दस रोज पहले लिया था सात फेरे, आज देनी पड़ी मुखाग्नि

दस रोज पहले लिया था सात फेरे, आज देनी पड़ी मुखाग्नि

गमगीन माहौल में आरा में किया गया खुशबू का अंतिम संस्कार

लाल जोड़े में सजी पत्नी को मुखाग्नि देकर फफक पड़ा पवन

महज तीन दिन ससुराल रहने के बाद हमेशा के लिये विदा हो गयी खुशबू

खबरें आपकी,आरा। शादी के महज दस दिन बाद ही रोहतास के नोखा निवासी शिक्षक पवन की खुशियां छिन गयी। उसके साढू़ ने ही उसकी खुशियों को आग लगा दी। आज से दस रोज पहले जिस खुशबू के साथ उसने सात जन्मों का साथ निभाने की कसमें ली थी। उसके साथ सात फेरे लिये सिंदुर लगा अपना बनाया था। आज उसे ही मुखाग्नि देनी पड़ी। लाल जोड़े में सजी व चिता पर लेटी खुशबू को मुखाग्नि देते ही वह फफक पड़ा। इस दौरान खुशबू के घर वाले भी रोने लगे। इससे पूरा माहौल गमगीन हो उठा। आरा स्थित गंगा नदी के किनारे सोमवार को खुशबू का अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस अवसर पर खुशबू के ससुराल और मायके के लोग भी मौजूद थे। सभी बेहाल थे और रो-रोकर उनकी हालत खराब हो गयी थी। ससुराल वालों को मलाल था कि बहू तीन दिन घर रहने के बाद हमेशा के लिये विदा हो गयी। रविवार को खुशबु व उसकी बहन को गोली मारने के बाद फौजी जीजा ने खुद को भी उड़ा लिया था। तीनों शवों का पोस्टमार्टम करने के बाद देर शाम आरा लाया गया। बता दें इसी 22 नवंबर को तरारी निवासी शिक्षक दंपति सुरेश कुमार शर्मा व विमला देवी की बेटी खुशबू की शादी नोखा के रहने वाले पवन के साथ हुई थी। 23 नवंबर को खुशबू ससुराल गयी। महज तीन दिन बाद ही वह परीक्षा देने के लिये पति के साथ तरारी आ गयी थी। इस बीच रविवार को घटना हो गयी।

20191203_1842231377173479065957876.jpg
20191203_1840227409820949545808880.jpg
20191203_1841177176856172725770739.jpg
20191203_1838418927375386882456050.jpg
20191203_183947387901862545275281.jpg
20191203_1836153559210419068013854.jpg
20191203_1837324160554389169720091.jpg
20191203_1840484595941438138935604.jpg
20191203_1839205846938633435901518.jpg

नोकझोंक होते देख धीमी कर दी थी कार की रफ्तार, गोली चलते ही लगा दी ब्रेक

घटना के समय कार चला रहे खुशबू के चाचा की जुबानीं

तरारी में शिक्षक दंपती के घर सुबह से उमड़ रही ढाढस बंधाने वालों की भीड़

आरा। घटना के समय कार चला रहा दामिनी व खुशबू के चाचा मिथिलेश ठाकुर ने गांव पहुंचने पर लोगों से बताया कि घर से पटना चलते समय सब कुछ ठीक-ठाक था। सभी लोग खुशी-खुशी कार में सवार हुये थे। कार पर चढ़ाने के लिए घर वाले भी गाड़ी तक आये थे। तरारी से पटना के लिए सहार और पालीगंज के रास्ते गाड़ी चली और गाड़ी में बैठे सभी हंसी खुशी बातें कर रहे थे। लेकिन रास्ते में बातचीत बकझक में बदल गया। पिछले सीट पर अनबन तेज होता देख उसने कार की रफ्तार धीमी कर दी। रोड पर निगाहें रख शांत रहने का आग्रह कर रहा था। तभी कार में गोली चल गयी। गोली की आवाज व दामिनी के चीख सुन उसने हैंड ब्रेक का इस्तेमाल कर किसी तरह अपना संतुलन बनाते गाड़ी रोड किनारे खड़ी कर दी। तब तक कई गोलियां चल चुकी थी। पीछे मुड़कर देखा तो दोनों भतीजी की खून से लथपथ लाशें बिछ गई थी। इस खौफनाक मंजर को देख वह उसके तरफ लपका तो सनकी रिश्तेदार ने उसकी ऊपर भी पिस्टल तान दी और भागने को कहा। इसके बाद वह दोनों बच्चों का हाथ पकड़ शोर मचाते भागा। गोलियां चलने और उसकी आवाज सून आसपास के खेतों में कटनी कर रहे लोग पहुंच गये। उसके बाद उसने फोन से घरवालों को सूचना दी। इधर, घटना की सूचना के बाथ से ही तरारी निवासी शिक्षक दंपति के घर लोगों का हुजूम उमड़ रहा है।


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Don`t copy text!
LATEST NEWS
भोजपुरः उग्र भीड़ ने पथराव कर पुलिस और प्रशासनिक अफसरों को खदेडा ट्रक की चपेट में आने से बीएसएफ जवान की मौत भोजपुर: बिहियां में एटीएम तोड़ चोरी का प्रयास अग्निशमन विभाग के अफसरों ने सदर अस्पताल का किया भौतिक निरीक्षण दो करोड़ की लूट में भोजपुर पहुंची दिल्ली पुलिस, लुटेरा फरार नियमित रूप से खुलेंगे सभी स्वास्थ्य उपकेंद्र, बंद मिले तो होगी कार्रवाई टिक टॉक वीडियो वायरल होने के बाद बदली-बदली नजर आयी सदर अस्पताल की व्यवस्था मजदूरों को मनी देने के विवाद में चचेरे भाई को गोली मारी आरा सदर अस्पताल में टिक टॉक वीडियो बनाने की जांच के आदेश मजदूर की हत्या के मामले में प्राथमिकी दर्ज, आरोपी गिरफ्तार