Wednesday, May 12, 2021
No menu items!
Home मनोरंजन आरा मंडल कारा में बंदियो के बीच संगीत एवं हंसने-हंसाने का हुआ...

आरा मंडल कारा में बंदियो के बीच संगीत एवं हंसने-हंसाने का हुआ कार्यक्रम

Indian Lafing Buddha बंदियों ने लाफिंग बुद्धा नागेश्वर दास के साथ लगाए ठहाके

कार्यक्रम से बंदियों के बीच तनाव एवं अवसाद में आयेगी कमी

आरा मंडल कारा, आरा के प्रांगण में इंडियन लाफिंग बुद्धा (Indian Lafing Buddha) के तरफ से नागेश्वर दास के द्वारा कारा में संसीमित बंदियों एवं उपस्थित कारा कर्मियों एवं पदाधिकारी के बीच सांस्कृतिक कार्यक्रम के अंतर्गत संगीत एवं हंसने-हंसाने का कार्यक्रम किया गया। यह कार्यक्रम बंदियों के हित में काफी महत्वपूर्ण एवं परिवर्तनशील रहा।

Indian Lafing Buddha लाफिंग बुद्धा नागेश्वर दास ने कारा प्रशासन सहित तमाम बंदियों को तनावमुक्त जीवन का मंत्र बताया गया। सभी बंदियों ने लाफिंग बुद्धा नागेश्वर दास के साथ ठहाके लगाए और हंस-हंसकर अपना मन हल्का किया। साथ ही महिला खंण्ड में भी सभी महिला बंदियों एवं महिला कक्षपालों ने लाफिंग बुद्धा नागेश्वर दास के साथ ठहाके लगाए और हंस-हंसकर अपना मन हल्का किया।

प्रायः कारा में संसीमित बंदी मानसिक रूप से ग्रस्त एवं अवसादग्रस्त हो जाते है। ऐसे में उक्त कार्यक्रम से बंदियों के बीच तनाव एवं अवसाद में कमी आयेगी एवं बंदियों के सम्पूर्ण शरीर का व्यायाम हो जाता है तथा इस प्रकार के कार्यक्रम नियमित रूप से कारा में आयोजित होने से बंदियों की मानसिकता में बदलाव आ सकता है तथा इससे बंदियों के अंदर सुखद अनुभूति एवं खुशी का एहसास होगा। इसको लेकर बंदियों के बीच काफी उत्साह है। इसकी जानकारी मंडल कारा के अधीक्षक युसूफ रिजवान ने दी।

दलित युवक ने एससी-एसटी थाने में विधायक के खिलाफ दिया आवेदन

विधायक के रेस में चर्चा के केंद्र बने कौन है बिहिया का बोलता मुखिया.?

लालू प्रसाद यादव से थी बदलाव की आस, पर है अब तक निराश क्या बजह रही शाहपुर की आवाज़ को दबाने की.?

क्यों कहा जदयू के नही निर्दलीय उम्मीदवार शोभा देवी,आशा देवी,सुनील पांडेय,श्रीभगवान कुशवाहा का करूँगा प्रचार

क्या शाहपुर में दलीय प्रत्याशियों को भारी पड़ेंगे निर्दलीय, बुटेश्वर की गिफ्तारी और शोभा की उम्मीदवारी बना चर्चा विषय

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular