बिहार के मुख्य निर्वाची पदाधिकारी से भाकपा-माले प्रतिनिधि मंडल ने की मांग

बिहार के मुख्य निर्वाची पदाधिकारी से भाकपा-माले प्रतिनिधि मंडल ने की मांग

आयोग से आरा में निष्पक्ष भयमुक्त वोटों की गिनती की गारंटी की मांग

अधिकारियों पर बेवजह दबाव नहीं बनाने दलित-गरीबों के जान-माल की सुरक्षा की गारंटी हेतु तत्काल उचित हस्तक्षेप की मांग

खबरें आपकी,पटना :-भारत की कम्युनिस्ट पार्टी(मार्क्सवादी-लेनिनवादी)लिबरेशन के प्रतिनिधि मंडल सदस्यों ने मुख्य निर्वाची पदाधिकारी बिहार, पटना, से मांग किया कि लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण के चुनाव की समाप्ति के उपरांत 32, आरा लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार राजकुमार सिंह खुलेआम चुनावी प्रक्रिया को प्रभावित करने हेतु वहां के डीएम व एसपी के साथ गाली-गलौज व अभद्र व्यवहार कर रहे हैं, क्योंकि आरा के डीएम व एसपी ने वहां निष्पक्ष चुनाव की प्रक्रिया को बड़ी कठोरता से लागू करने का काम किया है और चुनाव में आर के सिंह द्वारा हेर-फेर करने की संभावना को निरस्त कर दिया है. इसके कारण राजमार सिंह वहां के डीएम व एसपी पर लगातार दबाब बनाए हुए हैं और उनके साथ अभद व्यवहार कर रहे हैं. आरा-मुफस्सिल के एसएचओ को केवल इसलिए निलंबित कर दिया गया है क्योंकि ये अपने इलाके में निष्पक्ष व भयमुक्त चुनाव की गारंटी पर अड़े हुए थे. यह चुनाव आचार संहिता का घोर उल्लंघन हैं और एक उम्मीदवार के द्वारा अपने पावर का दुरूपयोग करने का भी ठोस उदाहरण है.चुनाव के बाद भोजपुर में सामंती अपराधियों ने दलित-गरीबों के टोलों पर हमला बोल दिया है. सिर्फ इस कारण कि चुनाव में उन्होंने अपनी स्वतंत्र हैसियत का परिचय कराया और अपने पसंद के उम्मीदवार को वोट किया. सामंती ताकतों को दलित-गरीबों की यह दावेदारी बिलकुल भी पसंद नहीं आ रही है, अतीत में भी भोजपुर में अब दलित- गरीबों और पिछड़े समुदाय के लोगों ने बड़े पैमाने पर 1989 में मतदान किया था, तब इन्हीं सामंती ताकतों ने दनवार-बिहटा जैसा जनसंहार रचाया था. एक बार फिर वे भोजपुर में वैसा ही माहौल बना रहे हैं, जबकि अभी वोटों की गिनती बाकि है. आरा में राजकुमार सिंह जिस प्रकार की बोखलाहट दिखलाते हैं, अधिकारियों को धमका रहे हैं, अपने पद का दुरूपयोग करते हुए एसएचओ को सस्पेंड करवा रहे हैं, उसके पीछे एक मात्र वजह यह है कि वे इवीएम और वोटों की गिनती में धांधली करके चुनाव जीतना चाहते हैं. यह लोकतंत्र के लिए बेहद खतरनाक है.अत: हमारी पार्टी का प्रतिनिधिमंडल आपसे मांग करने आया है कि आरा के भाजपा प्रत्याशी द्वारा इवीएम व वोटों की गिनती में धांधली करने के लिए किए जा रहे उपक्रमों पर संज्ञान ले और निष्पक्ष भयमुक्त वोटों की गिनती को गारंटी करे. चुनाव आयोग इस बात को सुनिश्चत करे कि अधिकारियों पर बेवजह दबाव नहीं बनाया जाए तथा साथ ही दलित-गरीबों के जान-माल की सुरक्षा की गारंटी की जाए और इस मामले में तत्काल उचित हस्तक्षेप उठाए जाएं.

  बिहियां:-फिनगी मुखिया कौशर जहां के प्रयास से एस्बेस्टस शीट का हुआ वितरण





Don`t copy text! सम्पर्क करें डॉ कृष्ण कुमार,दिलीप ओझा,रवि
LATEST NEWS
न्यायालय पर है भरोषा निर्दोष साबित होंगे विधायक अरुण यादव :-आलोक रंजन मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में बिहार विकास मिशन के शासी निकाय की षष्टम बैठक सम्पन्न भोजपुर:-छात्र परिषद जाप ने 9 सूत्री मांगों को ले तालाबंदी कर किया उग्र प्रदर्शन मांगों को लेकर स्वास्थ्य कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन बीजेपी के गढ़ में राजद व लालू यादव के लिए लड़ रहे हैं हीरा ओझा पिता की हत्या में गवाही देने गये बेटे को दी गयी जान मारने की धमकी पी०एम०-किसान योजना के तहत् लौटाये गये त्रुटिपूर्ण आवेदनों में आवश्यक सुधार कर योजना का लाभ लें किसान-डॉ प्रेम कुमार पितृपक्ष मेला महासंगम 2019 का उप मुख्य मंत्री सुशील कुमार मोदी ने किया उद्घाटन अनाज व्यवसायी का 80 हजार ले भागे झपट्टामार ग्रामीण बैंक के दो दर्जन खातों से करीब डेढ़ लाख रूपये की अवैध निकासी