केस निष्पादन में सुस्त 45 आईओ के वेतन भुगतान पर लगी रोक

केस निष्पादन में सुस्त 45 आईओ के वेतन भुगतान पर लगी रोक

क्राइम मीटिंग में कांडों के निष्पादन की कछुआ चाल पर भड़के एसपी

नगर, नवादा व मुफस्सिल थाने के अनुसंधान प्रभारियों भी वेतन रोका गया

सभी आईओ को नये सिरे से मिला टास्क, थानेदारों को भी दी गयी हिदायत

हत्या के मामलों में आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं करने वाले थानेदारों से भी स्पष्टीकरण

खबरें आपकी,आरा। भोजपुर में केस निष्पादन में सुस्ती बरतने वाले तकरीबन तीन दर्जन आईओ पर गाज गिरी है। केस निष्पादन का टास्क पूरा नहीं करने वाले 45 आईओ के वेतन भुगतान पर रोक लगा दी गयी है। शहर के तीनों थानों के अनुसंधान इकाई के प्रभारियों का वेतन भी रोक दिया गया है। इसके अलावे हत्या सहित अन्य संगीन मामलों में गिरफ्तारी नहीं करने वाले थानेदारों से भी शोकॉज किया गया है। बुधवार को क्राइम मीटिंग में केस निषपादन व क्राइम की समीक्षा करने के बाद एसपी सुशील कुमार ने यह आदेश जारी किया। उन्होंने स्पष्ट तौर पर कहा कि सभी को अपना टास्क पूरा करना होगा। चाहे केस के अनुसंधान का हो या अपराधियों की धरपकड़ का। ऐसे नहीं करने वाले अफसरों के खिलाफ कार्रवाई तय है।

जानकारी के अनुसार क्राइम मीटिंग शुरू होते ही एसपी थानावार कांडों के निष्पादन की समीक्षा करने लगे। इस दौरान केस डिस्पोजल की कछुआ गति देख एसपी बिफर पड़े। खासकर शहर के थानों के केस डिस्पोजल का हाल देख एसपी का पारा पूरी तरह गरम हो गया। उन्होंने इसे गंभीरता से लेते हुये नवादा, नगर व मुफस्सिल थाने के अनुसंधान इकाई के इंचार्ज सहित 45 आईओ के वेतन भुगतान पर रोक लगाने का आदेश जारी कर दिया। कहा कि अनुसंधान का काम अलग होने के और इस इकाई के अफसरों को दूसरा कोई काम नहीं होने के बावजूद केस निषपादन नहीं होना बर्दास्त करने लायक नहीं है।

इस अवसर पर एसपी ने सभी आईओ को नये सिरे से केस निष्पादन का टास्क भी दिया। इसे लेकर अनुसंधान इकाई के इंचार्ज व थानेदारों को हिदायत भी दी। कहा कि थानेदार आईओ को हर हाल में अपडेट रखें और हर संभव मदद करें। छापेमारी सहित अन्‌य मामलों में सहयोग करें और मिल-जुलकर केसों का डिस्पोजल किया जाये। इस दौरान एसपी ने जिले में बढ़ रही हत्या सहित अन्य घटनाओं पर गहरी चिंता जाहिर की और इस पर रोक लगाने के लिये हर संभव कदम उठाने का निर्देश दिया। संगीन मामले में आरोपितों को जल्द गिरफ्तार नहीं करने पर भी कुछ थानेदारों की क्लास लगायी और शोकॉज किया। उन्होंने सघन वाहन चेकिंग व पेट्‌रोलिंग पर भी काफी जोर दिया। कहा कि यह नियमित रूप से चलना चाहिये।

अंत में शांतिपूर्ण छठ महापर्व संपन्न होने पर सभी अफसरों की एसपी ने पीठ भी थपथपाई। मीटिंग में सदर एसडीपीओ अंबरीष राहुल, जगदीशपुर एसडीपीओ श्याम किशोर रंजन व पीरो एसडीपीओ अशोक कुमार आजाद, इंस्पेक्टर संजीव कुमार, इंस्पेक्टर निर्मल कुमार, इंस्पेक्टर चंद्रशेखर गुप्ता, इंस्पेक्टर शंभू कुमार भगत सहित सभी इंस्पेक्टर व थानाध्यक्ष उपस्थित थे।


Don`t copy text!
LATEST NEWS
सदर अस्पताल में डॉ. विकास ने अॉपरेशन कर निकाली पैर में फंसी गोली लल्लू सिंह के तेरहवीं में शामिल हुए गृह रक्षा वाहिनी एवं अग्निशाम सेवाएं के डीजी सह महासमादेष्टा राकेश कुमार मिश्र आराः नदी में डूबने से किशोर की मौत, अफरातफरी आरा में राजस्थान से ट्रक लेकर आये युवक की बीमारी से मौत भोजपुरः साइकिल से घर लौट रहे दो युवकों को वाहन ने मारी ठोकर, घायल भोजपुरः शवों के साथ ही दफन हो गया दो हत्याओं का राज महिलाओं का फोटो लेने के विवाद में फायरिंग, दो को गोली मारी संभावना स्कूल में "जल संरक्षण" विषय पर गुरुवार को लगेगी विज्ञान प्रदर्शनी नवमनोनीत विधानसभा प्रभारियों एवं प्रखण्ड अध्यक्षो की समन्वय हेतु संयुक्त बैठक समपन्न आधुनिक तकनीक से मरीजों का होगा इलाज : डॉ वंदना
%d bloggers like this: