Tuesday, April 13, 2021
No menu items!
Home News शाहपुर भोजपुर- पिछड़ों की आवाज़ को राजद ने नही दी आज़ादी

शाहपुर भोजपुर- पिछड़ों की आवाज़ को राजद ने नही दी आज़ादी

Shahpur Bhojpur – लालू प्रसाद यादव से थी बदलाव की आस, पर है अब तक निराश

लालू यादव की मित्रता या केस का डर क्या बजह रही शाहपुर की आवाज़ को दबाने की.?

आरा/शाहपुर:Shahpur Bhojpur देश की आज़ादी के बाद लोकतांत्रिक व्यवस्था के तहत अब तक के हुए चुनाव में शाहपुर क्षेत्र ने सूबे और देश को कई कद्दावर नेता दिया है। शाहपुर क्षेत्र की मजबूत आवाज़ सदन में गूंजती रही। मंत्री,मुख्यमंत्री, केंद्रीय मंत्री,राज्यपाल की पहचान रही शाहपुर क्षेत्र की धरती। लेकिन आज भी शाहपुर क्षेत्र की एक बड़ी आबादी की आवाज़ हमेशा की तरह दबती रही।

लालू प्रसाद यादव के मुख्यमंत्री बनते ही बदलाव की आस ने लोगों में एक नई ऊर्जा का संचार जरूर किया। पर शाहपुर क्षेत्र की इस आवाज़ को राजद ने कभी नही दी आज़ादी। फिर भी लोगों को विश्वास राजद से था और अपनी बात राजद नेतृत्व तक मजबूती से पहूंचाने का काम किया। आंकड़े प्रस्तुत किया, एक बार पिछड़ों के प्रतिनिधित्व का मौका देने का आग्रह किया। लेकिन राजद नेतृत्व मित्रता या केस के भय से शाहपुर क्षेत्र की इस बड़ी आवाज़ को केवल वोट बैंक समझ दबाने का काम किया। लोग निराश होते गये।

राजद नेतृत्व के समक्ष बातों को रखनेवालों को शर्मिंदगी उठानी पड़ी, लाठी खानी पड़ी, तानाशाही रवैये से लोग खुद किनारे होते गए। आज स्थिति है कि शाहपुर क्षेत्र से पिछड़ा,अतिपिछड़ा, दलित,महादलित,अल्पसंख्यक का बेटा राजद के टिकट का दावेदार तक नही है। शाहपुर क्षेत्र की इस बड़ी आबादी की आवाज़ को राजद ने दबाने का काम किया। शाहपुर के लोग विकल्प के अभाव में वोट करते रहे और शोषण के शिकार भी होते रहे। क्षेत्र के कुछ चाटुकारों की चांदी रही, लंगड़ाते शकुनि की तरह चाल चलते रहें अभी भी……..

नामांकन के दौरान भाकपा (माले) राजद, कांग्रेस, सीपीआई, सीपीएम के सभी वरीय नेता थे उपस्थित

पुलिस ने कहा न्यायालय द्वारा मुखिया बुटेश्वर यादव को गिरफ्तार करने के लिए वारंट जारी किया गया है

राकेश ओझा ने कहा कि शाहपुर की मासूम जनता के भावनाओं के साथ खेल रहे है मंटू तिवारी व भुअर ओझा

एक प्राइवेट अस्पताल की डाक्टर पेट चीरने के बाद कैंसर होने की बात कह बच्चेदानी निकालने से किया इंकार

साहबों व दफ्तरों का चक्कर लगा थका परिवार अब बजरंग बली से लगा रहा गुहार, हनुमान चालीसा का पाठ

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular