भोजपुर: बीस हजार जाली नोट के साथ दो शराब तस्कर गिरफ्तार

भोजपुर: बीस हजार जाली नोट के साथ दो शराब तस्कर गिरफ्तार

शराब व जाली नोट के धंधे के कनेक्शन का हुआ खुलासा

शहर के बाजार समिति स्थित आदर्श नगर से पकड़े गये दोनों तस्कर

17 बोतल शराब, 62 सौ रुपये व दो मोबाइल भी मिले

शराब बिक्री की सूचना पर छापेमारी करने पहुंची थी पुलिस

आरा। भोजपुर में जाली नोट व शराब के कारोबारियों के बीच गहरा कनेक्शन है। तस्कर अब जाली नोट के सहारे शराब का धंधा करने लगे हैं। आरा शहर के नवादा थाना की पुलिस ने इसका खुलासा किया। इस मामले में पुलिस ने बीस हजार जाली नोट के साथ दो शराब तस्करों को गिरफ्तार किया है। इनमें आरा के बाजार समिति निवासी गूंजन तिवारी और अनाइठ के राकेश कुमार हैं। बुधवार की रात दोनों को बाजार समिति स्थित आदर्श नगर से गिरफ्तार किया गया। इनके पास से 17 बोतल शराब, 62 सौ रुपये व दो मोबाइल भी मिले हैं। एसपी सुशील कुमार ने गुरुवार को प्रेस कांफ्रेंस में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बुधवार की रात आदर्श नगर में शराब की बिक्री होने की सूचना मिली। इस पर नवादा थाना इंचार्ज ललन कुमार के नेतृत्व में टीम बनाकर छापेमारी का आदेश दिया गया। तब टीम ने छापेमारी कर दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से बीस हजार जाली व 62 सौ रुपये सही नोट बरामद किये गये। उनकी निशानदेही पर गुमटी की लकड़ी हटा दो बैग में रखी 17 बोतल शराब व बियर जब्त की गयी। पूछताछ में दोनों ने शराब खरीदने वालों द्वारा जाली नोट देने की बात स्वीकार की गयी। दोनों ने बताया कि जाली नोट शराब के मुख्य सप्लायर को देनी थी। एसपी ने कहा कि टीम में शामिल अफसरों व जवानों को पुरस्कृत किया जायेगा। टीम में दारोगा अभय शंकर सिंह, हवलदार बलिस्टर सिंह, सिपाही राजू कुमार, विकास कुमार, दिनेश कुमार महतो व रामविचार पासवान शामिल थे।

दो पेट्टी शराब के बदले मिले बीस हजार के जाली नोट

आरा। शराब तस्करों को दो पेट्टी शराब के बदले बीस हजार के जाली नोट दिये गये। दोनों तस्करों ने पूछताछ में पुलिस को इसकी जानकारी दी। पुलिस के अनुसार दोनों तस्करों ने बताया कि उन्हें विशाल नाम के एक युवक शराब ले गया। वही जाली नोट की खेप दे गया। उसी ने ही जाली नोट शराब के सप्लायर को देने की बात कही थी। एसपी ने बताया कि दोनों से पूरे गिरोह के बारे में पूछताछ की जा रही है। विशाल के बारे में भी जानकारी ली जा रही है। दोनों तस्करों के मोबाइल की सीडीआर के आधार पर भी जांच की जा रही है।

शराब तस्कर व जाली नोट गिरोह के कनेक्शन को खंगाल रही पुलिस

आरा। शराब तस्करों के पास से जाली नोट की बड़ी खेप मिलने से पुलिस हैरान है। ऐसे में पुलिस दोनों गिरोह के कनेक्शन को खंगाल रही है। यह पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है कि कहीं शराब के धंधे में जाली नोट का इस्तेमाल तो नहीं किया जा रहा है? पकड़े गये दोनों शराब तस्कर कहीं जाली नोट गिरोह के सदस्य तो नहीं है? एसपी ने बताया कि अन्य बिंदुओं पर जांच की जा रही है। शराब तस्करों के जाली नोट गिरोह से संबंधों की भी जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि दोनों से शराब के मुख्य तस्करों के बारे में पूछताछ की जा रही है। यह भी पता किया जा रहा कि शराब का मुख्य सप्लायर कौन है और जाली नोट की खेप किसे देनी थी।

राहुल या किसी अन्य गिरोह से कनेक्शन

आरा। जाली नोट की खेप के साथ पकड़े गये दोनों शराब तस्कर किस गिरोह के लिए काम कर रहे थे। पुलिस इसका खुलासा करना में जुटी है। एसपी ने बताया कि पूरे मामले की जांच की जा रही है। यह पता किया जा रहा है कि दोनों शराब तस्कर जेल में बंद राहुल गिरोह के लिए काम करते हैं या इनका कोई दूसरा गैंग है। बता दें कि जेल में बंद संदेश थाना के जमुआंव गांव निवासी राहुल यादव जाली नोट छापने का धंधा करता है। पिछले जनवरी माह में उसके घर से जाली नोट छापने की मशीन, कागज, इंक व जारी नोट सहित अन्य सामान बरामद किये गये थे। उस मामले में उसके मां व पिता समेत पांच को गिरफ्तार किया गया था। अभी चार रोज पहले भी जाली नोट की खेप के साथ गिरोह के दो लोगों को पकड़ा गया था।

हत्या के प्रयास में पूर्व में जेल जा चुके हैं दोनों शराब तस्कर

आरा। शराब व जाली नोट के साथ पकड़े गये गूंजन व राकेश का पूर्व से भी आपराधिक इतिहास रहा है। दोनों मारपीट व हत्या का प्रयास करने के एक मामले में चार्जशीटेड हैं। दोनों पूर्व में जेल भी जा चुके हैं।


Don`t copy text!
LATEST NEWS