Wednesday, April 24, 2024
No menu items!
HomeNewsबिहारभोजपुर में युवक की नृशंस हत्या: आक्रोशित लोगों ने आरा-पटना मुख्य मार्ग...

भोजपुर में युवक की नृशंस हत्या: आक्रोशित लोगों ने आरा-पटना मुख्य मार्ग किया जाम

Murder of young man in gidha: घटना कोईलवर थाना क्षेत्र के गीधा ओपी अंतर्गत गीधा गांव के औद्योगिक क्षेत्र रब्बर फैक्ट्री के पास

  • एएसपी हिमांशु मौके पर पहुंचे और लोगों को समझाकर सड़क जाम हटवाया
  • मृतक औरंगाबाद जिले के नगर थाना क्षेत्र के महुआ शहीद निवासी

Bihar/Ara: भोजपुर में लोहे के रॉड से पीटकर एवं उसके बाद रस्सी से गला घोंटकर युवक की नृशंस हत्या का मामला फैलते ही लोगों का गुस्सा भड़क उठा। कबाड़ व्यवसायी की शव को सड़क के बीचों बीच रखकर आरा-पटना मुख्य मार्ग गीधा गांव के पास रोड जाम कर दिया। घटना कोईलवर थाना क्षेत्र के गीधा ओपी अंतर्गत गीधा गांव के औद्योगिक क्षेत्र रब्बर फैक्ट्री के पास रविवार की है। सूचना मिलते ही एएसपी हिमांशु मौके पर पहुंचे और लोगों को समझाकर सड़क जाम हटवाया। मृतक औरंगाबाद जिले के नगर थाना क्षेत्र के महुआ शहीद निवासी मानिक चंद गुप्ता के 35 वर्षीय पुत्र जय प्रकाश उर्फ डब्लू है। जय प्रकाश गीधा गांव में करीब 8 वर्षों से रहकर कबाड़ी व्यवसाई का काम करता था।

23
23

Murder of young man in gidha:परिजनों ने किसी से दुश्मनी की आशंका नहीं जताई

इधर, जय प्रकाश के बहनोई अरुण कुमार ने बताया कि कल रात करीब दस बजे के आस-पास किसी दोस्त का फोन आने के बाद वो बाहर चला गया। करीब डेढ़-दो घंटे बीत जाने के बाद वापस घर नहीं लौटा तो उसके मोबाइल पर फोन किया गया। लेकिन डब्लू ने फोन रिसीव नहीं किया। उसके बाद रात भर खोजबीन करने के बाद उसका कुछ पता नहीं चल पाया तो हमलोगों ने स्थानीय थाना को सूचना दी। पुलिस को औद्योगिक क्षेत्र के रहने वाले ग्रामीणों ने इसकी सूचना रविवार सुबह दी। वहीं, जयप्रकाश के परिजनों ने किसी से दुश्मनी की आशंका नहीं जताई है। लेकिन उसकी नृशंस हत्या के पीछे पुरानी अदावत की भी बात सामने आ रही है। घटना के बाद स्थानीय थाना पुलिस मौके पर पहुंची और शव को आरा सदर अस्पताल में पोस्टमाॅर्टम करवाया।

वहीं, एएसपी हिमांशु ने बताया कि एक 35 वर्षीय की लाठी-डंडे से मारकर और रस्सी से गला घोंटकर उसकी हत्या कर शव को फेंक दिया गया था। परिजन अभी किसी पर आरोप नहीं लगा रहे हैं। लेकिन घटनास्थल पर पहुंचकर पूरे मामले की छानबीन में जुट गए हैं। जयप्रकाश करीब 8 वर्षों से अपने कबाड़ी गोदाम के पीछे किराए के मकान में पत्नी सुमन देवी, एक पुत्र सूरज व एक पुत्री सुप्रिया और अन्य लोगों के साथ रहता था। अपनी तीन बहन मीरा देवी, गुड़िया देवी, रानी देवी और तीन भाई ओम प्रकाश गुप्ता, मंटू गुप्ता से तीसरे स्थान पर था।

- Advertisment -
Vikas singh
Vikas singh
sambhavna
aman singh

Most Popular

Don`t copy text!