मुखिया की गिरफ्तारी के बाद हंगामा व रोड जाम के मामले में पुलिस की कार्रवाई तेज

मुखिया की गिरफ्तारी के बाद हंगामा व रोड जाम के मामले में पुलिस की कार्रवाई तेज

गडहनी व चरपोखरी थाने में अलग-अलग मामला दर्ज

गडहनी में तोडफ़ोड़ व चरपोखरी में रोड जाम के संबंध में दर्ज हुआ केस

गड़हनी में मुखिया समेत 21 नामजद व सौ समर्थकों के विरुद्ध प्राथमिकी

चरपोखरी में 21 नामजद समेत सौ अज्ञात पर एफआईआर, जेल भेजा गया मुखिया

खबरें आपकी,आरा। गांजा तस्करी मामले में गड़हनी के मुखिया की गिरफ्तारी के बाद हंगामा व रोड जाम में पुलिस ने अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज की है। गडहनी में तोड़फोड़ और चरपोखरी में रोड जाम के संबंध में केस किया गया है। गडहनी में मुखिया समेत 21 नामजद व सौ अज्ञात के विरुद्ध एफआइआर दर्ज किया गया है। वहीं चरपोखरी थाने में 21 नामजद समेत सौ अज्ञात लोगों को आरोपित बनाया गया है। करतार मुखिया को जेल भेज दिया। थानाध्यक्ष मो. साजिद ने बताया कि दर्ज प्राथमिकी में सभी पर सरकारी काम मे बाधा डालने, पथराव व तोड़फोड़ करने के आरोप हैं। प्राथमिकी दर्ज करने के बाद पुलिस आरोपितों की धरपकड़ में जुट गयी है। वहीं अज्ञात लोगों की पहचान की कोशिश की जा रही है। इधर, मुखिया तस्लीम आरिफ उर्फ गुड्‌डू को शनिवार को जेल भेज दिया गया। मालूम हो कि गया के आमस में गांजा तस्करी में नाम आने के बाद गया व गड़हनी थाना की पुलिस ने शुक्रवार की रात गड़हनी के मुखिया को गिरफ्तार कर लिया था। उसके बाद मुखिया समर्थकों ने जमकर बवाल मचाया था। इस दौरान रोड जाम कर दिया गया था। थाने पर हमला कर गेट तोड़ने व मुखिया को छुड़ाने का प्रयास भी किया गया था। करीब दो घंटे तक चले तमाशे के बाद समर्थकों को खदेड़ने के लिए पुलिस को लाठियां चटकानी पड़ी थी। वहीं स्थिति को देखते हुये एएसपी (अभियान) नितिन कुमार, आरा सदर एसडीपीओ पंकज कुमार व अगिआंव इंस्पेक्टर समेत दर्जन थानों के थानाध्यक्ष देर रात तक गड़हनी में कैंप करते रहे।

नवीनतम खबरें :-   72 घंटे बीत जाने के बाद भी अपहृत व्यवसायी पुत्र का नहीं लगा सुराग,पुलिस जांच तेज

शांति बहाल करने के लिए पुलिस ने किया फ्लैग मार्च

आरा। चरपोखरी थाना के गड़हनी बाजार में शुक्रवार की रात हंगामे के बाद पुलिस शांति बहाल करने में जुट गयी है। इसके लिए शनिवार की सुबह पुलिस ने गड़हनी बाजार में फ्लैग मार्च किया। इसमें काफी संख्या में जवान व अधिकारी शामिल थे। बता दें कि मुखिया समर्थकों द्वारा शुक्रवार की रात मचाये गये उत्पात से लोग दहशत में थे।

गांजा की तस्करी में मुखिया पहले से भी दागी, तीन साल गया था जेल

आरा। गड़हनी पंचायत के मुखिया तस्लीम आरिफ उर्फ गुड्डू मियां गांजा तस्करी में पहले से भी दागी है। इस मामले में पूर्व में भी मुखिया जेल जा जुका है। करीब डेढ़ साल जेल में रहने के बाद जुलाई 2018 में जमानत पर बाहर आया था। तब समर्थकों ने गाजे-बाजे के साथ मुखिया का स्वागत किया था। ठीक एक साल बाद मुखिया को फिर गांजा तस्करी में पकड़ लिया गया। इस बार उनके समर्थक भड़क गये और हंगामा करने लगे। ऐसे में उनको लाठियां खानी पड़ गयी। पुलिस सूत्रों के अनुसार औरंगाबाद जिले में गांजा बरामदगी के मामले में वर्ष 2016 के दिसम्बर में गड़हनी बाजार से चरपोखरी व औरंगाबाद की पुलिस ने मुखिया को गिरफ्तार किया था।



This slideshow requires JavaScript.




Don`t copy text!
LATEST NEWS
72 घंटे बीत जाने के बाद भी अपहृत व्यवसायी पुत्र का नहीं लगा सुराग,पुलिस जांच तेज शहर के सभी प्राथमिक, मध्य, माध्यमिक व उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों में आज 12 बजे से कक्षा रहेगा स्थगित फसल अवशेष प्रबंधन विषय पर दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन विश्वविद्यालय के कुलपति एवं परीक्षा नियंत्रक का पुतला दहन चार दिवसीय राज्यस्तरीय विद्यालय ताईक्वांडो प्रतियोगिता 2019 का समापन बिहार कौशल विकास मिशन के अंतर्गत सेंटर का उद्घाटन अनुज भरत से मिलकर गदगद हुए प्रभु श्रीराम चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ. केबी सहाय को दी गयी श्रद्धांजलि चार दिवसीय राज्यस्तरीय विद्यालय ताइक्वांडो प्रतियोगिता का तीसरा दिन संपन्न दवा व्यवसायी का इंजीनियर पुत्र अगवा, सनसनी