Sunday, June 26, 2022
No menu items!
HomeUncategorizedदुकानों एवं व्यवसायिक प्रतिष्ठानों के खोलने के लिए समय निर्धारित करे जिला...

दुकानों एवं व्यवसायिक प्रतिष्ठानों के खोलने के लिए समय निर्धारित करे जिला प्रशासन- प्रेम पकंज

भोजपुर जिला व्यवसाय मंच के अध्यक्ष ने डीएम को ईमेल भेज की मांग

आरा। भोजपुर जिला व्यवसाय मंच के अध्यक्ष प्रेम पंकज उर्फ ललन ने जिलाधिकारी को ईमेल भेजकर दुकानों एवं व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को खोलने के लिए समय निर्धारित करने की मांग की है। भेजे गये ईमेल में उन्होंने कहा है कि लॉक डाउन फेज तीन चल रहा है। दुकान व प्रतिष्ठान खोलने को लेकर व्यवसायी असमंजस में है।

समाहरणालय पूर्वी चंपारण, मोतिहारी द्वारा कोविड-19 के मद्देनजर व्यवसायिक दुकानों व प्रतिष्ठानों को खोलने के लिए आदेश जारी किया गया हैं। इसमें दवा की दुकानें प्रत्येक दिन 24 * 7 की अवधि में खोलने को कहा गया है। वहीं दूध की दुकानें 6 बजे से पूर्वाहन 6 बजे अपराहन तक, मांस एवं मछली की दुकानें 7 बजे पूर्वाहन से 11 बजे पूर्वाहन तक, कपड़ा रेडीमेड, ज्वेलरी एवं बर्तन की दुकान में 8 बजे पूर्वाहन से 1 अपराहन तक, किराना की दुकान में 7 बजे से पूर्वाहन 2 अपराहन तक, सब्जी एवं फल की दुकानें 7 बजे पूर्वाहन से 5 अपराहन तक, हार्डवेयर, सेनिटरी भवन निर्माण से संबंधित सामग्रियों एवं टाइल्स की दुकान में 7 बजे पूर्वाहन से 11 बजे पूर्वाहन तक, ट्रैक्टर, पार्ट्स, मोटरसाइकिल पार्ट्स, साइकिल एवं मोबाइल की दुकान 7 बजे पूर्वाहन से 12 बजे मध्याहन तक, बिजली, किताब एवं स्टेशनरी तथा चश्मे की दुकान 7 बजे पूर्वाहन से 11 बजे पूर्वाहन तक, कृषि से संबंधित प्रतिष्ठान दुकान 7 बजे पूर्वाहन से 12 बजे मध्याहन तक, मिठाई एवं बेकरी की दुकानें 2 बजे पूर्वाहन से 6 अपराहन तक, अन्य उद्योग 8 बजे पूर्वाहन से 12 बजे मध्यान्ह तक खोलने का आदेश दिया गया है।

फौजी समेत गिरफ्तार सभी आठ आरोपितों को बुधवार को भेजा गया जेल

ठीक उसी तरह भोजपुर जिला प्रशासन भी आदेश जारी करें। ताकि यहां के व्यवसायिक एवं छोटे-छोटे दुकानदारों को राहत मिल सके। प्रेम पंकज ने कहा कि ई-कॉमर्स द्वारा सभी सामानों की आपूर्ति और स्थानीय व्यवसायियों पर दुकान खोलने पे प्रतिबंध से छोटे व्यवसायिक  दोहरे संकट का सामना करना पड़ रहा। स्थानीय व्यवसायी को दुकान भाड़ा, कर्मचारी का वेतन, बैंक का व्याज के साथ-साथ दुकान बंद होने की वजह से सीजनल आइटम के फंसने का भी खतरा मंडरा रहा है। ऐसे में बहुराष्ट्रीय कंपनी को इस तरह का छुट देना जले पे नमक छिड़कने के माफिक है। इसको लेकर उन्होनें प्रधानमंत्री को ट्वीट एवं मेल कर लाॅक डाउन के रहने तक सभी प्रकार के नाॅन ऐसेन्शियल गुडस् के लिए ई कामर्स को भी बन्द करने की मांग की है।

- Advertisment -

Most Popular