डायरी पेंडिंग देख भड़के डीजीपी, थानाध्यक्ष व मुंशी से शोकॉज

डायरी पेंडिंग देख भड़के डीजीपी, थानाध्यक्ष व मुंशी से शोकॉज

आधी रात को आरा पहुंचे डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय

नवादा थाने का डीजीपी ने शुक्रवार की देर रात किया औचक निरीक्षण

तीन घंटे तक थाने में जमे रहे डीजीपी, बारी-बारी से केसों की लेते रहे जानकारी

निरीक्षण में तीस से अधिक आवेदन व थाना डायरी मिला पेंडिंग

खबरें आपकी,आरा। शहर की पुलिसिंग व क्राइम का हाल जानने सूबे के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय शुक्रवार की आधी रात आरा पहुंच गये। डीजीपी श्री पांडेय सीधे नवादा थाना पहुंचे और थाना डायरी की जांच शुरू कर दी। इस दौरान डायरी व बहुत सारे आवेदन पेंडिंग मिले। इसे देख डीजीपी भड़क उठे और थानाध्यक्ष व मुंशी की मौके पर ही जमकर क्लास लगा दी। इसे घोर लापरवाही मानते हुये डीजीपी ने थानाध्यक्ष व मुंशी (थाना लेखक) से शोकॉज भी किया।

वे इतने नाराज थे कि दोनों अफसरों के खिलाफ थाना डायरी में टिप्पणी भी की है। उसमें थाना डायरी में थानाध व मुंशी के खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित करने की बात भी अंकित है। इसके बाद उन्होंने एसपी से थाना डायरी की कॉपी भी मांगी। डीजीपी का रूख देख थानाध्यक्ष ललन कुमार व मुंशी (थाना लेखक) जगनिवास शर्मा के खिलाफ कार्रवाई तय मानी जा रही है। देर रात डीजीपी के आने की सूचना मिलते ही एएसपी (अॉपरेशन) नितिन कुमार, सदर एसडीपीओ पंकज कुमार व जगदीशपुर एसडीपीओ श्याम किशोर रंजन भी नवादा थाना पहुंच गये। वहीं डीजीपी के आने की सूचना से भोजपुर पुलिस महकमे में शुक्रवार की पूरी रात अफरातफरी मची रही। जानकारी के अनुसार दिनारा से लौटने के क्रम में डीजीपी करीब ग्यारह बजे नवादा थाना पहुंच गये। अचानक डीजीपी को देख थाने के सभी अफसरों के होश उड़ गये। वहीं थाने पहुंचते ही डीजीपी ने थाना डायरी की मांग कर दी। डायरी के साथ उन्होंने थाने में आये सभी आवेदनों की भी जांच शुरू कर दी। इसमें बहुत आवेदन पेंडिंग मिले। डीजीपी रात करीब दो बजे तक थाने में जमे रहे।

  बक्सर के छात्र को गोली मारने में वांटेड ने किया कोर्ट में समर्पण

पंद्रह-पंद्रह दिन तक पेंडिंग रहा आवेदन, बिगड़ा डीजी का मूड

आरा। डीजीपी के औचक निरीक्षण ने नवादा थाने की फिर पोल खोल दी। निरीक्षण के दौरान जो बातें सामने आयी, उसके अनुसार थाने में पंद्रह-पंद्रह दिन तक आवेदन पेंडिंग पड़े रहते हैं। बार-बार के सख्त आदेश के बावजूद थाना डायरी अपडेट नहीं रह पा रहा है। इसे ही देख डीजी का मूड बिगड़ गया। जानकारी के अनुसार डीजीपी ने थाने में आये सभी आवेदनों को बारी-बारी से देखा। इस क्रम में 23 अगस्त की डेट का एक आवेदन मिला। उस पर कोई कार्रवाई नहीं की गयी थी। इसके अलावे भी करीब बीस से तीस आवेदन पेंडिंग मिले। वहीं थाना डायरी का भी कुछ वैसा ही हाल था। इसके बाद उन्होंने थानेदार की जमकर खबर ली। डीजी ने स्पष्ट कहा कि अब ऐसे नहीं चलेगा। कहा कि बार-बार के आदेश के बावजूद आरा के थानों में सुधार नहीं हो रहा है। उन्होंने कहा कि यह घोर लापरवाही है और इसे बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। इसे लेकर उन्होंने थानेदार व मुंशी के खिलाफ डायरी भी की। विदित हो कि डीजीपी ने पिछले निरीक्षण के दौरान भी थाना डायरी को हर हाल में अपडेट रखने का निर्देश दिया था।

  देह व्यापार के धंधे के मास्टर माइंड व इंजीनियर समेत चार के विरुद्व चार्जशीट

पांच माह पहले भी डीजीपी की परीक्षा में फेल रहा था नवादा थाना

आरा। बिहार पुलिस में सबसे बडे ओहदा संभालने के बाद से ही डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय की नजर आरा शहर के थानों पर टिकी है। शायद इसी का नतीजा है कि डीजीपी करीब पांच माह के अंतराल पर थानों का हाल जानने आरा आ धमक गये। करीब पांच माह पहले 28 फरवरी की रात वे आरा पहुंचे थे। तब उनका निरीक्षण पूरी तरह गोपनीय था। नवादा थाना पहुंचने तक किसी को उनके आने की भनक नहीं लगी थी। तब उन्होंने नवादा व नगर थाने का निरीक्षण किया था। उस समय दोनों थाने डीजी की परीक्षा में पूरी तरह फेल रहे थे। तब नवादा थाने के इंचार्ज पर गाज गिरी थी। तत्कालीन थाना इंचार्ज सुबोध कुमार को हटा दिया गया था। इसके बाद इंस्पेक्टर ललन कुमार को नवादा थाने की कमान सौंपी गयी थी। उस समय भी थाना डायरी अपडेट नहीं करने सहित कुछ अन्य आरोप लगे थे। लेकिन पांच माह बाद भी थाने की स्थिति कुछ खास नहीं बदल सकी। नतीजा सिफर रहा। इससे एक बार फिर पुरानी कहानी सामने आ गयी। इस बार भी डीजीपी की परीक्षा में नवादा थाना फेल रहा।

  जेल में बंद कुख्यात बूटन का भतीजा हथियार के साथ गिरफ्तार 






This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Don`t copy text! सम्पर्क करें-७००४६३२९५९-khabreapki.com डॉ कृष्ण कुमार,दिलीप ओझा,रवि!
LATEST NEWS
बाढ़ पीड़ितों को भोजन, पेयजल, चिकित्सा व नाव उपलब्ध कराये सरकार:-हीरा ओझा प्राथमिकी दर्ज नहीं करने में नप गये धोबहां ओपी अध्यक्ष शाहपुर को बाढ़ क्षेत्र घोषित नही करना यथार्थ से परे- राहुल तिवारी दहेज की खातिर विवाहिता को जिंदा जलाया आरा में रेलवे के निगमीकरण व निजीकरण के खिलाफ प्रदर्शन जेल में बंद कुख्यात बूटन का भतीजा हथियार के साथ गिरफ्तार  देह व्यापार के धंधे के मास्टर माइंड व इंजीनियर समेत चार के विरुद्व चार्जशीट सेक्स रैकेट :- राजद विधायक के घर की होगी कुर्की,कोर्ट पहुंची पुलिस बक्सर के छात्र को गोली मारने में वांटेड ने किया कोर्ट में समर्पण डीएम ने शाहपुर में बाढ़ को लेकर अधिकारियों के साथ की बैठक, क्षेत्र भ्रमण कर लिया बाढ़ का जायज