Tuesday, February 7, 2023
No menu items!
HomeNewsCrimeफाइनेंस कर्मियों के लूटे गये सामान के साथ चार अपराधी गिरफ्तार

फाइनेंस कर्मियों के लूटे गये सामान के साथ चार अपराधी गिरफ्तार

Charpokhari Bhojpur Loot News – Disclosure of loot from finance personnel

  • तकनीकी और लोकल इनपुट के आधार पर विभिन्न गांवों से पकड़े गये चारों लुटेरे
  • छीना गया टैब, मोबाइल, दो हजार रुपए, लूट में इस्तेमाल बाइक और दस गोली जब्त
  • गिरफ्तार अपराधियों से लूट की कुछ अन्य घटनाओं का खुलासा होने की उम्मीद

खबरे आपकी बिहार/आरा: Charpokhari Bhojpur Loot News भोजपुर के चरपोखरी थाना क्षेत्र में एक साथ दो फाइनेंस कर्मियों से लूट का खुलासा हो गया। इस मामले में चार लुटेरों को गिरफ्तार किया गया है। छीना गया सामान, लूट में इस्तेमाल बाइक और दस गोलियां भी बरामद की गयी है।

गिरफ्तार अपराधियों में चरपोखरी थाना क्षेत्र के मालिकपुर गांव निवासी पवन कुमार, चांदी गांव निवासी रंजन कुमार यादव उर्फ बउआ, इंद्रजीत कुमार उर्फ बुधन पासवान और बैदेकोरी गांव निवासी अजय पासवान शामिल हैं। इनमें अजय बाइक मैकेनिक बताया जा रहा है।

इनके पास से लूटा गया वन प्लस का एक मोबाइल, लेनेवो कंपनी का एक टैब, छीना गये रुपए में से दो हजार नगद, बैग, लूट में इस्तेमाल बाइक और तीन अन्य एंड्रॉयड मोबाइल भी बरामद किया गया है। चारों अपराधियों ने लूट में शामिल होने की बात भी स्वीकार कर ली है।

एसपी प्रमोद कुमार ने बुधवार को प्रेस कांफ्रेंस में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 30 दिसंबर को हुई लूट की घटना के बाद अपराधियों की गिरफ्तारी को पीरो एसडीपीओ राहुल सिंह के नेतृत्व में टीम गठित कर छापेमारी की जा रही थी। इस दौरान तकनीकी जांच और लोकल इनपुट के आधार पर घटना में चारों अपराधियों की पहचान की गयी। उसके बाद चारों को अलग-अलग जगहों से गिरफ्तार कर लिया गया।

एसपी ने लूटकांड का खुलासा और गिरफ्तारी को अहम सफलता बताते हुए टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा भी की है। टीम में चरपोखरी थानाध्यक्ष निकुंज भूषण, दारोगा हरि प्रसाद शर्मा और राजाराम प्रसाद भी शामिल थे।

Charpokhari Bhojpur Loot News: तीन बदमाशों ने की थी लूट, एक ने किया था लाइनर का काम

पुलिस के हत्थे चढ़े बदमाशों में तीन लूटपाट में शामिल थे। जबकि एक ने लाइनर का काम किया था। पुलिस की पूछताछ में यह बात सामने आयी है। घटना को अंजाम देने के बाद सभी चरपोखरी की ओर भाग थे। वहां लूटे गये पैसे से खरीदारी भी की गयी थी।

सूत्रों के अनुसार बैदेकोरी गांव निवासी अजय पासवान द्वारा लाइनर का काम किया गया था। जबकि पवन, रंजन और इंद्रजीत ने दोनों कर्मियों से लूटपाट की थी। अजय बाइक मैकेनिक भी बताया जा रहा है। उसकी चरपोखरी बाजार में दुकान में थी।

बता दें कि पीरो बाजार में उत्कर्ष फाइनेंस और एक क्रेडिट नेटवर्क कंपनी में काम करने वाले रोहतास निवासी लोरिक कुमार एवं बक्सर के राकेश कुमार यादव गत 30 दिसंबर की शाम करीब तीन बजे कलेक्शन कर लौट रहे थे। तभी चरपोखरी थाना क्षेत्र के बरनी हाई स्कूल के पास बाइक सवार अपराधियों ने हथियार का भय दिखा कर लोरिक कुमार से 20, 465 रुपए छीन लिया था। उसके साथ हाथापाई भी की गयी थी।

उसके कुछ देर बाद ही राकेश कुमार यादव को भी हथियार के बल पर रोक दिया गया। उससे एक टैब, वन प्लस का एक मोबाइल, बैग और करीब 29 हजार रुपए छीन लिया गया था। उस मामले में लोरिक कुमार के बयान पर प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी।

सीसीटीवी फुटेज के आधार पर लूट की अन्य घटनाओं में अपराधियों की संलिप्तता

चरपोखरी मामले में गिरफ्तार अपराधियों के जरिए पुलिस लूट की अन्य घटनाओं का खुलासा करने के प्रयास में जुटी है। पुलिस को चारों की गिरफ्तारी से चौरी सहित लूट की अन्य घटनाओं में कुछ क्लू भी हाथ लगा है। पुलिस के अनुसार सीसीटीवी फुटेज के आधार पर गिरफ्तार चार अपराधियों में कुछ की दूसरी वारदात में भी संलिप्तता आ रही है।

सूत्रों के अनुसार दो अपराधियों की एक जनवरी को चौरी थाना क्षेत्र में जूता व्यवसायी से लूट में शामिल होने के साक्ष्य मिले हैं। उस आधार पर छानबीन की जा रही है।

एसपी प्रमोद कुमार ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि सीसीटीवी फुटेज के आधार पर इन अपराधियों के अन्य घटनाओं में भी शामिल होने की बात सामने आ रही है। उसकी जांच की जा रही है। संलिप्तता साबित होने पर उन मामलों में भी इन लुटेरों को रिमांड किया जायेगा।

लूट के पैसों से अपराधियों ने मनायी न्यू ईयर पार्टी, खरीदा स्वेटर और जैकेट

अपराधियों ने लूट के पैसे से न्यू ईयर पार्टी मनायी। स्वेटर और जैकेट की भी खरीदारी की। ऐसे में लूट के ज्यादातर पैसे खर्च हो चुके थे। सिर्फ दो हजार रुपए ही बचे थे, जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया। पुलिस की पूछताछ में भी यह बात सामने आयी है।

सूत्रों के मुताबिक लूट के बाद बदमाश चरपोखरी बाजार पहुचे थे। वहां पर सभी ने अपने लिए स्वेटर, जैकेट और शराब की खरीदारी की। उसके बाद न्यू ईयर पार्टी भी मनायी।‌ बता दें कि लूट के दो दिन बाद ही ही नये साल की शुरुआत हो रही थी। ऐसे में लुटेरों ने उसी पैसे से न्यू ईयर इंज्वॉय किया।

MD WASIM
MD WASIM
Journalist
- Advertisment -
khabreapki
खबरे आपकी
khabreapki-youtube
khabreapki-youtube

Most Popular