Monday, December 5, 2022
No menu items!
Homeअन्यचर्चित खबरबालू में छुपा कर रखी इंसास राइफल बरामद

बालू में छुपा कर रखी इंसास राइफल बरामद

  • हाईलाइट
    • झारखंड के सीआरपीएफ कैंप से चोरी गया दोनों इंसास राइफल भोजपुर से बरामद
    • नारायणपुर के सितुहारी गांव स्थित सस्पेंड फौजी के घर के पास से मिले हथियार
    • इंसास ले भागने में इस्तेमाल कार बरामद, चालक फरार
    • कैंप से इंसास राइफल लेकर भागने वाले रिटायर फौजी की तलाश

खबरे आपकी/आरा: झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम जिले चाइबासा आदित्यपुर सीआरपीएफ कैंप से चोरी गयी दोनों इंसास रायफल भोजपुर से (INSAS Rifle in Situhari village) बरामद कर ली गयी। इंसास लेकर भागने में इस्तेमाल कार भी जब्त की गयी है। हालांकि राइफल लेकर भागने वाला फौजी और कार के चालक अभी तक पकड़ में नहीं आ सका। आरोपित फौजी नारायणपुर थाना क्षेत्र के सितुहारी गांव का रहने वाला सिद्धेश्वर राय का पुत्र रोहित कुमार उर्फ सहदेव है। कार का चालक भी उसी गांव का निवासी परमल यादव है। इंसास राइफल की बरामदगी फौजी के घर के पीछे से की गयी है। दोनों राइफल झाड़ीनुमा जगह पर बालू में छुपा कर रखी गयी थी।

एसपी संजय कुमार सिंह द्वारा शनिवार को प्रेस कांफ्रेंस कर यह जानकारी दी गयी। उन्होंने बताया कि सितुहारी गांव निवासी फौजी चार रोज पहले चाइबासा आदित्यपुर सीआरपीएफ कैंप से दो इंसास रायफल लेकर भाग गया था। झारखंड पुलिस की सूचना पर राइफल की बरामदगी और आरोपित फौजी की गिरफ्तारी को लेकर पीरो एसडीपीओ राहुल सिंह के नेतृत्व में टीम गठित की गयी थी। टीम द्वारा दो दिन पहले सितुहारी गांव से कार बरामद की गयी। शुक्रवार की रात सूचना मिली कि इंसास फौजी के घर के पीछे छुपा कर रखी गयी है। उस आधार पर टीम द्वारा छापेमारी कर राइफल बरामद कर ली गयी। एसपी ने बताया कि फौजी और चालक की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी की जा रही है। टीम में अगिआंव सर्किल इंस्पेक्टर धर्मेंद्र कुमार, नारायणपुर थानाध्यक्ष नीता कुमारी और दारोगा रामयश आर्य शामिल थे।

INSAS Rifle in Situhari village: फौजी की तलाश में आरा से सितुहारी सहित सात जगहों पर छापेमारी

INSAS Rifle in Situhari village

एसपी के अनुसार चाइबासा के आदित्यपुर सीआरपीएफ (157 बटालियन) कैंप के कोत (आर्म्स गार्ड) का शीशा तोड़ दो इंसास राइफल की चोरी की गयी थी। उसे लेकर सितुहारी गांव निवासी फौजी रोहित कुमार उर्फ सहदेव के खिलाफ नौ नवंबर को प्राथमिकी दर्ज की गयी थी। सीसीटीवी फुटेज में फौजी को राइफल लेकर भागते देखा गया था। तकनीकी जांच के आधार पर झारखंड पुलिस को फौजी के इंसास लेकर बिहार की ओर भागने की सूचना मिली थी। उसके आधार पर झारखंड पुलिस की ओर से सूचना दी गयी थी। उसकी खोज में झारखंड पुलिस की एक टीम भी आरा पहुंची थी। उसके बाद पीरो एसडीपीओ के नेतृत्व में टीम गठित कर छापेमारी शुरू की गयी। इस दौरान आरा शहर से सितुहारी सहित फौजी के सात ठिकानों पर छापेमारी की गयी। उसी क्रम में पहले सितुहारी गांव से कार और फिर दोनों राइफल बरामद कर ली गयी।

अनुशासनहीनता में फौजी के खिलाफ चल रही विभागीय कार्रवाई
पुलिस के अनुसार इंसास राइफल लेकर फरार फौजी रोहित कुमार पूर्व में आदित्यपुर स्थित सीआरपीएफ कैंप में तैनात था। वह नशे का आदी भी बताया जा रहा है। उसके द्वारा पूर्व में कई बार अधिकारियों के साथ दुर्व्यवहार किया था। उसके बाद उसे निलंबित कर दिया गया था। उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई चल रही है। इस बीच करीब चार रोज पहले वह कैंप में घुस गया और कोत का शीशा तोड़ दो इंसास राइफल लेकर भाग गया।

गलत हाथ में जाने से बचा इंसास रायफल
INSAS Rifle in Situhari village:इंसास रायफल की चोरी और भोजपुर में छुपाकर रखे जाने की सूचना से पुलिस की नींद हराम हो गयी थी। इंसास जैसे आधुनिक हथियार के गलत हाथ में जाने की आशंका से पुलिस परेशान थी। इसे लेकर पुलिस ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही थी। ऐसे में राइफल की बरामदगी से पुलिस ने राहत की सांस ली है। बताते चलें कि भोजपुर में फिलहाल बालू माफियाओं सक्रिय हैं। बालू घाट और इलाके में वर्चस्व को लेकर माफियाओं में आधुनिक हथियार रखने की होड़ भी है। ऐसे में बालू माफियाओं बड़ी कीमत पर भी इंसास हथिया सकते थे। पुलिस इस बात से काफी परेशान थी। सूत्रों के अनुसार फौजी के कुछ करीबी भी बालू के धंधे में जुटे हैं। ऐसे में पुलिस राइफल बरामदगी से काफी गदगद है।

KRISHNA KUMAR
KRISHNA KUMAR
Journalist
- Advertisment -
Khabre Apki
Mantu Sonar Murder
Khabre Apki
Mantu Sonar Murder

Most Popular