आरा में मरीज की मौत पर अस्पताल में हंगामा

आरा में मरीज की मौत पर अस्पताल में हंगामा

आरा सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड की घटना

परिजनों ने इलाज में कोताही का लगाया आरोप

चिकित्सक ने कहाः मरा हुआ ही आया था मरीज

सीएस व पुलिस की पहल पर शांत हुआ मामला

खबरें आपकी,आरा। आरा सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में गुरुवार को एक मरीज की मौत हो गयी। इस पर उसके परिजन भड़क उठे और जमकर हंगामा किया। मरीज के परिजन इलाज में कोताही व लूंजपूंज व्यवस्था का आरोप लगा रहे थे। इससे अस्पताल में देर तक अफरातफरी मची रही।

  बाढ़ से घिरे शाहपुर के दर्जनों गांव, प्रखंड मुख्यालय से टूटा संपर्क

बताया जाता है कि गुरुवार को आरा सदर प्रखंड के एक गांव के युवक को चिंताजनक स्थिति में सदर अस्पताल लाया गया। परिजनों के मुताबिक युवक को मिर्गी की शिकायत थी। इस दौरान इमरजेंसी में तैनात डाक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। इधर, परिजन मौत की बात मानने को तैयार नहीं थे। इस दौरान परिजन खुद से युवक को सीपीआर देने लगे। इस क्रम में सांस चलने की बात कह कर परिजन डाक्टर पर इलाज में कोताही का आरोप लगाने लगे।

  पोषण अभियान के अभिसरण कार्य योजना की बैठक में पोषण अभियान में तेजी लाने के दिए गए निर्देश

परिजनों का कहना था कि इमरजेंसी वार्ड में इसीजी जांच की व्यवस्था नहीं है। हंगामे को देख युवक की इजीसी जांच करायी गयी और ऑक्सीजन मास्क लगाया गया। लेकिन नतीजा शून्य निकला। बाद में एक अन्य एक अन्य फिजीशियन द्वारा युवक की जांच की गयी। इसके बाद उसे मृत घोषित कर दिया गया। वहीं हंगामे की सूचना पर सिविल सर्जन डॉ. एलपी झा, प्रभारी अधीक्षक डॉ. प्रतीक और टाउन थाना पुलिस मौके पर पहुंची। उसके बाद किसी तरह समझाकर परिजनों को शांत कराया गया। वहीं, डाक्टर का कहना है कि युवक को मृत अवस्था में ही इमरजेंसी में लाया गया था।

  बाढ़ से घिरे शाहपुर के दर्जनों गांव, प्रखंड मुख्यालय से टूटा संपर्क





Don`t copy text! सम्पर्क करें डॉ कृष्ण कुमार,दिलीप ओझा,रवि
LATEST NEWS