Tuesday, November 29, 2022
No menu items!
Homeस्वास्थ्यअंतरा विधि द्वारा गर्भनिरोधक: स्त्री रोग विशेषज्ञ ने बतलाया सुरक्षित

अंतरा विधि द्वारा गर्भनिरोधक: स्त्री रोग विशेषज्ञ ने बतलाया सुरक्षित

Contraception safe by Antara method: परिवार नियोजन कार्यक्रम के अंतर्गत प्रशिक्षण शिविर का आयोजन

खबरे आपकी बिहार आरा। बिहार राज्य स्वास्थ्य समिति के द्वारा परिवार नियोजन कार्यक्रम के अंतर्गत एक प्रशिक्षण शिविर का आयोजन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया गया। इसमें पीएमसीएच की स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. रामी सेठ एवं डॉ. राजेश मजुदार के द्वारा विशेष रुप से परिवार कल्याण के लिए अंतरा विधि द्वारा गर्भनिरोधक के बारे में विस्तृत चर्चा की गई।

गर्भनिरोधक अंतरा की इंजेक्शन तीन-तीन महीने पर दी जाती है, जिसके तहत गर्भधारण की संभावना नगण्य हो जाती है तथा ये सूई बंद करने के बाद भी करीब 7 से 10 महीने तक गर्भधारण की संभावना नहीं रहती है। यह सुई बहुत ही सुरक्षित है तथा मामूली साइड इफेक्ट के बाद भी काफी प्रभावी एवं ग्राह्य है।

प्रशिक्षण कार्यक्रम में एसीएमओ डॉ. केएन सिन्हा, डीएचएस के शशि, केयर इंडिया से दिव्या एवं सदर अस्पताल की अंजनी कुमारी ने प्रशिक्षण प्राप्त किया।

Contraception safe by Antara method: डॉ. केएन सिन्हा ने कहा जनसंख्या नियंत्रण जरूरी

Contraception safe by Antara method

एसीएमओ डॉ. केएन सिन्हा ने बताया कि हमारे यहां परिवार नियोजन और परिवार कल्याण कार्यक्रम के लिए गर्भनिरोधक बहुत से उपाय हैं। जैसे कंडोम, माला एन, छाया गोली, ईसी पिल्स और आईयूडी कापर-टी, इन तमाम उपायों में से लाभार्थी के स्थिति एवं उनकी इच्छा के अनुसार गर्भनिरोधक सामग्री दी जाती हैं।

डॉ. सिन्हा ने बताया कि उन्हें बिस्तार में समझाया जाता है, ताकि दो बच्चों के बीच में एक निश्चित अंतराल बना रहे या फिर 2 बच्चों के बाद भी लंबे समय तक गर्भधारण से बचा जा सके और अंत में तो बंध्याकरण पुरुष एवं स्त्री में ऑपरेशन की भी सुविधा सदर अस्पताल सहित हर पीएससी में है। रोज यह ऑपरेशन किए जा रहे हैं। आम जनता से अनुरोध है कि जनसंख्या नियंत्रण के लिए इन सारे गर्भनिरोधक उपायों का अपनी इच्छा एवं स्थिति के अनुसार अपना कर देश के उन्नति में सहयोग करें।

MD WASIM
MD WASIM
Journalist
- Advertisment -

Most Popular