Wednesday, July 8, 2020
No menu items!
Home मनोरंजन ईद के मौके पर शाहरुख खान के 10 डायलॉग,जिसमे जीवन के समस्या...

ईद के मौके पर शाहरुख खान के 10 डायलॉग,जिसमे जीवन के समस्या का है समाधान

फेसबुक पेज (खबरें आपकी)

खबरें आपकी:- ईद के मौके पर शाहरुख खान के 10 डायलॉग,जिसमे जीवन के समस्या का समाधान दिखाई देता है।एसआरके यानी शाहरुख खान, एक भारतीय फिल्म अभिनेता जिन्हें अन्य भी कई नामो से जाना जाता है जैसे “बॉलीवुड का बादशाह”, “किंग ख़ान”, “रोमांस किंग” और किंग ऑफ़ बॉलीवुड नामों से इन्हें जाना जाता है,और ये नाम दिया है इनके चाहनेवालों ने,मीडिया ने।

चार नामजद सहित 30-40 अज्ञात लोगों के खिलाफ पुलिस ने दर्ज की प्राथमिकी-

इनके हर एक सुपर हिट फिल्म के साथ प्रशंसकों व मीडिया के विश्लेषण में फिल्मी नामांकनों का अवार्ड बढ़ता गया।फिल्म उद्योग में उनके योगदान के लिये उन्होंने तीस नामांकनों में से चौदह फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार जीते हैं।2005 में भारत सरकार ने उन्हें भारतीय सिनेमा के प्रति उनके योगदान के लिए पद्म श्री से सम्मानित किया। दो नवम्बर उन्नीस सौ पैंसठ को जन्मे शाहरुख खान के 10 डायलॉग, जिसमे जीवन के समस्या का समाधान भी दिखाई देता है।

भूखे, प्यासे श्रमिकों ने सेवा करने वालो युवाओं को कहा ये है वास्तविक कोरोना योद्धा

  1. जब मन निराश हो-‘हार के जीतने वाले को ही बाज़ीगर कहते हैं’
  2. अगर कभी बड़ी गलती हो जाती है:- ‘बड़े-बड़े शहरों में ऐसी छोटी-छोटी बातें होती रहती है’
  3. और आपके सपने जब पूरे होते है:- ‘कहते हैं अगर किसी चीज़ को दिल से चाहो, तो पूरी कायनात उसे तुमसे मिलाने कि कोशिश करती हैं।
  4. जब निराशा मन दुविधा में हो:-आज एक और हंसी बाँट लो, आज एक और दुआ मांग लो, आज एक और आँसू पी लो, आज एक और ज़िंदगी जी लो, आज एक और सपना देख लो, आज … क्या पता कल हो, ना हो।’
  5. जब प्यार में दिल टूटे – ‘हम एक बार जीते हैं, एक बार मरते हैं, शादी भी एक बार होती है, और प्यार भी एक बार ही होता है।’
  6. जब सरकारी अधिकारी धाक जमाये – ‘डोंट अंडरएस्टिमेट द पावर ऑफ अ कॉमन मैन’
  7. जब घोर निराशा दिखाई दे – ‘पिक्चर अभी बाकी है मेरे दोस्त’
  8. जब आप हार जाते है – ‘दुनिया में दो तरह के लोग होते हैं, विनर और लूजर। लेकिन ज़िंदगी हर लूजर को एक मौका ज़रूर देती हैं, जिसमे वह विनर बन सकता हैं।’
  9. जब आगे के रास्ते असमंजस पैदा करे – ‘ज़िंदगी में अगर कुछ बनना हो, कुछ हासिल करना हो, कुछ जीतना हो, तो हमेशा दिल कि सुनो। और दिल कोई भी जवाब ना दे तो, आँखें बंद करके अपनी माँ और पापा का नाम लो। फिर देखना हर मंज़िल पार कर जाओगे, हर मुश्किल आसान हो जाएगी। जीत तुम्हारी होगी, सिर्फ तुम्हारी।’
  10. और अंतिम में जब मुंहमियाँ मिट्ठू बनना हो तो – ‘डॉन को पकड़ना मुश्किल ही नहीं, नामुमकिन है।’
- Advertisment -
Shadow
Slider

Most Popular

पीरो एसडीओ और बीडीओ के खिलाफ एनडीए कार्यकर्ताओ ने दिया धरना

आरा।पीरो। पीरो प्रखंड कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन कर रहे भाजपा नेता और बचरी पंचायत अंतर्गत वार्ड संख्या के 2 के ग्रामीणों के साथ पीरो...

नदी में डूबने से छात्र की मौत-कोहराम

पुलिस ने शव का सदर अस्पताल में करवाया पोस्टमार्टम चांदी थाना क्षेत्र के जहनपुर गांव में मंगलवार की दोपहर घटी घटना आरा (मो. वसीम)। भोजपुर जिले...

उदवंतनगर प्रखंड-सह-अंचल कार्यालय के आरटीपीएस काउंटर एक सप्ताह रहेंगें बंद

प्रखण्ड-सह-अंचल कार्यालय खुले रहेगें, लेकिन जनता का प्रवेश एक सप्ताह तक रहेगा वर्जित अंचल कार्यालय में कार्यपालक सहायक के कोरोना से संक्रमित पाए जाने पर...

आरा- संदेश के पूर्व विधायक बिजेन्दर यादव जदयू में हुये शामिल

पटना। तीस वर्षों तक राजद को सींचने वाले भोजपुर जिला (आरा) संदेश के पूर्व विधायक बिजेन्दर यादव जदयू में शामिल हो गये।जदयू के राष्ट्रीय...