यूडी कांड दर्ज कर खुदकुशी मामले की तफ्तीश कर रही पुलिस  

यूडी कांड दर्ज कर खुदकुशी मामले की तफ्तीश कर रही पुलिस  

बिहिया खुदकुशी कांड

दोनों मृतक बीए के स्टूडेंट, परिजनों का प्रेम प्रसंग से साफ इंकार

अलग-अलग काम का बहाना बना घर से निकले और कर ली खुदकुशी

मौके से मिला मोबाइल व पुलिस ने युवक के परिजनों को सौंपा

खबरें आपकी,आरा। दानापुर रेल मंडल के बिहिया महथिन माई मंदिर के समीप ट्रेन से कट युवक व युवती द्वारा खुशकुशी किये जाने के मामले में रेल थाने में यूडी कांड दर्ज किया गया है। इस संबंध में दोनों के परिजनों द्वारा आवेदन दिये गये हैं। उसके आधार पर रेल पुलिस यूडी केस दर्ज कर मामले की तफ्तीश में जुट गयी है। रेल पुलिस शुरुआती जांच में इसे प्रेम प्रसंग ही मानकर चल रही है। हालांकि दोनों मृतकों के परिजन इससे साफ इंकार कर रहे हैं। गुरुवार की सुबह सदर अस्पताल पहुंचे परिजन दोनों के एक जगह व एक साथ ट्रेन की चपेट में आने को महज एक दुर्घटना बता रहे थे। हालांकि सूत्रों की मानें तो प्रेम प्रसंग की जानकारी मिलने पर दोनों के परिजनों ने डांट लगायी थी। उसी गुस्से में दोनों ने ट्रेन के आगे कूद अपनी जान दे दी। बताया जा रहा है कि दोनों स्नातक के स्टूडेंट थे। इनमें युवक बीए कर चुका था और रोजगार की तलाश में था। जबकि युवती अभी बीए पार्ट वन की छात्रा थी। जीआरपी इंचार्ज शहनवाज खां ने बताया कि मृत युवक बिहिया नगर के पाइपलाईन का रहने वाला अभिजीत कुमार है। जबकि युवती भी बिहिया की ही एक मोहल्ले की रहने वाली थी। मौके से बरामद मोबाइल व सिम अभिजीत का ही थी। उसे उसके परिजनों को सौंप दिया गया है। दोनों मृतकों के परिजनों से मिले आवेदन के आधार पर यूडी केस दर्ज कर जांच जा रही है। बता दें कि बुधवार की शाम महथिन माई मंदिर के समीप जनशताब्दी ट्रेन के आगे युवक व युवती ने कूदकर अपनी जान दे दी थी।

युवती मां को खोजने और अभिजीत गया था सामान खरीदने

आरा। महथिन माई मंदिर के समीप खुदकुशी करने वाला युगल अलग-अलग काम की बात कह घर से निकले थे। इसके बाद दोनों ने एक साथ ट्रेन के आगे कूद खुदकुशी कर ली। बुधवार की देर रात दोनों की पहचान होने के बाद गुरुवार की सुबह पोस्टमार्टम किया गया। युवती के परिजनों के अनुसार उसकी मां बुधवार की शाम पूजा करने गयी थी। देर होने पर वह उसे खोजने की बात कह मंदिर की ओर गयी थी। वहीं अभिजीत के परिजनों की मानें तो शाम को वह सब्जी लेकर घर आया। उसके बाद फिर कुछ सामान लेने चला गया। देर रात दोनों के परिजनों को घटना की सूचना मिली। वहीं मौत की सूचना मिलते ही दोनों के घर में कोहराम मच गया। बताया जाता है कि अभिजीत दो भाई व तीन बहनों में सबसे बड़ा था। स्नातक की परीक्षा पास कर वह रोजगार की तलाश में था। उसके पिता एलआईसी एजेंट है। परिवार में उसकी मां नगीना देवी, छोटा भाई रौनक, बहन जूही, अंशु व अन्नु है। सभी बेहाल थे। वहीं युवती के परिजनों में भी रोना-धोना मचा था। बीए पार्ट वन की छात्रा के पिता खैनी बिक्रेता बताये जाते हैं।

चप्पल व हाथ की घग्गी से हुई अभिजीत की पहचान

आरा। ट्रेन की चपेट में आने से दोनों के शव पूरी तरह क्षत विक्षत हो गये थे। इससे उन शवों की पहचान मुश्किल हो गयी थी। हालांकि मोबाइल के आधार पर रेल पुलिस द्वारा युवक के परिजनों को सूचना दी गयी। बाद में परिजन पहुंचे और उसके चप्पल, हाथ की धग्गी व मोबाइल से पहचान की। वहीं युवती की पहचान उसके चेहरे से की गई।


Don`t copy text!
LATEST NEWS
सदर अस्पताल में डॉ. विकास ने अॉपरेशन कर निकाली पैर में फंसी गोली लल्लू सिंह के तेरहवीं में शामिल हुए गृह रक्षा वाहिनी एवं अग्निशाम सेवाएं के डीजी सह महासमादेष्टा राकेश कुमार मिश्र आराः नदी में डूबने से किशोर की मौत, अफरातफरी आरा में राजस्थान से ट्रक लेकर आये युवक की बीमारी से मौत भोजपुरः साइकिल से घर लौट रहे दो युवकों को वाहन ने मारी ठोकर, घायल भोजपुरः शवों के साथ ही दफन हो गया दो हत्याओं का राज महिलाओं का फोटो लेने के विवाद में फायरिंग, दो को गोली मारी संभावना स्कूल में "जल संरक्षण" विषय पर गुरुवार को लगेगी विज्ञान प्रदर्शनी नवमनोनीत विधानसभा प्रभारियों एवं प्रखण्ड अध्यक्षो की समन्वय हेतु संयुक्त बैठक समपन्न आधुनिक तकनीक से मरीजों का होगा इलाज : डॉ वंदना
%d bloggers like this: