खबरें आपकी

गंगा नदी में डूबने से आरा के ऑटो चालक की मौत

Scroll down to content

सिन्हा ओपी के महुली गंगा घाट के समीप हुआ हादसा

रविवार को स्नान करने में डूब गया था चालक, सोमवार को मिला शव

इंटर के एक छात्र की भी रविवार को डूबने से हो गयी थी मौत

खबरें आपकी,आरा। भोजपुर जिले में महुली घाट पर रविवार को स्नान के दौरान गंगा नदी में डूबने से एक ऑटो चालक की मौत हो गई। उसका शव सोमवार की दोपहर करीब बारह बजे बरामद किया गया। मृत चालक आरा शहर के करमन टोला निवासी अर्जुन राम का पुत्र पंकज कुमार है।

बताया जाता है कि वह सतुआनी पर्व के अवसर पर आरा से कुछ लोगों को भाड़े पर ऑटो से गंगा स्नान कराने महुली घाट ले गया था। ऑटो पर सवार सभी लोग गंगा स्नान करने लगे। बाद में वह भी गंगा में स्नान करने चला गया। इस दौरान वह गंगा नदी में डूब गया। कुछ देर बाद ऑटो सवार लोग स्नान कर लौटे, तो चालक को गायब पाया। इस पर उसकी तलाश शुरू कर दी गयी। काफी खोजबीन के बाद भी चालक का पता नहीं चला, तो इसकी सूचना ऑटो मालिक को दी गयी। सूचना मिलने पर ऑटो मालिक भी पहुंचा और खोजबीन की गयी। इसके बाद पुलिस व उसके परिजनों को घटना की जानकारी दी गयी।

  सोन के दियारा इलाके में पुलिस ने शराब के ठिकानों पर छापेमारी

वहीं सूचना मिलने के बाद खवासपुर ओपी इंचार्ज दिलीप मांझी के नेतृत्व में गंगा नदी में सर्च अभियान शुरू कर दिया गया। सोमवार को भी स्थानीय मछुआरों व गोताखोरों की मदद से खोज शुरू की गयी। इस बीच दोपहर में गंगा से चालक का शव बरामद किया गया। इसके बाद शव का पोस्टमार्टम कराया गया। रविवार को गंगा नदी में डूबने से इंटर के एक छात्र की भी मौत हो गयी थी।

  अपनी ही नाबालिग पुत्री का रेप करने वाला पिता कोलकाता में गिरफ्तार

गंगा नदी किनारे कपड़ा मिलने से डूबने की हुई आशंका

आरा। करमन टोला निवासी ऑटो चालक के लापता होने की सूचना पर उसके परिजन व ऑटो मालिक दौड़े-दौड़े महुली घाट पहुंचे। गंगा घाट किनारे कपड़ा देख उसके नदी में डूबने की आशंका हुई। उसके बाद पुलिस की मदद से गंगा में सर्च अभियान शुरू किया गया। सूत्रों के अनुसार ऑटो सवार लोग जब घाट पर पहुंचे, तो चालक से स्नान कर लेने की बात कही। तब चालक द्वारा आनाकानी की जाने लगा। इसके बाद सभी लोग स्नान करने लगे। बाद में सभी लौटे, तो चालक गायब था। खोजबीन के दौरान घाट किनारे उसका कपड़ा मिला। वहीं शव मिलने के बाद उसके घर में कोहराम मच गया। घर में रोना-धोना शुरू हो गया। चालक पंकज दो भाई था।

  गुरु कृपा के बिना विद्या की कल्पना अधूरी-विकाश





Don`t copy text! सम्पर्क करें डॉ कृष्ण कुमार,दिलीप ओझा,रवि
LATEST NEWS
Copied!