Monday, August 8, 2022
No menu items!
HomeNewsबिहारआपात स्थिति में डायल करें 112, मदद को तुरंत पहुंचेगी पुलिस

आपात स्थिति में डायल करें 112, मदद को तुरंत पहुंचेगी पुलिस

आपात स्थिति में डायल करें 112, मदद को तुरंत पहुंचेगी पुलिस
आज से शुरू होगा इमरजेंसी रिस्पांस सपोर्ट सिस्टम
भोजपुर पुलिस को इमरजेंसी सपोर्ट सिस्टम के तहत मिले 10 वाहन
डीसीसी और ईआरवी के संचालन के लिए पुलिस अफसर एवं जवान तैनात
आरा। अगर आपको आपात स्थिति में कोई भी मदद चाहिये, तो आप 112 नंबर पर डायल कीजिये| पुलिस तुरंत आपकी मदद के लिए पहुंचेगी| इसके लिए पुलिस का इमरजेंसी रिस्पांस सपोर्ट सिस्टम तैयार है| गुरुवार से भोजपुर में इस सेवा के शुरू होकी संभावना जताई जा रही है| इसे लेकर भोजपुर पुलिस को दस वाहन मिल गये हैं| वहीं जिला समन्वय केंद्र (डीसीसी) भी बन गया है| डीसीसी और इमरजेंसी रिस्पांस व्हीकिल (ईआरवी) के संचालन के लिए अफसर और जवानों को प्रतिनियुक्त भी कर दिया गया है। कहा जा रहा है कि गुरुवार को एसपी संजय कुमार सिंह की ब्रीफिंग के बाद यह सेवा शुरू की जायेगी। बता दें कि भोजपुर सहित सूबे में किसी भी आपात स्थिति में आम नागरिकों को मदद करने के लिये पुलिस द्वारा इमरजेंसी रिस्पांस सपोर्ट सिस्टम सेवा शुरू किया जा रहा है। इसके तहत नागरिकों को इमरजेंसी में 112 नंबर पर डायल करना होगा। उस नंबर पर कॉल आते ही रिस्पांस वाहन मौके पर पहुंच मदद में जुट जायेगी। यह सिस्टम साल के 365 दिन और 24 घंटे एक्टिव रहेगा। जानकारी के अनुसार बिहार पुलिस रेडियो मुख्यालय में इमरजेंसी रिस्पांस सपोर्ट सिस्टम का कंट्रोल रूम तैयार किया गया है। राज्य में कहीं से भी कॉल किए जाने पर कंट्रोल रूम के कर्मी इसे जरूरत के हिसाब से पुलिस, अस्पताल या फायर ब्रिगेड को ट्रांसफर कर देंगे।

इमरजेंसी रिस्पांस व्हीकिल में तैनात किये गये अफसर और तीन जवान
ईआरएसएस यानी इमरजेंसी रिस्पांस सपोर्ट सिस्टम 24 घंटे सक्रिय रहेगी। इमरजेंसी कॉल आते ही टीम स्पाट की ओर रवाना हो जायेगी। इसके लिये मुख्यालय की ओर से भोजपुर सहित हर जिले को दस वाहन उपलब्ध कराये गये हैं। हर वाहन में एक अफसर, तीन जवान और एक चालक तैनात किये गये हैं। अफसर और जवान दो पाली में ड्यूटी करेंगे। जिले में इन वाहनों को दस थानों से जोड़ा गया है। इनमें नगर, नवादा, मुफस्सिल के अलावे कोईलवर, पीरो, बिहिया, जगदीशपुर, सहार, शाहपुर और बड़हरा थाने शामिल हैं। इन वाहनों के लिये थानों के लोकेशन भी चिन्हित किये गये हैं। जिला समन्वय केंद्र में दारोगा स्तर के दो अफसर और चार जवान तैनात किये गये हैं।

112 पर डायल करने पर मिलेगी हर इमरजेंसी सेवा में मदद
इमरजेंसी रिस्पांस सिस्टम लांच होने के बाद अब हर इमरजेंसी सेवा के लिए एक ही नंबर 112 डायल करना होगा। दरअसल, राज्य में अभी अलग-अलग इमरजेंसी सेवाओं के लिए अलग-अलग नंबर हैं। जैसे पुलिस के लिए 100, फायर ब्रिगेड के लिए 101 और एंबुलेंस के लिए 102 इमरजेंसी नंबर डायल करना होता है। इमरजेंसी रिस्पांस सिस्टम लांच होने के बाद इमरजेंसी सेवा के लिए एक ही नंबर 112 डायल करना होगा। इससे नागरिकों को काफी सहूलियत होगी।

MD WASIM
Journalist
- Advertisment -

Most Popular