Saturday, January 28, 2023
No menu items!
HomeNewsCrimeभोजपुर पुलिस की मिली कामयाबी

भोजपुर पुलिस की मिली कामयाबी

नौ माह, आठ फेज और पुलिस ने ढूंढ निकाले 369 गायब मोबाइल

भोजपुर पुलिस की मिली कामयाबी:

26 January Republic Day
26 January Republic Day
kids

आठवें फेज में बरामद किए गये 40 एंड्रॉयड मोबाइल

पुलिस कार्यालय में रविवार को एसपी द्वारा सभी धारकों को सौंपा गया मोबाइल

15 अगस्त 2021 को शुरू किया गया था मोबाइल की बरामदगी का अभियान

आरा। भोजपुर पुलिस की मोबाइल बरामदगी अभियान को दिन प्रतिदिन कामयाबी मिल रही है। अभियान के आठवें फेज में पुलिस द्वारा गायब 40 एंड्रॉयड मोबाइल बरामद किया गया है। सारी कानूनी प्रक्रिया पूरी करने के बाद रविवार को एसपी संजय कुमार सिंह द्वारा पुलिस कार्यालय में धारकों को उनका मोबाइल सौंप दिया गया। अभियान के दौरान पुलिस की ओर से अबतक 369 गायब मोबाइल बरामद कर ली गयी है। इससे पहले सातवे फेज में भी 65 मोबाइल बरामदगी किये गये थे। बताते चले कि आम लोगों के लूट, चोरी और गायब मोबाइल की बरामदगी को लेकर एसपी द्वारा पिछले साल अगस्त माह से ही तीन अलग-अलग टीम गठित की गयी थी। उसके बाद से ही टीम लगातार काम कर रही है। उन्होंने कहा कि यह अभियान आगे भी लगातार चलता रहेगा। एसपी ने टीम के अफसरों की सराहना की और सम्मानित करने की बात कही। टीम में गजराजगंज ओपी इंचार्ज चंदन कुमार, धोबहां ओपी इंचार्ज सुशांत कुमार, सिन्हा ओपी इंचार्ज राजीव कुमार और खवासपुर ओपी इंचार्ज दीपक कुमार तथा डीआईयू के जवान अमित कुमार सिन्हा शामिल है।

आईएमईआई नंबर के सहारे पुलिस खोज रही मोबाइल
आरा। एसपी संजय कुमार सिंह ने बताया कि वैज्ञानिक और तकनीकी तरीके से मोबाइल को खोजबीन की जाती है। कहा कि टीम सबसे पहले विभिन्न थानों में दर्ज मोबाइल संबंधी घटना की जानकारी एकत्रित करती है। इस दौरान मोबाइल के आईएमईआई नंबर लेने के बाद बरामदगी में जुट जाती है। बरामद मोबाइल के स्वामित्व का सत्यापन कर धारकों को सौंप दिया जाता है। इससे पहले सारी कानूनी प्रक्रिया पूरी की जाती है। मोबाइल कोर्ट से रिलीज भी कराया जाता है। ताकि मोबाइल धारकों को किसी तरह की परेशानी नहीं हो।

फेज के साथ बढ़ती जा रही मोबाइल बरामदगी की संख्या
आरा। 15 अगस्त 2021 को भोजपुर के तत्कालीन एसपी की ओर से शुरू अभियान के तहत अबतक 369 मोबाइल बरामद किये गये हैं। फेज के अनुसार मोबाइल बरामदगी की जा रही है। अबतक आठ फेज पूरे हो चुके हैं। वहीं फेज के साथ मोबाइल मिलने की संख्या भी बढ़ती जा रही है। बता दें कि 19 जून 22 तक आठवें फेज में 40 मोबाइल मिले हैं। वही सातवें फेज में 65 मोबाइल मिले थे।। फरवरी माह में संपन्न छठवें फेज में 60 मोबाइल बरामद किये गये थे। उससे पहले पांचवें फेज में 31 जनवरी को 50, जबकि चौथे फेज 31 दिसंबर को भी पुलिस ने 40 लोगों के मोबाइल खोज कर लौटाये गये थे। तीसरे फेज में भी 40 मोबाइल बरामद किये गये थे।

नौ माह बाद मिला मोबाइल, तो चेहरे पर दिखी खुशी
आरा। काफी दिनों बाद गायब मोबाइल मिलने से धारकों में गजब की खुशी देखी गयी। मोबाइल लेने एसपी अॉफिस पहुंचे लोगों का कहना था कि यह उम्मीद से बढ़कर है। अब मोबाइल या बाइक चोरी जाने का डर नहीं रहा। शहर के महाराजा हाता निवासी अंश कुमार सिंह ने बताया अक्टूबर 2021 इसमें उन्होंने मोबाइल खरीदा था‌, उनकी भाभी आरण्य देवी मंदिर में पूजा करने गई थी। इसी दरमियान झपटा मार गिरोह के सदस्यों ने मोबाइल छीन लिया। 9 माह बाद मोबाइल मिलने से घर के सभी सदस्य खुश हैं।

मोबाइल व बाइक बरामदगी अभियान से पुलिस-पब्लिक का रिश्ता मजबूत
आरा। भोजपुर पुलिस मोबाइल और बाइक बरामदगी अभियान के जरिये आम पब्लिक से जुड़ने का प्रयास कर रही है। इससे पुलिस पब्लिक के साथ मैत्री संबंध को मतबूती देने में जुटी है। एसपी संजय कुमार सिंह ने बताया कि इस अभियान के तहत उन्हें अधिक से लोगों से जुड़ने का मौका मिल रहा है। यह कम्यूनिटी पुलिसिंग में भी काफी मददगार साबित होगी। पुलिस ने इस माध्यम से पब्लिक को एक खास मैसेज दिया है। एसपी ने कहा कि उनका उद्देश्य सिर्फ मोबाइल की बरामदगी करना नहीं, बल्कि चोरों को पकड़ना और इस प्रक्रिया की आखिरी कड़ी को सफलतापूर्वक पूरा करना है।

MD WASIM
MD WASIM
Journalist
- Advertisment -
एवं बसंत पंचमी की शुभकामनाएं
एवं बसंत पंचमी की
khabreapki-youtube
khabreapki-youtube

Most Popular