Sunday, March 7, 2021
No menu items!
Home अन्य जो मन से शुद्ध है, वहीं बुद्ध है-आदित्या श्रीवास्तव

जो मन से शुद्ध है, वहीं बुद्ध है-आदित्या श्रीवास्तव

Aditya Srivastava
Aditya Srivastava

नृत्य नाटिका “आम्रपाली” का ऑनलाइन कन्वर्सेशन में हुआ प्रसारण

आरा (डाॅ. के कुमार)। भगवान बुद्ध की जयंती के अवसर पर शिवादि क्लासिक सेंटर ऑफ आर्ट एंड म्यूजिक के स्टूडियो से प्रोफेसर श्याम मोहन अस्थाना द्वारा लिखित एवं गुरु बक्शी विकास द्वारा निर्देशित नृत्य नाटिका “आम्रपाली” का ऑनलाइन कन्वर्सेशन में प्रसारण किया गया। विभिन्न ऐप के माध्यम से लगभग एक हजार से भी अधिक लोगों ने इस लाइव प्रसारण का आनंद लिया।

कन्वर्सेशन में कलाकारों ने कोरोना को लेकर हुये इस लॉकडाउन में आगामी सांस्कृतिक गतिविधियों को लेकर चिंता जताई। प्रो. लालबाबू निराला ने कहा कि इस कोरोना के प्रभाव से नुक्कड़ के मंच से लेकर सभागार तक बंद पड़े हैं। लॉकडाउन समाप्त होने के बाद भी अब सांस्कृतिक कार्यक्रम देखने के लिये सभागार तक पहुंचने में लोगों को काफी वक्त लगेगा। गुरु विकास ने कहा कि संगीत प्रकृति की देन हैं। आज कोरोना से इंसान प्रभावित है किंतु प्रकृति नही। ऑनलाइन के माध्यम से आज की कलाकार अपनी कला का प्रदर्शन कर रहे हैं।

भगवान बुद्ध की जयंती के अवसर पर किया गया प्रसारण

कथक नृत्यांगना आदित्या श्रीवास्तव ने कहा कि बुद्ध को जीवन में उतारने मन का शुद्ध होना ज़रूरी है। क्योंकि जो शुद्ध है। वहीं बुद्ध है। गौरतलब है कि बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर प्रसारित इस नृत्य नाटिका को देखते हुये कई लोगों की ऑनलाइन प्रतिक्रिया भी आई। जयपुर घराने के अंतरराष्ट्रीय ख्यातिलब्ध कथक गुरु पंडित चरण गिरधर चांद ने कहा कि आरा जैसे कस्बाई क्षेत्र से ऑनलाइन का कार्य प्रेरणादायक है।

बीना चालान के पकड़े गए बालू लदे वाहनों व मालिको पर प्राथमिकी

शिवादि की निदेशक आदित्या श्रीवास्तव अभी दस एपिसोड के संगीत का ऑनलाइन कार्यक्रम ‘नारी साधिका’ का भी संचालन कर रही हैं, जिसमें राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय महिला कलाकारों के संगीत नृत्य की प्रस्तुति होती है आगामी 13 मई को मातृ दिवस के अवसर पर एक खास कार्यक्रम का भी प्रसारण किया जायेगा।

ON LINE

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular