Saturday, March 6, 2021
No menu items!
Home Uncategorized महान क्रांतिकारी थे अमर सेनानी बाबू कुंवर सिंह- डॉ.अर्चना

महान क्रांतिकारी थे अमर सेनानी बाबू कुंवर सिंह- डॉ.अर्चना

संभावना स्कूल में मना वीर कुंवर सिंह विजयोत्सव

बाबू कुंवर सिंह के तैलचित्र पर माल्यार्पण तथा पुष्प अर्पित कर व्यक्त की गई श्रद्धांजलि

बिहार।आरा शहर के शुभ नारायण नगर मझौंवा स्थित संभावना आवासीय उच्च विद्यालय में गुरुवार को वीर कुंवर सिंह विजयोत्सव मनाया गया। इस दौरान विद्यालय के निदेशक डॉ. कुमार द्विजेंद्र, प्राचार्या डॉ. अर्चना सिंह तथा विद्यालय के शिक्षक- शिक्षिकाओं ने वीर बांकुड़ा बाबू कुंवर सिंह के तैलचित्र पर माल्यार्पण तथा पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि व्यक्त की। कोरोना को ध्यान में रखते हुए सामाजिक दूरी का पालनकर संक्षिप्त कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

विद्यालय की प्राचार्या डॉ. अर्चना सिंह ने कहा कि भारत के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के अमर सेनानी बाबू कुंवर सिंह एक महान क्रांतिकारी थे। उन्होंने कहा कि ब्रिटिश इतिहासकार होम्स ने उनके बारे में लिखा है कि उस बूढ़े राजपूत ने ब्रिटिश सत्ता के विरुद्ध अद्भुत विजेता और आन-बान और शान के साथ लड़ाई लड़ी। यह गनीमत था कि युद्ध के समय बाबू कुंवर सिंह की उम्र 80 वर्ष के करीब थी। अगर वे जवान होते तो अंग्रेजों को 18 57 में ही भारत छोड़ना पड़ता।

विद्यालय के निदेशक डॉ. कुमार द्विजेंद्र ने बाबू कुंवर सिंह की वीरता का बखान करते हुए कहा कि 23 अप्रैल 1858 में बाबू साहब ने जगदीशपुर के पास अपनी अंतिम लड़ाई लड़ी। ईस्ट इंडिया कंपनी के भाड़े के सैनिकों को उन्होंने पूरी तरीके से खदेड़ दिया। जगदीशपुर किले से यूनियन जैक का झंडा उतार कर अपना झंडा फहरा दिया। इस अवसर पर विद्यालय के उप प्राचार्य राघवेंद्र कुमार वर्मा, कला शिक्षक विष्णू शंकर, अभिनय गुरु ओपी कश्यप, विज्ञान शिक्षक ऋषिकेश ओझा, राधेश्याम तिवारी, मनोज कुमार पांडेय, चंदन कुमार उपाध्याय आदि अन्य शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मचारियों ने पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular