तबला संगति एक महत्वपूर्ण विधा-राणा प्रताप

तबला संगति एक महत्वपूर्ण विधा-राणा प्रताप

पंडिर राणा प्रताप सिन्हा का हुआ अभिनंदन

खबरें आपकी,आरा। जैन कॉलेज प्रदर्श कला में बनारस घराने के पंडित शारदा सहाय के परम्परा के शिष्य कलाकार पंडित राणा प्रताप सिन्हा का अभिनंदन किया गया। पंडित राणा को शशिकांत चौबे ने पुष्पगुच्छ एवं शॉल भेंट कर सम्मानित किया। इस अभिनंदन संध्या में राणा प्रताप सिन्हा ने तबले के संगत पर प्रकाश डालते हुये कहा कि तबला सोलो व संगत में बहुत फर्क है। तबला संगति एक महत्वपूर्ण विधा है। इस अवसर पर प्रशिक्षिका सुषमा चौबे ने राग देश में छोटा खयाल गाया। जिस पर राणा ने संगत कर प्रायोगिक पक्ष की जानकारी दी। शशिकांत चौबे ने कहा कि जैन महाविद्यालय के प्रदर्श कला विभाग में प्रतिमाह संगीत जगत के गुणी कलावंतो का आगमन भविष्य के लिये सुखद संदेश है। महाविद्यालय में अध्यन का विस्तार हो रहा है। छात्र छात्रायें उच्चस्तरीय संगीत के प्रशिक्षण से उत्साहित हैं। संचालन व धन्यवाद ज्ञापन गुरु बक्शी विकास ने किया। इस अवसर पर वैशाखी मंडल, मणि कुमारी, रिषु कुमारी, नवाब ताहिद, ओम प्रकाश यादव समेत कई छात्र छात्राएं व शिक्षकगण उपस्थित थे।






Don`t copy text!
LATEST NEWS