रामनवमी को ले जिले में 125 जगहों पर होगी दंडाधिकारी व पुलिस अफसरों की तैनाती

रामनवमी को ले जिले में 125 जगहों पर होगी दंडाधिकारी व पुलिस अफसरों की तैनाती

दूसरे समुदाय के इलाके से जुलूस निकालने के लिए 25 फीसदी लोगों की अनापत्ति जरूरी

शांतिपूर्ण आयोजन व विधि व्यवस्था संधारण के लिए डीएम व एसपी ने जारी किया संयुक्त आदेश

अफवाह फैलाने वालों पर होगी पुलिस-प्रशासन की पैनी नजर

Khabreapki.comआरा। शहर सहित जिले में इस बार रामनवमी के अवसर पर किसी की मनमानी नहीं चलेगी। अबकी बार जुलूस से लेकर गाजे-बाजे तक पर प्रशासन की नजर रहेगी। लाइसेंस के लिए भी अब कड़ी मशक्कत करनी होगी। इसे लेकर बुधवार को डीएम संजीव कुमार व एसपी आदित्य कुमार द्वारा संयुक्त आदेश जारी किया गया है। जिले के लोगों को रामनवमी की शुभकामनाएं देते हुए दोनों अफसरों ने शांति व सद्भाव के साथ पर्व मनाने की अपील की है। संयुक्त आदेश के अनुसार अब अगर दूसरे समुदाय के इलाके से जुलूस निकालना होगा, तो वहां के 25 फीसदी लोगों से अनापत्ति लेना होगा। यह प्रावाधान हिन्दु व मुसलमान दोनों समुदाय के लिए होगा। जुलूस के लिए लाइसेंस देने के नियमों में भी बदलाव किया गया है। अब सिंगल व्यक्ति के नाम पर लाइसेंस निर्गत नहीं किया जायेगा। नये नियम के तहत जुलूस में संभावित भीड़ के 1/50 वें भाग को संयुक्त रूप से लाइसेंस लेना अनिवार्य होगा। साथ ही संभावित भीड़ के लगभग 1/10 वें भाग स्वयंसेवक को तैयार कराना आवश्यक है। नया लाइसेंस निर्गत करने के पूर्व रूट का सत्यापन करना अनिवार्य कर दिया गया है। रूट का सत्यापान एसडीओ व एसडीपीओ द्वारा किया जायेगा। प्रत्येक जुलुस की वीडियोग्राफी करायी जायेगी। साथ ही बिना लाइसेंस किसी भी सूरत में जुलूस नहीं निकालें जायेंगे। सभी अनुमंडलाधिकारी व पुलिस अनुमंडल पदाधिकारी को इसकी जिम्मेदारी दी गयी है। वहीं शांतिपूर्ण आयोजन व विधि व्यवस्था के लिए पूरे जिले में 125 जगहों पर मजिस्ट्रेट व पुलिस अफसरों की तैनाती की गयी है। कहा गया है कि पर्व के अवसर पर हर हाल में जिले में शांति व्यवस्था व विधि व्यवस्था कायम रखनी है। अफवाह फैलानेवाले, सामाजिक सदभाव भंग करनेवाले, सामाजिक विद्वेष पैदा करनेवाले असामाजिक व उपद्रवी तत्वों पर पुलिस की पैनी नजर रखी जायगी। इन सभी के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जायगी।

जिला नियंत्रण कक्ष की हुई स्थापना

आरा। विधि व्यवस्था बनाये रखने व उसकी मॉनिटरिंग के लिए कृषि भवन स्थित जिला निर्वाचन कार्यालय के उपरी तल पर जिला नियंत्रण कक्ष की स्थापना की गयी है। इसकी दूरभाष संख्या-06182-248701, 248702 है। जिला नियंत्रण कक्ष के वरीय प्रभार में जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी मंजुषा चंद्रा,

व मुख्यालय डीएसपी रह़ेगे। एसडीओ व एसडीपीओ को अपने-अपने क्षेत्रों में रामनवमी के अवसर पर डीजे के उपयोग पर अपने स्तर से रोक लगाने व समुचित कार्रवाई का निर्देश दिया गया है। साथ ही ध्वनि विस्तारक यंत्र व लाउडस्पीकर की ध्वनि निर्धारित मानक से अधिक नहीं हो इस पर भी नियंत्रण रखेगे।

आदर्श आचार संहिता का हर हाल में करना होगा पालन

आरा। लोकसभा आम निर्वाचन-2019 के निमित वर्तमान में जिले में आदर्श आचार संहिता प्रभावी है। इससे सभी अनुमंडल पदाधिकारी व अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अपने क्षेत्र में इस बात का ध्यान रखेंगे की रामनवमी शोभायात्रा के दौरान किसी भी परिस्थिति में किसी भी स्तर पर आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन न हो। यदि कही से भी इस प्रकार की सूचना प्राप्त होती है तो उससे संबंधित कोषांगों के वरीय पदाधिकारी व डीएम व एसपी को अवगत करायेंगे और नियमानुसार कार्रवाई भी करेंगे।

शोभा यात्रा के दौरान तैनात रहेंगे एंबुलेंस

आरा। सिविल सर्जन भोजपुर को निर्देश दिया गया है कि वे शोभायात्रा के दौरान जुलूस के पीछे एम्बुलेस व आवश्यक दवाओं की व्यवस्था रखेंगे। इसके अतिरिक्त सदर अस्पताल आरा में आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए चिकित्सकों के साथ पारा मेडिकल स्टाफ, जीवनरक्षक दवा तथा अन्य सभी आवश्यक सामग्रियों, दवाओं सहित ऑपरेशन थियेटर आदि की व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे। जिला परिवहन पदाधिकारी व यातायात निरीक्षक को निर्देश दिया गया है कि गांगी, पुरानी पुलिस लाइन व जीरो माइल पर वाहनों की चेकिंग कराना सुनिश्चित करेंगे।






Don`t copy text!
LATEST NEWS