राजनीत

शाहपुर को बाढ़ ग्रस्त क्षेत्र घोषित कराने के लिए विधायक ने समर्थको के साथ किया प्रखंड कार्यालय का घेराव

सैकड़ों की संख्या में पुरुष व महिला बाढ़ पीड़ितों ने किया घेराव
शाहपुर के बीस व बिहियां के पांच पंचायतों को बाढ़ क्षेत्र घोषित करने की हुई मांग
एडीएम व एसडीएम के आश्वासन पर समाप्त हुआ धरना प्रदर्शन

खबरें आपकी, आरा/शाहपुर: शाहपुर अंचल को बाढ़ ग्रस्त क्षेत्र घोषित करने को लेकर स्थानीय विधायक राहुल तिवारी उर्फ मंटू तिवारी ने शाहपुर प्रखंड सह अंचल कार्यालय का घेराव अपने समर्थकों के साथ किया। लगभग 4 घंटे के धरना प्रदर्शन के दौरान विभिन्न पंचायत से आए लोगों ने प्रखंड को बाढ़ ग्रस्त क्षेत्र घोषित करने के लिए नारेबाजी की। इस दौरान पूरा प्रशासन प्रखंड कार्यालय में बंधक सा बना रहा विधायक ने कहा कि पिछले एक सप्ताह से अंचल क्षेत्र के लोग बाढ़ की विभीषिका को झेल रहे हैं। लोग पलायन को मजबूर हो चुके हैं और बांध व अन्यंत्र विस्थापित होकर शरण लिए हुए हैं। बाढ़ पीड़ितों के घरों में खाने के लाले पड़ गए हैं। उनके छोटे-छोटे बच्चों बाढ़ के कारण परेशानी झेल रहे है। लेकिन प्रशासन द्वारा अब तक उनके लिए कुछ नहीं किया गया। जिसको लेकर स्थानीय जनता एवं जनप्रतिनिधियों के बीच प्रशासन व सरकार के विरुद्ध व्यापक आक्रोश है। विधायक ने कहा कि शाहपुर अंचल के 20 पंचायतों के सभी गांवों एवं बिहियां अंचल के 5 पंचायत के सभी गांव को तुरंत बाढ़ ग्रस्त क्षेत्र घोषित किया जाना चाहिए। विधायक द्वारा अपर समाहर्ता भोजपुर को अपने पांच सूत्री मांगो की मांग पत्र भी सौंपी गई। जिसके अनुसार शाहपुर अंचल के बीस एवं बिहिया अंचल के 5 बाढ़ प्रभावित पंचायतों के सभी गांवों को बाढ़ ग्रस्त क्षेत्र घोषित करने। जिन गांवों का संपर्क बाढ़ के कारण टूट चुका है वहां नाव का पर्याप्त व्यवस्था कराने, किसानों के खड़ी फसलों के बर्बादी को देखते हुए सर्वे कराकर उन्हें उचित मुआवजा देना। साथ ही साथ बाढ़ के कारण विस्थापित हो चुके लोगों को लंगर की व्यवस्था करना तथा उन्हें तुरंत सूखा राहत देने की मांग की। अपर समाहर्ता भोजपुर कुमार मंगलम एवं एसडीएम जगदीशपुर अरुण कुमार द्वारा विधायक को आश्वासन दिया गया कि कल तक उनकी मांगों को पूरी करने की कोशिश की जायेगी। जिसके बाद करीब 4 बजे शाम को धरना प्रदर्शन समाप्त हुआ। हालांकि विधायक ने कहा कि यदि उनकी मांगों को पूरा नहीं किया जाता है तो विधानसभा की जनता के मांगों को देखते हुए पुनः धरना प्रदर्शन का कार्यक्रम आयोजित होगा। इधर धरना प्रदर्शन को देखते हुए प्रशासन द्वारा भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई थी। जिसकी मॉनिटरिंग एसडीपीओ जगदीशपुर श्याम किशोर रंजन कर रहे थे।धरना प्रदर्शन में जिप सदस्य अशोक राम, प्रखंड उपप्रमुख संतोष पासवान, प्रमुख प्रतिनिधि सुनील साह, कांग्रेस नेता श्रीकांत तिवारी, आत्मा अध्यक्ष धनेश्वर राय, पूर्व उपमुख्यपार्षद मो मुख्तार शाह, राजद नेता जितेंद्र चौबे, राजेंद्र मनियारा,बब्लू राय, मुन्ना तिवारी, संतोष ओझा,शंकर यादव, गामा यादव, गोपाल यादव, शशिकांत शर्मा, बब्लू तिवारी,परमात्मा यादव, पैक्स अध्यक्ष पवन सिंह, शिवपुकार राय, राजद अध्यक्ष शिवप्रसन्न यादव, सरपंच राजेश यादव, मुखिया प्रतिनिधि कामता ओझा, रवि रंजन यादव, संजय यादव, अखिलेश सिंह, हरेराम सिंह, बैजनाथ राम, परमार सिंह, मनोज साह, राजेश मिश्रा, जनार्दन यादव, परसुराम यादव, बिंदा यादव, जुबेर खान, सुरेमन चौधरी सहित सभी पंचायतों के जनप्रतिनिधियों के साथ सैकड़ो की संख्या में बाढ़ प्रभावित जनता शामिल रही।

Related posts

राजद के प्रदेश अध्यक्ष पद पर निर्विरोध निर्वाचित जगदानंद सिंह को हीरा ओझा ने दी बधाई

नीतीश सरकार में दलित और बैकवर्ड को लड़ाने की चल रही साजिश 

Dilip Kumar Ojha

जदयू संसदीय दल के नेता आरसीपी सिंह का हुआ जोरदार स्वागत

खबरें आपकी

कानू वैश्य सभा के जिला कमेटी का चुनाव रविवार को

खबरें आपकी

नीतीश व मोदी की सरकार बाढ़ पीड़ितो के प्रति असंवेदनशील-क्यामुद्वीन

पं गंगाधर पाण्डेय ने किया आह्वान,न्या बिहार नीतीश कुमार