Saturday, February 27, 2021
No menu items!
Home Uncategorized आइल हितई में उ दु चार दिन खाती बाकी हलफा मचा के...

आइल हितई में उ दु चार दिन खाती बाकी हलफा मचा के गइल- कोरोना दमाद

“आइल हितई में उ दु चार दिन खाती बाकी हलफा मचा के गइल”ये भोजपुरी गाना तब काफी लोकप्रिय हुआ था।लेकिन एक बार फिर भोजपुर वासियों के लिए ये गाना शाहपुर प्रखंड के कारनामेपुर बाजार से सटे गांव वंशीपुर में आये एक दमाद ने चरितार्थ कर दिया है।जब वो कोरोना पॉजिटिव पाया गया और एकाएक गांव सहित पूरे क्षेत्र व भोजपुर प्रशासन में हलफा मच गया। अब त लोग बरबस ही ये गाना गुनगुना रहे है”आइल हितई में उ दु चार दिन खाती बाकी हलफा मचा के गइल”

सत्यकाम आनंद को दसवें दादा साहेब फाल्के फिल्म फेस्टिवल-2020 में मिला बेस्ट एक्टर का खिताब

जगदीशपुर प्रखंड के दिउल गांव के कोरोना पॉजिटिव निवासी ने शाहपुर के कारनामेपुर बाजार से सटे गांव वंशीपुर में आकर करीब तीन सौ लोगो के बीच हड़कंप मचा दिया है। ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार वंशीपुर गांव के एक श्राद्ध कर्म के दौरान भोज में कोरोना पॉजिटिव रिश्तेदार युवक ने लोगो को खाना खिलाया था। लोगो के अनुसार कोरोना पॉजिटिव युवक ने रसगुल्ला परोसा था।

भारतीय रेल के सभी मुख्यालयों तथा कारखाना इकाइयों में शत-प्रतिशत योगदान देने वाला पहला क्षेत्रीय रेल बना पूर्व मध्य रेल

अब जब युवक के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई तो श्राद्ध भोज में शामिल रसगुल्ले का स्वाद लेने वाले लोगो मे दहशत फैल गई है। रसगुल्ले खाने वाले अब भयाक्रांत है। ऐसे में भोज में शामिल वैसे लोगो पर संक्रमित होने का खतरा बढ़ गया है जो लोग उसके संपर्क में आये थे। रसगुल्ले खानेवाले लोगों के बीच दहशत के साथ बेचैनी की भी जानकारी सूत्रों से मिल रही है।अब त लोग बस इतना ही कह रहें “आइल हितई में उ दु चार दिन खाती बाकी हलफा मचा के गइल”

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular