सुबह होते ही मिली छोटू की शहादत की खबर, तो मचा कोहराम

सुबह होते ही मिली छोटू की शहादत की खबर, तो मचा कोहराम

कांपते हाथों से छूट गया फोन जब बड़े भाई गणेश को मिली मनहूस खबर,

खबरें आपकी,आरा। मंगलवार की सुबह करीब छह बजने को थे। लोग अपनी दिनचर्या शुरू कर चुके थे। तभी नौसेटाड मठिया गांव निवासी जवान छोटू कुमार घर के मोबाइल की घंटी बज उठती है। उनकी मां कॉल रिसीव करती है। तब फोन करने वाले ने छोटू के भाई व पिता से बात कराने की बात कहता है। इसके बाद गणेश फोन रिसीव करता है। फोन करने वाले ने कहा कि मैं 147 बटालियन से बोल रहा हूं। नाइट में ड्यूटी के दौरान छोटू कुमार शहीद हो गये हैं। इतना सुनते ही गणेश के हाथ कांपने लगे। कांपते हाथों से मोबाइल छूटकर गिर पड़ा। उसके आंखों के सामने अंधेरा छा गया। उसकी हालत देख मां देवंती देवी ने पूछा कि क्या हुआ? तब गणेश फफक पड़ा और फूट-फूटकर रोने लगा। उसकी बात सुनते ही घर में कोहराम मच गया। मां दहाड़ मारकर रो पड़ी। पिता को भी काठ मार गया। बुजुर्ग नानी भी अचेत होकर गिर पड़ी। कुछ ही देर में पूरे गांव में यह खबर फैल गयी और लोग हाल जानने पहुंचने लगे।

23 साल की उम्र में ही छोटू ने देश के लिए लगा दी जान की बाजी

अप्रैल 1996 को जन्मे छोटू ने 2014 में ज्वाइन किया था फौज

नागालैंड में हुई थी पहली पोस्टिंग, फरवरी 19 में गये थे कश्मीर

आरा। भोजपुर के वीर सपूत छोटू कुमार ने महज 23 साल की उम्र में देश की रक्षा करने में अपनी जान न्योछावर कर दी। इतनी कम उम्र में शहादत देकर छोटू ने न सिर्फ अपने गांव बल्कि पूरे जिले का सम्मान बढ़ाया है। बताया जाता है कि 2 अप्रैल 1996 को जन्मे शहीद छोटू ने मैट्रिक करने के बाद 2014 में सेना की नौकरी ज्वाइन की थी। उनकी पहली पोस्टिंग नागालेंड में हुई। उसके बाद रांची और इसी साल फरवरी माह में कश्मीर गये थे। बउरहवा बाबा हाई स्कूल दावा से मैट्रिक तक की शिक्षा ग्रहण करने वाले शहीद छोटू ने ओपन बोर्ड से इसी साल इंटर की परीक्षा दी है। उसका अभी रिजल्ट आने वाला है। उनकी बचपन से ही सेना के प्रति लगाव था।

  बाढ़ से घिरे शाहपुर के दर्जनों गांव, प्रखंड मुख्यालय से टूटा संपर्क

नानी के घर रहकर पला-बढ़ा है शहीद छोटू

आरा। शहीद छोटू मूल रूप से शाहपुर के सहजौली गांव का रहने वाले हैं। नौसेटाड मठिया गांव में उनका ननिहाल है। उनका परिवार करीब तीस साल मठिया गांव में रहते आ रहा है। परिजनों ने बताया कि शहीद की नानी को उनकी मां के अलावा कोई दूसरी संतान नहीं थी। इससे वे सभी नानी के घर रहकर पले-बढ़ा हैं। उनके पिता ससुराल में ही रहकर खेती करते हैं।

  पोषण अभियान के अभिसरण कार्य योजना की बैठक में पोषण अभियान में तेजी लाने के दिए गए निर्देश

दोस्त व गांव के लोगों से मिलनसार था छोटू

आरा। किसान दीनानाथ यादव के तीसरे पुत्र छोटू कुमार गांव के होनहार सपूत था। दोस्त व गांव के लोगों से उनका गहरा संबंध रखता था। गांव के बाहर रहते हुए भी वे सभी हाल चाल लेते रहते थे। दोस्तों ने बताया कि छोटू ड्यूटी के बाद भी हम लोगों को परीक्षा की तैयारी पर जोर देते थे। गांव में रहने पर हर सुख दु:ख में खड़े रहते थे। हम लोग ने एक होनहार सपूत को खो दिया। शहीद होने की सूचना पर पूरे गांव व दुकान के आस पास के लोग शोक में डूब गए हैं। दोस्तों ने बताया कि घर में अभी काम लगा हुआ था। वो जब आया था तो काम में भी हाथ बटाया करते थे।

गांव के बड़ों के आदर करते थे छोटू

आरा। शहीद छोटू छुट्टी में घर पर आने के बाद गांव के बड़े व बुजुर्ग को काफी आदर देते थे। अपने से छोटों को भी पूरा प्यार देते थे। छोटू का महथिन माई मंदिर के प्रति भी काफी आस्था थी। नौकरी से पहले भी वे महथिन मदिर में सफाई का कार्य श्रद्धा से करते थे। नौकरी लग जाने के बाद भी छुट्टी में आने पर मंदिर व परिसर में सफाई से लेकर मंदिर धोने में सहयोग करते थे।

  पोषण अभियान के अभिसरण कार्य योजना की बैठक में पोषण अभियान में तेजी लाने के दिए गए निर्देश

शहीद के परिजनों से मिलने वालों का रहा तांता

आरा। नौसेटाड़ मठिया निवासी व पुलवामा आतंकी हमले में शहीद छोटू लाल यादव के घर मंगलवार को पीड़ित परिवार से मिलने वालों का तांता रहा। मिलने वालों में भाजपा नेता व पूर्व विधायक भाई दिनेश, लोजपा के जिला प्रवक्ता श्याम कुमार मुन्नु, पंचायत के पूर्व मुखिया शिवकुमार यादव, वीरेंद्र यादव सहित काफी संख्या में प्रतिनिधि व ग्रामीण शामिल थे। सभी ने पीड़ित परिवार को सांत्वना दिया। कहा कि हमारे घर के बेटा देश के लिए शहीद हुआ है। इस पर हम सभी फक्र हैं। सभी ने शहीद के नाम पर शहीद गेट, शहीद पार्क, शहीद स्मारक बने, आश्रित भाई को नौकरी, पेट्रोल पंप मिले देने की मांग की है। इस अवसर पर लाल बहादुर सिंह, बीरबल पासवान, कटेयांं मुखिया जी, अवधेश यादव, उपेन्द्र यादव, अरविंद कुमार, वीरेन्द्र सिह सहित अन्य लोग थे। इधर, विधायक राहुल तिवारी ने भी गहरा शोक जताते हुए कहा है कि हमने एक लाल खो दिया है। कहा कि बुधवार को शव के साथ परिजनों से मिलने पहुचेंगे।






Don`t copy text! सम्पर्क करें-७००४६३२९५९-khabreapki.com डॉ कृष्ण कुमार,दिलीप ओझा,रवि!
LATEST NEWS