Thursday, February 25, 2021
No menu items!
Home News सांप के डंसने से बच्चे की मौत पर सदर अस्पताल में हंगामा

सांप के डंसने से बच्चे की मौत पर सदर अस्पताल में हंगामा

Fuhan Barhra Ara – इलाज के दौरान आरा सदर अस्पताल में बच्चे ने तोड़ा दम

Fuhan Barhra Ara आरा: भोजपुर जिले के बड़हरा थाना क्षेत्र के फुहां गांव में मंगलवार की सुबह विषैले सांप के डंसने से एक बच्चे की मौत हो गई। इलाज के दौरान उसने सदर अस्पताल में दम तोड़ दिया। मृत बच्चा फुहां गांव निवासी मनोज पासवान का 10 वर्षीय पुत्र नीतीश कुमार है। वहीं उसकी मौत के बाद परिजनों ने सदर अस्पताल में जमकर हंगामा मचाया। इससे अस्पताल की इमरजेंसी वार्ड में काफी देर तक अफरा-तफरी मची रही। हंगामा की सूचना मिलने पर टाउन थानाध्यक्ष धर्मेन्द्र कुमार एवं सदर अस्पताल के प्रभारी अधीक्षक डाॅ. प्रतीक सदर अस्पताल पहुंचे और परिजनों को शांत कराया गया।

परिजनों ने डाक्टर पर इलाज में लापरवाही करने का लगाया आरोप

Fuhan Barhra Ara बच्चे के परिजन डाक्टर पर इलाज करने में लापरवाही करने का आरोप लगा रहे थे। बच्चे के पिता का कहना था कि एडमिट करने के बाद पानी चढ़ा कर छोड़ दिया गया। इसके बीस मिनट के बाद ही बच्चे की मौत हो गयी। मौत के बाद डाक्टर द्वारा पटना पीएमसीएच रेफर कर दिया गया। एम्बुलेंस भी लेट से मिला।

डॉक्टर ने कहाः इलाज सही किया गया, बच्चे की हालत थी गंभीर

इधर, डयूटी पर मौजूर डाॅ. विवेकानंद का कहना है कहा कि बच्चा काफी सीरियस हालत में आया था। उसके परिजन स्पष्ट रूप से कुछ नहीं बता रहे थे कि क्या उसे काटा है। इसके बाद मरीज को देखा तो उसकी हालत काफी गंभीर थी। उसके बाद फर्स्ट ट्रीटमेंट किया और उसका ब्लड सैंपल भी लिया गया। लेकिन दस मिनट बीते ही उसकी हालत काफी बिगड़ गयी और वह मुंह से झाग फेंकने लगा। उसके बाद उसेमएंटीवेनम भी दिया। इसके बाद भी हालत में कोई सुधार ना हुआ तो उसे पटना रेफर कर दिया। उन्होंने कहा कि परिजन लापरवाही बरतने का गलत आरोप लगा रहे हैं। उनका कहना है कि बच्चे के परिजनों द्वारा उन पर दबाव बनाया जा रहा था और इलाज करने के दौरान दखलंदाजी की जा रही थी।

बड़हरा थाना क्षेत्र के फुहां गांव की मंगलवार की सुबह की घटना

बताया जा रहा है कि बच्चा मंगलवार की सुबह (Fuhan Barhra Ara) घर में खेल रहा था। तभी सांप ने उसे डंस लिया। उसके बाद उसे इलाज के लिये आरा सदर अस्पताल लाया गया। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी। बताया जाता है कि बच्चा अपने तीन भाई व दो बहन में सबसे छोटा था। उसके परिवार में मां ललिता देवी, भाई राहुल व लवकुश और बहन रोशनी व रबिना है। मौत के बाद उसके घर में कोहराम मच गया है। मां ललिता देवी सहित परिवार के सभी सदस्यों का रो-रोकर बुरा हाल था।

Ara Kshatriya School – परीक्षा में टॉप करने वाले छात्रों को पुरस्कृत किया जाएगा

Playful drama – नुक्कड़ नाटक के माध्यम से भी हो रहा प्रचार प्रसार

निःशब्द भावुक राकेश ओझा ने बस इतना ही कहा बाबा ऐ बेर माई खड़ा बाड़ी,राउरे सब के देखे के बा..

दस वर्षीय बालक श्रेष्ठ कुमार ने अपने चुनावी संबोधन से उपस्थित लोगों में जोश भर दिया

आयोडीन हमारे शरीर के लिए एक जरूरी एलिमेंट या तत्व है, जिस पर हमारा बुद्धि एवं शरीर का विकास निर्भर

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular