Friday, June 21, 2024
No menu items!
HomeNewsCrimeकोईलवर में बरामद हथियार व कारतूस, प्रेस कॉन्फ्रेंस करते एसपी, गिरफ्तार अपराधी

कोईलवर में बरामद हथियार व कारतूस, प्रेस कॉन्फ्रेंस करते एसपी, गिरफ्तार अपराधी

घाट पर वर्चस्व व बालू लूटने की थी तैयारी, हथियारों की खेप के साथ एक गिरफ्तार
कोईलवर थाने के महुई घाट के पास नाव से पकड़ी गयी हथियार की खेप
घाट पर फायरिंग की सूचना पर पहुंची पुलिस को मिली सफलता
पांच राइफल, 151 गोलियां, 17 खोखे, चार बाइक और एक नाव जब्त
पुलिस को देख नाव सवार गिरोह के अन्य सदस्य फरार, पुलिस की छापेमारी
फोटो-
आरा। भोजपुर के कोईलवर इलाके में माफियाओं द्वारा बालू की लूट और घाटों पर वर्चस्व को लेकर खून खराबे की तैयारी की गयी थी। नाव के सहारे महुई घाट पर गोलीबारी की साजिश की गयी थी। इसके लिए भारी मात्रा में हथियार और गोलियों की खेप मंगायी गयी थी। पुलिस की ओर से हथियारों और गोलियों की खेप के साथ माफिया गिरोह के एक सदस्य की गिरफ्तारी के बाद इसका खुलासा किया गया है। फायरिंग की सूचना पर पहुंची पुलिस को महुई घाट के पास सोन में नाव से हथियार की खेप पकड़ने में सफलता मिली है। गिरफ्तार माफिया गिरोह का सदस्य बड़हरा थाना क्षेत्र के नेकनाम टोला गांव निवासी लालिश राय है। उसकी निशानदेही पर नाव से अलग-अलग बोर की पांच रेगुलर राइफल, 151 गोली, 17 खोखे, तीन बिनडोलिया और चार बाइक बरामद की गयी है। नाव भी जब्त कर ली गयी है। हालांकि नाव सवार गिरोह के पांच-छह सदस्य भागने में सफल रहे। एसपी संजय कुमार सिंह द्वारा शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेंस में यह जानकारी दी गयी। उन्होंने बताया कि कोईलवर थाना क्षेत्र के महुई बंद बालू घाट पर सोन नदी में नाव से अवैध हथियारों के साथ किसी बड़ी घटना को अंजाम देने अपराधियों और माफिया गिरोह के सदस्यों आने की सूचना मिली थी। उसके आधार पर एएसपी हिमांशु के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया। टीम ने इलाके की घेराबंदी कर सोन से लोहे की बड़ी नाव पकड़ी गयी। नाव पर छह-सात लोग सवार थे। हालांकि पुलिस को देख अन्य लोग किसी तरह भाग गये। लेकिन बड़हरा के नेकनाम टोला गांव निवासी लालिस राय को गिरफ्तार कर लिया गया। उसकी ही निशानदेही पर नाव में बालू के नीचे छुपाकर रखे गए हथियार और गोलियों बरामद कर ली गयी।

भोजपुर से पटना तक के घाट पर गिरोह की नजर, दियारे में बनाया सेल्टर
बालू माफियाओं की नजर भोजपुर से लेकर पटना तक के घाटों पर है। इसके लिए गिरोहों द्वारा दियारे इलाके में सेल्टर भी बनाये हैं। हथियारों की खेप पकड़े जाने के दौरान पुलिस टीम को इसकी भनक लगी है। एसपी के अनुसार दियारे इलाके में बालू घाट पर वर्चस्व को लेकर माफिया गिरोहों के बीच फायरिंग की खबर मिल रही थी। हथियार की खेप आने की भी सूचना मिलती रहती थी। स्थानीय स्तर से भी इनपुट मिल रहे थे। उसे लेकर पुलिस टीम लगातार काम कर रही थी। रेकी भी की जा रही थी। इसी दौरान गुरुवार को महुई घाट के सोन नदी में नाव के सहारे किसी घटना को अंजाम दिये जाने की सूचना मिली। इस पर टीम पहुंची और हथियार से लदी नाव पकड़ ली गयी। एसपी ने बताया कि छानबीन के दौरान टीम को कई जगहों पर सेल्टर बनाये जाने की भी जानकारी मिली है। टीम में एएसपी हिमांशु के अलावे कोईलवर थानाध्यक्ष प्रवीण कुमार, अपर थानाध्यक्ष मनीष कुमार, गीधा ओपी इंचार्ज पूनम कुमारी, कोईलवर थाना के दारोगा राजकुमार यादव, जमादार धनंजय कुमार शर्मा, उदय शंकर सिंह, जवान पिंटू कुमार, मुकेश कुमार साह, अमित कुमार पासवान, सुभाष पासवान, राजू कुमार, विजेंद्र सिंह, गृहरक्षक जगत यादव, दीनानाथ सिंह, चालक सिपाही रोहित कुमार ऋषभ कुमार, सीआईटी के जवान व सहायक पुलिस अधीक्षक के अंगरक्षक शामिल थे।

Ravi Kumar & krishna kumar
Ravi Kumar & krishna kumar

राइफल और माफिया गिरोह का कनेक्शन खंगाल रही पुलिस
भोजपुर पुलिस हथियारों की खेप के साथ गिरफ्तार माफिया गिरोह के सदस्य की पुलिस कुंडली खंगालने में जुटी है। उसकी निशानदेही पूरे गिरोह और सदस्यों की भी पहचान की जा रही है। एसपी के अनुसार पकड़ा गया सदस्य का कनेक्शन भोजपुर से पटना तक गिरोह के साथ होने का अंदेशा है। लोहे की बड़ी नाव मिलने से इस बात के संकेत मिल रहे हैं। उन्होंने बताया कि इसकी जांच की जा रही है। पकड़े गये सदस्य‌ ने अपने गिरोह के सरगना और सदस्यों का नाम बताया है। एक-दो गिरोहों का नाम भी सामने आया है। उन सभी का सत्यापन कर गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं। बताया कि पिछले कुछ दिनों पहले बबुरा के समीप पुलिस ने एसटीएफ की मदद से दो हजार कारतूस बरामद किया था। हथियार व कारतूस की बरामदगी उसी सीरीज का हिस्सा है। वहीं राइफल के बारे में भी पता लगाया जा रहा है। आर्सलर नंबर से राइफल की पहचान की कोशिश की जा रही है।

MD WASIM
MD WASIM
Journalist
- Advertisment -
khabre
khabre

Most Popular