Sunday, May 26, 2024
No menu items!
Homeमनोरंजनबाइक पर सवार शादी करने निकला दूल्हा, रास्ते में पुलिस से मिली...

बाइक पर सवार शादी करने निकला दूल्हा, रास्ते में पुलिस से मिली नसीहत

आरा। “घोडी़ पर होके सवार, चला है दूल्हा यार.. और “आज मेरे यार की शादी है..। शादी व बारात निकलने की बात सुन ये सारे हिन्दी फिल्मी गानें याद आने लगते हैं। हर किसी की इच्छा होती है कि उसकी बारात भी इस अंदाज में निकले। दुल्हनिया को लाने घोडी़ पर सवार हो घर से निकलने और बैंड-बाजों की धुन पर झुमते बाराती चलें। लेकिन कोरोना वायरस और लॉकडाउन ने कई दल्हों की इच्छाओं पर पानी फेर दिया।

दूल्हे के चालक को बीच रोड पर करनी पड़ी उठक-बैठक, फिर साजन चले ससुराल

शुक्रवार को आरा शहर में एक ऐसा ही नजारा देखने को मिला। लॉकडाउन के कारण एक दूल्हा अपनी सजनी को लाने बाइक पर सवार होकर निकल पड़ा। लेकिन हाय रे किस्मत। बीच रास्ते में उस पर पुलिस की नजर पड़ गयी और उसे रोक दिया गया। कोर्ट-पैंट पहने व माथे पर टोपी देख पुलिस ने दूल्हे पर तो रहम दिखायी, लेकिन बाइक चला रहे युवक को उठक-बैठक करनी पड़ी। इस दौरान दूल्हे को भी कड़ी नसीहत मिली। करीब आधे घंटे के बाद दूल्हा सजनी को लाने ससुराल चल पड़ा।

Election Commission of India
Election Commission of India

लॉकडाउन की सख्ती से फीकी रही शादी

दरअसल हुआ यह कि शहर के उजियार टोला बिंद टोली निवासी चितरंजन कुमार की शादी पहले से तय थी। 1 मई का दिन निर्धारित था। तभी लॉकडाउन शुरू हो गया। इसे देखते हुये चितरंजन व उसके ससुराल वालों ने सादे माहौल में शादी करने का फैसला लिया। उसके बाद चितरंजन एक मई को सज-धजकर व बाइक पर सवार होकर शादी करने चौरी थाना क्षेत्र के डिलिया के लिये निकल पड़ा।

न बैंड-बाजा और न ही कोई बाराती, सादे माहौल में पूरी हुई शादी की रस्म

तभी पकड़ी चौक पर पुलिस द्वारा उसे रोक लिया गया। पूछताछ करने पर पूरा माजरा सामने आया। इससे पुलिस भी असमंजस में पड़ गयी। तब पुलिस ने दूल्हे को तो कुछ खास नहीं दिया, पर लॉकडाउन तोड़ने के आरोप में बाइक चालक से उठक बैठक करायी। उसके बाद दोनों को छोड़ा गया। फिर दोनों डिलिया पहुंचे और सादे माहौल में शादी की रस्म पूरी हुई। इस दौरान ना त बाराती पहुंचे और ना ही बैंड-बाजे भी बजे।

Shobhi Dumra - News
Vishnu Nagar Ara Crime
Shobhi Dumra - News
Vishnu Nagar Ara Crime
previous arrow
next arrow

सब्जी व फल के लिए 11 दुकानदार, राशन के लिए 10 एवं दवा-खाद बीज के लिए 5 दुकानदार नामित किये गये

- Advertisment -
Vikas singh
Vikas singh
Vikas singh
Vikas singh

Most Popular

Don`t copy text!