Sunday, July 14, 2024
No menu items!
Homeबिहारआरा लोकसभामासूम बच्ची की मौत के बाद परिजनों ने किया रोड जाम व...

मासूम बच्ची की मौत के बाद परिजनों ने किया रोड जाम व हंगामा

Mahavir Tola Ara Hospital: मृत बच्ची आरा नवादा थाना क्षेत्र के जवाहर टोला निवासी अजय कुमार की 5 वर्षीया पुत्री शिवानी कुमारी है। मृत बच्ची के बड़े पापा नागदेव पासवान ने बताया कि गुरुवार की रात उसकी थोड़ी तबीयत खराब हो गई थी, उसे इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया था।

  • हाइलाइट
    • आरा टाउन थाना क्षेत्र के महावीर टोला स्थित निजी अस्पताल में शुक्रवार की रात घटी घटना
    • परिजन ने इलाज में लापरवाही बरतने के कारण बच्चे की मौत होने का लगाया आरोप
    • मौके पर पहुंच मामले की छानबीन में जुटी पुलिस

Mahavir Tola Ara Hospital: आरा शहर के टाउन थाना क्षेत्र के महावीर टोला स्थित निजी अस्पताल में शुक्रवार की रात मासूम बच्ची की मौत हो गई। इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया। बच्ची की मौत की खबर मिलते ही परिजनों का आक्रोश भड़क उठा। परिजनों ने निजी क्लीनिक में जमकर हंगामा किया।

हंगामे के दौरान परिजनों ने मृत बच्ची के शव को महावीर टोला स्थित सड़क पर बीचो-बीच रख सड़क जाम कर दिया। सड़क जाम होने के कारण आवागमन पूरी तरह ठप्प हो गया।

सूचना पाकर टाउन थानाध्यक्ष संजीव कुमार घटनास्थल पर पहुंचे और मृत बच्ची के परिजनों को समझाने बुझाने लगे। पुलिस के काफी मशक्कत करने बाद करीब एक घंटे बाद जाम को हटवाया गया। इसके बाद परिजन उसके शव को वापस घर ले गए।

जानकारी के अनुसार मृत बच्ची नवादा थाना क्षेत्र के जवाहर टोला निवासी अजय कुमार की 5 वर्षीया पुत्री शिवानी कुमारी है। मृत बच्ची के बड़े पापा नागदेव पासवान ने बताया कि गुरुवार की रात उसकी थोड़ी तबीयत खराब हो गई थी, उसे इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया था। जहां इलाज चलने के बाद अहले सुबह करीब 4 बजे उसे रेफर कर दिया गया।

दलाल द्वारा उसे महावीर टोला स्थित निजी अस्पताल में लाया गया। जहां उसे भर्ती कर इलाज किया जा रहा था। इसके बाद वहां कंपाउंडर द्वारा कहा गया कि पैसा जमा कीजिए। जिसके बाद परिजनों द्वारा 8 हजार रुपया जमा किया गया।

पैसा जमा करने के बाद परिजन लगातार अपनी बच्ची की हाल जानने के लिए उनसे पूछ रहे थे, कि मेरी बच्चे ठीक है, जिसके बाद कंपाउंडर द्वारा बराबर यही जवाब दिया जा रहा था कि आपकी बच्ची बिल्कुल ठीक है। 24 घंटे के अंदर बच्ची अपने घर सही सलामत जाएगी। लेकिन उसका इलाज सिर्फ कंपाउंडर द्वारा ही किया जा रहा था। इस दौरान उसे देखने कोई चिकित्सक नही पहूंचा। इसी बीच शुक्रवार की रात उसकी मौत हो गई।

वहीं दूसरी ओर मृत बच्ची के बड़े पापा नागदेव पासवान ने निजी क्लिनिक में मौजूद उक्त कंपाउंडर एवं चिकित्सक पर इलाज में लापरवाही बरतने के कारण उसकी मौत होने का आरोप लगाया है। हालांकि पुलिस अपने स्तर से मामले की छानबीन कर रही है।

बताया जाता है कि मृत बच्ची अपने तीन बहनों में दूसरे स्थान पर थी एवं आंगनबाड़ी में पढ़ती थी। मृत बच्ची के परिवार में मां प्रियंका देवी व दो बहन मधु कुमारी एवं रिया कुमारी है। घटना के बाद मृत बच्ची के घर में कोहराम मच गया है। मृत बच्ची की मां प्रियंका देवी एवं परिवार के सभी सदस्यों का रो-रोकर बुरा हाल है।

MD WASIM
MD WASIM
Journalist
- Advertisment -
Tarari Bhojpur - News - स्कूल कैंपस में लगे पेड़ व दीवार पर गिरी आकाशीय बिजली, डेढ़ दर्जन छात्राएं घायल
Ara Crime - CCTV of Firing - आरा में फायरिंग का सीसीटीवी वीडियो
Tarari Bhojpur - News - स्कूल कैंपस में लगे पेड़ व दीवार पर गिरी आकाशीय बिजली, डेढ़ दर्जन छात्राएं घायल
Ara Crime - CCTV of Firing - आरा में फायरिंग का सीसीटीवी वीडियो

Most Popular