Sunday, November 27, 2022
No menu items!
Homeदेशभारतीय रेल द्वारा ‘कोविड देखभाल केंद्र‘ राज्य प्राधिकारियों को सौंपने की तैयारी

भारतीय रेल द्वारा ‘कोविड देखभाल केंद्र‘ राज्य प्राधिकारियों को सौंपने की तैयारी

पटना (डाॅ. के. कुमार)। कोविड-19 के बढ़ते खतरे को देखते हुए इस महामारी से लड़ाई में भारतीय रेल राज्यों के साथ कंधा से कंधा मिलाकर चलने को तैयार है। कोरोना से संक्रमित मरीजों के लिए पूरे भारतीय रेल में 5231 कोचों को कोविड देखभाल केंद्र के रूप में रूपांतरित किया गया है। इनमें पूर्व मध्य रेल द्वारा तैयार किए गए 269 कोचें भी शामिल हैं। इन कोचों को बेहद हल्के मामलों में उपयोग में लाया जा सकता है, जिसे केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के दिशा-निर्देश के अनुरूप ‘कोविड देखभाल केंद्रों‘ को सौंपा जा सकता है।

कोविड देखभाल केंद्र के रूप में चिह्नित

देश में 215 स्टेशनों में से 85 स्टेशनों पर रेलवे द्वारा स्वास्थ्य देखभाल सुविधाएं उपलब्ध कराया जाएगा तथा राज्य के अनुरोध पर और 130 स्टेशनों पर ये सुविधाएं उपलब्ध करायी जा सकती हैं, जहां चिकित्सक सहित अन्य आवश्यक चिकित्सा सुविधा राज्य स्वयं तय करेंगे। इस संबंध में केंद्र सरकार द्वारा राज्य सरकारों को आवश्यक दिशा-निर्देश भी जारी कर दिए गए हैं।

बिहार के 15 स्टेशनों सहित देश में 215 स्टेशन

इन 215 स्टेशनों में से बिहार राज्य के 15 स्टेशन चिह्नित किए गए हैं, जहां रेलवे/राज्य सरकार द्वारा स्वास्थ्य देखभाल सेवाएं संचालित की जा सकती है। बिहार राज्य में बरौनी, दरभंगा, जयनगर, मुजफ्फरपुर, नरकटियागंज, पटना जं., रक्सौल, सहरसा, समस्तीपुर, सीतामढ़ी, सोनपुर, जमालपुर, छपरा, सीवान एवं कटिहार सहित कुल 15 स्टेशनों पर स्वास्थ्य देखभाल सुविधाएं उपलब्ध करायी जा सकती हैं।

आरा जेल में मामूली विवाद को लेकर आपस में भिड़ गये बंदी

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देश के अनुरूप इन स्टेशनों पर पूर्व मध्य रेल द्वारा आइसोलेशन/क्वारंटाइन वार्ड के रूप में तब्दील किए जा चुके 269 रेलवे कोचों को खड़ा किया जा सकता है । ये कोच हर तरह की चिकित्सा सुविधाओं से युक्त होंगे। इनमें कोविड-19 से संक्रमित अथवा संदिग्ध मरीजों को आइसोलेशन/क्वारंटाइन करने की व्यवस्था है।

राजस्थान के कोटा से चलकर आरा पहुंची छात्र स्पेशल ट्रेन

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के दिशा-‘निदेशों के अनुरूप, राज्य सरकारें रेलवे को एक मांग पत्र भेजेगी जिसके आधार पर कोचों का आवंटन किया जाएगा। रेलवे द्वारा आवंटित किए जाने के बाद सभी चिकित्सा सुविधाओं के साथ कोचों को चयनित स्टेशनों पर खड़ा करते हुए संबंधित जिलाधिकारी अथवा उनके द्वारा प्राधिकृत अधिकारी को सौंपा जाएगा। यह जानकारी पूर्व मध्य रेल हाजीपुर के मुखःय जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने दी।

- Advertisment -
chhotki singhi firing
chhotki singhi firing
chhotki singhi firing
chhotki singhi firing

Most Popular