Tuesday, February 7, 2023
No menu items!
Homeअन्यचर्चित खबरआरा जेल से फोन आने के बाद शूटर ने चेयरमैन पति को...

आरा जेल से फोन आने के बाद शूटर ने चेयरमैन पति को मारी गोली

Conspiracy of Mantu Sonar murder:खबरे आपकी

खबरे आपकी आरा: भोजपुर जिले के शाहपुर नगर पंचायत के निवर्तमान चेयरमैन पति मंटू सोनार की हत्या नगर निकाय चुनाव को लेकर कर दी गई। हत्या की प्लानिंग आरा मंडल कारा में बंद अपराधियों जेल से ही की और शूटर को 6 लाख में सुपारी दी। कई दिनों तक जेल से ही रेकी करते रहे और फिर जेल से ही फोन कर चेयरमैन पति के मर्डर का ऑर्डर दिया। उसके बाद शूटर ने चेयरमैन पति के घर में घुस कर 5 गोली मारकर हत्या कर दी। इस हत्याकांड मामले में पुलिस ने शूटर मनीष कुमार उर्फ तिवारी यादव को गिरफ्तार किया है।

दरअसल, 28 नवंबर को भोजपुर के शाहपुर थाना क्षेत्र के शाहपुर बाजार के पास निवर्तमान मुख्य पार्षद जुगनू देवी के पति सह वार्ड पार्षद मंटू सोनार की हत्या कर दी थी। पुलिस ने मामले का खुलासा किया है। मामला का CCTV फुटेज भी सामने आया था।

काफी देरी तक की रेकी, जेल से फोन आने के बाद शूटर ने मारी गोली

भोजपुर एसपी संजय कुमार ने बताया कि 28 नवंबर को तकरीबन 2 बजे एक पल्सर बाइक पर दो की संख्या में हथियारबंद अपराधियों ने मंटू सोनार के घर के आगे काफी देरी तक रेकी की। उसके बाद पीले रंग की टीशर्ट पहने तिवारी यादव पहले घर के आगे एक झोपड़ीनुमा होटल के आगे कुर्सी पर बैठा। उसके बाद मोबाइल पर जेल से फोन आते ही तिवारी ने मंटू सोनार को चार सेकेंड में पांच गोली मारकर हत्या कर दी। एसपी ने बताया की हत्या से पहले मंटू सोनार अपने घर से कुछ देर के लिए बाहर आए थे। वहां पहले से कुछ लोग उनकी रेकी कर जेल में बंद अपराधियों को सूचना दे रहे थे।

Conspiracy of Mantu Sonar murder: हत्या के बाद जेल में हुई थी छापेमारी

एसपी ने बताया की हत्या के बाद पुलिस को एक सुराग मिली थी, जिसके बाद जेल में छापेमारी की गई। छापेमारी के दौरान भारी मात्रा में मोबाइल बरामद किया गया था। हत्या के साजिश रचने वाले जेल में बंद चार लोगों को चिन्हित कर लिया गया। साथ ही हत्या में शामिल अन्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

गिरफ्तार अपराधी गड़हनी थाना क्षेत्र के एकौना गांव निवासी जनार्दन यादव का पुत्र है। तिवारी यादव पर जिले के अलग–अलग थाना में हत्या, हत्या का प्रयास, आर्म्स एक्ट, एन.डी.पी.एस एक्ट समेत कई मामलों में वांछित है।

चार सेकेंड में मंटू सोनार को मारी थी पांच गोली

पुलिस अधीक्षक संजय कुमार सिंह ने बताया कि 28 नवंबर की दोहपर पेशेवर अपराधियों ने मंटू सोनार की गोलीमार हत्या कर दी थी। जिसके बाद शाहपुर थाना में 61/22,धारा 302/307/34 आईपीसी एवं 27 आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया। प्राथमिकी के बाद एक विशेष टीम का गठन किया गया। टीम ने अपराधियों को चिन्हित किया, जिसके बाद पीरो थाना अंतर्गत से गिरफ्तार किया गया। एसपी ने बताया कि गिरफ्तार अपराधी ने मंटू सोनार को चार सेकेंड में तीन गोली उनके शरीर पर और दो हवाई फायरिंग की थी। पिस्टल की खासियत है कि चंद सेकेंड में कई राउंड की फायरिंग की जा सकती है।

आरा मंडल कारा में रचा षड्यंत्र, छह लाख की दी गई थी सुपारी

Conspiracy of Mantu Sonar murder एसपी संजय कुमार ने बताया कि मंटू सोनार की हत्या के पीछे पूर्व से चली आ रही चुनावी विवाद और वर्तमान में हो रहे नगर निकाय चुनाव से संबंधित है। पूर्व के विवाद के बाद आरा मंडल कारा में बंद अपराधियों ने कई महीने पहले की हत्या का षड्यंत्र रच लिया था। हत्या के लिए शूटर को छह लाख की सुपारी दी गई थी, जिसमें गिरफ्तार अपराधी को पहले तीन लाख रुपए दे दिए गए थे।

बता दें 8 सितंबर 2022 को शाहपुर बाजार के समीप हथियारबंद अपराधियों द्वारा पूर्व मुख्य वार्ड पार्षद सह निवर्तमान चेयरमैन पति को गोली मारी गई थी। उन्हें काफी करीब से दो गोली मारी गई थी। जिसमें एक बोली बाएं हाथ में एवं दूसरी गोली कंठ के पास लगी थी। लेकिन किस्मत से उनकी जान बच गई थी।

हमले के बाद उन्होंने शाहपुर नप के पूर्व मुख्यपार्षद बबीता देवी के पति कृष्ण कुमार, अर्जुन धानुक, शनि कुमार, विद्यासागर गुप्ता, जेल में बंद ऋषभ कुमार, गुलशन कुमार, संजय कुमार गुप्ता, अजय गुप्ता, निक्की सिंह,दीपक धानुक, आशा देवी, बिनोद धानुक तथा किरण देवी को नामजद किया था।

नामजद आरोपियों में से दीपक धानुक, बिनोद धानुक तथा ऋषभ सोनार फिलहाल आरा मंडल कारागार में बंद है।दर्ज प्राथमिकी के अनुसार जेल में बंद आरोपियों ने हत्या का साजिश जेल में रची। अपराधी के पास ऑटोमेटिक पिस्टल था, जो एक बार में लगातार 8-9 राउंड गोली चलती है।

- Advertisment -
khabreapki
खबरे आपकी
khabreapki-youtube
khabreapki-youtube

Most Popular