हैदराबाद-रांची सामुहिक बलात्कार व  हत्याकांड के खिलाफ भाकपा माले ने निकाला मार्च

महिलाओ की यौन हिंसा पर रोक लगाई जाए, यौन हिंसा की साम्प्रदायिक बयाख्या पर रोक लगाई जाए

खबरें आपकी,आरा। भाकपा (माले) के बैनर तले मंगलवार को आरा बस स्टैंड से रेलवे स्टेशन तक मार्च निकला। यह मार्च गत 28 नवंबर को हैदराबाद मे कार्यरत पशु चिकित्सक के साथ सामुहिक बलात्कार के बाद उसे जिंदा जला कर मार डालने वाली घटना व रांची मे हुए सामुहिक बलात्कार कांड के खिलाफ था। मार्च बस स्टैंड से निकल कर विभिन्न मार्गो से होते हुए रेलवे स्टेशन पहुंचा। जहां एक सभा का आयोजन किया गया। माले राज्य कमिटी सदस्य क्यामुद्दीन अंसारी ने कहा कि हैदराबाद की सामुहिक बलात्कार व हत्याकांड एक बार फिर 2012 के दिल्ली गैंगरेप की याद दिला दी। उक्त बलात्कार के बाद की संस्कृति पर रोक लगाने की देशव्यापी मांग उठी थी। माले नेता ने कहा की बेटी पढाओ बेटी बचाओ का नारा देने वाली भाजपा सरकार इस रेप कांड के खिलाफ लडने वाली छात्रा अनु दुबे के साथ मारपीट की घटना को अंजाम दे रही है। वही पशु चिकित्सक बलात्कार हत्याकांड पर भी तुच्छ सांप्रदायिक राजनीति को बढावा देने की कोशिश की जा रही है। हमारी मांग है कि महिलाओ की यौन हिंसा पर रोक लगाई जाए, यौन हिंसा की साम्प्रदायिक बयाख्या पर रोक लगाई जाए। जस्टिस वर्मा कमिटी की अनुशंसाओ को लागू करो, हैदराबाद की पशु चिकित्सक प्रियंका रेड्डी और रांची की पीडिता को न्याय दो महिलाओ की सुरक्षा की गारंटी करो। मार्च में शामिल प्रमुख लोगो ने क्यामुद्दीन अंसारी, शोभा मंडल, दीलराज प्रीतम, बालमुकुंद चौधरी, सत्यदेव कुमार, जनार्दन गोंड, कपिल मुनि पंडित, पप्पू कुमार, राजेंद्र यादव, सुरेश पासवान आदि थे।

PlayPause
Slider

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *