रेम के भाव को प्रस्तुत किया।

  नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपित को सश्रम उम्रकैद

गंगा की लहरों की मद्धिम-मद्धिम ध्वनि व ठंडी-ठंडी हवा में मुक्ताकाश मंच पर गुरु बक्शी विकास के तबले की थाप और रौशन कुमार के मधुर स्वर संगति पर झूमते श्रोताओं ने संगीत का वातावरण खुशनुमा बना दिया। इस अवसर पर अमित कुमार और हर्षिता विक्रम को सुर गंगा संगीत सम्मान प्रदान किया गया।

  अपनी ही नाबालिग पुत्री का रेप करने वाला पिता कोलकाता में गिरफ्तार





Don`t copy text! सम्पर्क करें डॉ कृष्ण कुमार,दिलीप ओझा,रवि
LATEST NEWS
Copied!