खबरें आपकी

भोजपुर: दोपहर दो बजे पत्नी से बात हुई और दो तीन घंटे बाद हो गये शहीद

Scroll down to content

पत्नी से बोले-बच्चों का ख्याल रखना और खुद नक्सली हमले में हो गये शहीद

महज दो दिन पहले ही ड्यूटी पर गये थे गोवर्धन पासवान

शहादत की खबर से पत्नी का रो-रोकर हुआ बुरा हाल

खबरें आपकी,आरा। भोजपुर के धोबहां ओपी के बाघी पाकड़ गांव निवासी झारखंड पुलिस के एएसआई गोवर्धन पासवान अभी कुछ दिनों पहले ही गांव आये थे। महज दो दिन पूर्व यानी 12 जुन को ही वे ड्यूटी पर गये थे। उनकी अपनी पत्नी से हमेशा बात होती थी। शुक्रवार को भी दिन में करीब दो बजे बात हुई थी। तब उन्होंने पत्नी से कहा था कि मैं ठीक हूं। पेट्रोलिंग के लिए बाजार में निकला हूं। घर पर ही रहना और बच्चों पर ध्यान रखना। उसके महज तीन घंटे बाद ही नक्सलियों ने उनकी टीम पर हमला कर दिया। इसमें गोवर्धन पासवान व उनके चार साथी शहीद हो गये। शाम करीब सात बजे परिजनों को शहादत की सूचना मिली। उसके बाद से ही घर में कोहराम मचा है। पत्नी का व बच्चों का रो-रोकर बुरा हाल हो चुका है।

  गुरु-शिष्य परंपरा आज भी कायम- वेद प्रकाश 'सागर'

दोपहर में बहन को भी गोवर्धन के किया था फोन

आरा। नक्सली हमले में शहीद गोवर्धन पासवान ने शुक्रवार को दिन में अपनी बहन से भी बात की थी। उन्होंने भतीजी की शादी के सिलसिले में दोपहर करीब बजे बहन को कॉल की थी। तब उनकी बहन ने कहा कि अभी मीटिंग में हूं। चार बजे कॉल करती हूं। चार बजे जब बहन ने उनके मोबाइल पर कॉल की, तो बात नहीं हो सकी। इसी बीच शाम को हमले की सूचना मिल गयी। बताया जाता है कि गोवर्धन पासवान अपनी भतीजी की शादी करने वाले थे। उसमें उनकी शिक्षिका बहन बबिता कुमारी ही मुख्य अगुवा हैं। इसी सिलसिले में उन्होंने बहन से बात की थी। वहीं हमले में शहीद होने की खबर से बहन व बहनोई लालजी पासवान के घर में कोहराम मच गया है।

  अपनी ही नाबालिग पुत्री का रेप करने वाला पिता कोलकाता में गिरफ्तार





Don`t copy text! सम्पर्क करें डॉ कृष्ण कुमार,दिलीप ओझा,रवि
LATEST NEWS
Copied!