नीतीश क्या गांधी के पक्ष में खड़ा नहीं होंगे!-शिवानंद

नीतीश क्या गांधी के पक्ष में खड़ा नहीं होंगे!-शिवानंद

मधु किश्वर ने सार्वजनिक रूप से गांधी को समलैंगिक करार दिया यह साधारण बात नही है

गांधी के प्रति नफ़रत फैलाने वालो के विरूद्ध नीतीश कुमार को आगे आना चाहिए

खबरे आपकी ब्यूरो। महात्मा गांधी को लेकर फिलहाल कुछ समय से जो बातें सामने आ रही है उसके लेकर पूर्व सांसद शिवानंद तिवारी ने चिंता जाहिर करते हुए नीतीश कुमार को घेरा है। क्योंकि नीतीश कुमार गांधी के नाम को फिलहाल सबसे ज्यादा लेने वालों में से है। श्री तिवारी के अनुसार यह एक अभियान बन गया है गांधी जी को लेकर भ्रम पैदा करने की। जिस प्रकार गांधी जी के चरित्र हनन का अभियान चलाया जा रहा है वह अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है. अब तो बात यहाँ तक बढ़ गई है कि गांधी को सार्वजनिक रूप से समलैंगिक क़रार दिया जा रहा है. वह भी किसी ऐरे-गैरे के द्वारा नहीं बल्कि है बल्कि मधु किश्वर जैसी विदुषी माने जाने वाली महिला के द्वारा. मधु किश्वर साधारण महिला नहीं हैं. उन चंद विशिष्ट लोगों में शामिल हैं जिन्हें हमारे प्रधानमंत्री जी के साक्षात्कार लेने का गौरव प्राप्त है. ऐसी महिला जब इस तरह की बात करती हैं तो चिंता होती है.
याद होगा जब प्रज्ञा ठाकुर ने नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया था तो उस समय हो हल्ला मचा था. नीतीश कुमार ने भी उनके विरूद्ध कार्रवाई करने का सुझाव दिया था. लेकिन कार्रवाई क्या होगी ! इस बीच मधु किश्वर जी का ट्वीट आ गया.
नीतीश से गांधी के पक्ष में खड़ा होने की अपेक्षा मैं इसलिए कर रहा हूँ क्योंकि देश के किसी भी नेता से ज़्यादा नीतीश कुमार गांधी का नाम लेते हैं. गांधी से जुड़ी स्मृतियों को सहेजने की दिशा में हमेशा सक्रिय रहते हैं. अभी उनकी पहल पर हमलोगों ने चंपारन सत्याग्रह का सौंवा वर्षगाँठ मनाया है. गांधीजी बहुत प्रेम से कहते थे कि बिहार से ही देश ने मुझे जाना. अत: गांधीजी के प्रति बिहार का दायित्व ज़्यादा बनता है. इसलिए नीतीश कुमार से मैं अनुरोध कर रहा हूँ कि गांधी के पक्ष में वे खड़ा हों और गांधी के चरित्र हनन के प्रयास का विरोध करें. जिस ‘आइडिया ऑफ़ इंडिया’ पर चरचा होती है उसकी अवधारणा तो गांधी जी ने स्वतंत्रता आंदोलन के दरम्यान ही स्पष्ट कर दिया था. दरअसल गांधीजी के सपनों का भारत, कट्टर वादियों के समक्ष आज भी अवरोध बना हुआ है. इसलिए लोगों के मन में गांधी के प्रति नफ़रत फैलाने का अभियान चलाया जा रहा है. इसके विरूद्ध नीतीश कुमार को आगे आना चाहिए।






Don`t copy text!
LATEST NEWS