केस निष्पादन में सुस्त 17 थानेदारों से शोकॉज, दस को मिला रिवार्ड

केस निष्पादन में सुस्त 17 थानेदारों से शोकॉज, दस को मिला रिवार्ड

क्राइम मीटिंग में एसपी ने की कांडों की समीक्षा, टारगेट पूरा करने का दिया टास्क

दुर्गा पूजा में विधि-व्यवस्था बनाये रखने को लेकर सभी थानेदारों को मिली शाबाशी

आरा। जिले में क्राइम कंट्रोल करने के साथ केस डिस्पोजल पर भी एसपी सुशील कुमार का काफी जोर है। शनिवार को एसपी की क्राइम मीटिंग में इसका नजारा देखा गया। एसपी सुशील कुमार ने केस डिस्पोजल में सराहनीय काम करने वाले थानेदारों को रिवार्ड दिया, तो सुस्त थाना इंचार्जों को दंड भी दिया। 17 थानाध्यक्षों से शोकॉज किया गया है। तो दस को रिवार्ड भी दिया गया है। जानकारी के अनुसार मीटिंग शुरू होते ही एसपी ने कांडों की समीक्षा शुरू कर दी। इस क्रम में 17 थानेदार केस डिस्पोजल में फिसड्डी पाये गये। इस पर एसपी भड़क उठे और उनकी जमकर क्लास लगायी। साथ ही सभी से शोकॉज भी किया गया।

ये सभी थानेदार सदर अनुमंडल के बताये जा रहे हैं। वहीं अंकित कांडों के डेढ़ से दोगुना केस डिस्पोजल करने वाले थानध्यक्षों को रिवार्ड भी दिया। इन थाना इंचार्जों की सेवा में एक-एक सुसेवांक अंकित किया गया है। इस दौरान एसपी ने सभी थानाध्यक्षों को नये सिरे से केस डिस्पोजल करने का टास्क भी दिया। वहीं दुर्गा पूजा के अवसर पर जिले में विधि-व्यवस्था बहाल रखने के लिए एसपी ने सभी थाना इंचार्ज समेत सभी पुलिस अफसरों को शाबाशी दी। इसे लेकर सभी थानेदारों को प्रशस्ति पत्र दिया गया। वहीं डीएसपी स्तर के अफसरों को डीआईजी द्वारा पुरस्कृत किया जायेगा। मीटिंग में सदर एसडीपीओ अम्बरीश राहुल, एएसपी अॉपरेशन नितिन कुमार, जगदीशपुर एसडीपीओ श्याम किशोर रंजन, पीरो एसडीपीओ अशोक कुमार आजाद व ट्रेनी डीएसपी काजल जायसवाल सहित सभी इंस्पेक्टर व थाना इंचार्ज शामिल थे।

तबादले के बाद योगदान नहीं करने वाले तीन एएसआई के वेतन भुगतान पर लगी रोक

आरा। तबादले के बावजूद नये जगह पर योगदान नहीं करने वाले तीन एएसआई के वेतन भुगतान पर रोक लगा दी गयी है। एसपी द्वारा शनिवार को इस संबंध में आदेश जारी कर दिया गया। इन अफसरों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई करने का भी निर्देश दिया गया है। इससे योगदान नहीं करने वाले इन अफसरों में हड़कंप मच गयी है। जानकारी के अनुसार क्राइम मीटिंग में केस डिस्पोजल की समीक्षा के दौरान इन तीन एएसआई द्वारा अबतक नये जगह पर योगदान नहीं करने की बात सामने आयी। इस पर एसपी बिफर पड़े। उन्होंने इसे आदेश की अवहेलना बताते हुये तीनों के वेतन भुगतान पर तत्काल रोक लगा दिया। उन्होंने कहा कि इस तरह की मनमानी किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं की जायेगी।

पब्लिक का कॉल रिसीव नहीं करने पर थानाध्यक्ष की लगी क्लास

आरा। एसपी ने पब्लिक का कॉल रिसीव नहीं पर चरपोखरी के थानेदार की जमकर क्लास लगायी। उन्होंने स्पष्ट तौर पर कहा कि ऐसा किसी भी हाल में नहीं चलेगा। हर पब्लिक की बात सुननी होगी और उनकी समस्या का समाधान निकालना होगा। ताकि आम लोगों का पुलिस पर विश्वास बना रहे। उन्होंने थानेदारों से भविष्य में ऐसी गलती नहीं करने की हिदायत भी दी। हुआ यह कि क्राइम मीटिंग शुरू होते ही चरपोखरी इलाके की एक महिला द्वारा थानेदार पर कॉल रिसीव नहीं करने की शिकायत दर्ज करा दी गयी।

इन थानेदारों को मिला रिवार्ड

आरा। महिला थानाध्यक्ष कंचन कुमारी, बिहिया थानेदार राम लखन प्रसाद, शाहपुर थाना इंचार्ज दीपनारायण सिंह, पीरो थानाध्यक्ष पंकज कुमार, तीयर थानेदार हरेंद्र प्रसाद, अगिआंव बाजार थानाध्यक्ष फुरकान अहमद, सिकरहटा थानाध्यक्ष राजेश कुमार, चरपोखरी थानेदार ओमप्रकाश कुमार, बहोरनपुर ओपी इंचार्ज मनीष कुमार व हसनबाजार ओपी इंचार्ज शंभू कुमार शामिल हैं।






This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Don`t copy text!
LATEST NEWS